DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   करियर  ›  नवोदय और केंद्रीय विद्यालय के सत्र पर कोरोना की मार

करियरनवोदय और केंद्रीय विद्यालय के सत्र पर कोरोना की मार

वरीय संवाददाता,पटनाPublished By: Pankaj Vijay
Tue, 01 Jun 2021 11:46 AM
नवोदय और केंद्रीय विद्यालय के सत्र पर कोरोना की मार

कोरोना संक्रमण का असर फिर इस बार नवोदय विद्यालय और केंद्रीय विद्यालय में दिखने लगा है। नवोदय विद्यालय में नामांकन के लिए प्रवेश परीक्षा के इंतजार जहां 50 हजार से अधिक बच्चे कर रहे हैं। वहीं केंद्रीय विद्यालय में तो नामांकन फॉर्म जमा करने के लिए 30 हजार से अधिक अभिभावक इंतजार कर रहे हैं। यह स्थिति केवल केवी और नवोदय विद्यालयों की नहीं है, बल्कि आवासीय विद्यालय में भी अभी तक नामांकन प्रक्रिया पूरी नहीं हो पायी है। 

ज्ञात हो कि कोरोना संक्रमण के कारण स्कूल अचानक अप्रैल में बंद हो गए। इससे शैक्षणिक सारी गतिविधियां बंद कर दी गईं। सिमुलतला आवासीय विद्यालय जमुई की बात करें तो प्रारंभिक परीक्षा तो समय से हो गई। इसके बाद मार्च में मुख्य परीक्षा भी संपन्न हो गई, लेकिन इसका रिजल्ट जारी नहीं हो पाया। मुख्य परीक्षा का रिजल्ट जारी होने के बाद नामांकन होगा। वहीं सैनिक स्कूल की बात करें तो ऑनलाइन नामांकन प्रक्रिया चल रही है। लेकिन यहां पर भी सत्र शुरू नहीं हो पाया है। कोरोना संक्रमण के कारण दो साल से केवी और नवोदय विद्यालय का सत्र लेट से शुरू हो रहा है। केंद्रीय विद्यालय समिति के कमिश्नर कुमार अरुण ने बताया कि एक मार्च से कक्षा छठी के लिए ऑनलाइन आवेदन शुरू किया गया था लेकिन फॉर्म जमा करने के समय कोरोना संक्रमण काफी बढ़ गया। इसके बाद नामांकन प्रक्रिया स्थगित कर दी गई। वहीं नवोदय विद्यालय समिति की बात करें तो 2020-21 के सत्र में देरी होने से 2021-22 में देरी से आवेदन लिये गये। इससे इस बार परीक्षा में देरी हुई। वैसे सामान्यतया फरवरी में प्रवेश परीक्षा होती है। लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के कारण अभी तक नहीं हो पाई है। 

कक्षा 6 में होता है नामांकन
सभी आवासीय विद्यालय में कक्षा 6 में नामांकन होता है। पूरे बिहार में 38 नवोदय विद्यालय हैं। इनमें खगड़िया में 40 और बाकी विद्यालय में 80-80 सीटों पर नामांकन होता है। इसमें हर साल हजारों की संख्या में बच्चे आवेदन करते है। यही स्थिति सैनिक स्कूल और सिमुलतला आवासीय विद्यालय की हैं। 

राजीव रंजन (प्राचार्य, सिमुलतला आवासीय विद्यालय) ने कहा, मुख्य परीक्षा का रिजल्ट जारी नहीं हुआ है। मुख्य परीक्षा का रिजल्ट जारी होने के बाद मेडिकल होगा। इसके बाद नामांकन लिया जायेगा। 

एचएस ठाकुर (प्राचार्य, नवोदय विद्यालय) ने कहा, फरवरी में प्रवेश परीक्षा ली जाती है। लेकिन इस बार सत्र लेट था। अप्रैल में फिर कोरोना के कारण सब कुछ बंद हो गया। प्रवेश परीक्षा अभी तक नहीं हुई है। 

संबंधित खबरें