ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरIPU : आईपीयू में साल में दो बार होंगे यूजी और पीजी कोर्स में एडमिशन, UGC की अनुमति के बाद फैसला

IPU : आईपीयू में साल में दो बार होंगे यूजी और पीजी कोर्स में एडमिशन, UGC की अनुमति के बाद फैसला

यूजीसी की ओर से अनुमति मिलने के बाद अब गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय में अगले वर्ष से स्नातक व पीजी पाठ्यक्रमों में दाखिले की प्रक्रिया एक वर्ष में दो बार आयोजित होगी।

IPU : आईपीयू में साल में दो बार होंगे यूजी और पीजी कोर्स में एडमिशन, UGC की अनुमति के बाद फैसला
Pankaj Vijayवरिष्ठ संवाददाता,नई दिल्लीThu, 20 Jun 2024 07:32 AM
ऐप पर पढ़ें

गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय (जीजीएसआईपीयू) में अगले वर्ष से स्नातक व पीजी पाठ्यक्रमों में दाखिले की प्रक्रिया एक वर्ष में दो बार आयोजित होगी। आईपीयू की 58वें अकादमिक परिषद (एसी) की बैठक में बुधवार को इस पर फैसला हुआ। शैक्षणिक सत्र 2025-26 से स्नातक व पीजी पाठ्यक्रमों में जुलाई व अगस्त और जनवरी व फरवरी में दाखिला प्रक्रिया सुनिश्चित की जाएगी। विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्रों के हितों में निर्णय लेते हुए प्रवेश प्रक्रिया को सरल बनाया है। जिससे छात्रों को कम समय में पाठ्यक्रमों में प्रवेश मिल सके। 

सिंगल गल चाइल्ड मिलेगा प्रवेश
आईपीयू ने बैठक में सिंगल गर्ल चाइल्ड के लिए भी स्नातक व पीजी पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए एक सीट निर्धारित करने का फैसला लिया है। साथ ही अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद से बातचीत के बाद कंप्यूटर साइंस व अप्लाइड मैथ्स में बीटेक पाठ्यक्रम को भी शुरू करने पर निर्णय लिया गया है।

डीयू सीट आवंटन 22 जून से शुरू होंगे
नई दिल्ली, व.सं.। दिल्ली विश्वविद्यालय ने पीजी, बीएलएलबी ऑनर्स, बीबीएलएलबी ऑनर्स और तीन इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए पहले, दूसरे और तीसरे राउंड के सीट आवंटन का शेड्यूल जारी कर दिया है। कंप्यूटर साइंस, इलेक्ट्रो निक्स व कॉम्युनिकेशन और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग जैसे कोर्स में प्रवेश के लिए सीट आवंटन होगी। इन सभी पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए 22 जून से पहला राउंड शुरू होगा। इन पाठ्यक्रम में छात्र डीयू के सामान्य सीट आवंटन प्रणाली (सीएसएएस) के जरिए दाखिला प्राप्त कर सकेंगे। इसके बाद दूसरा राउंड 2 जुलाई को शुरू होगा। दोनों राउंड छात्रों को आवंटित की गई सीट को स्वीकार करने का समय दिया जाएगा और इसे बाद उन्हें पाठ्यक्रमों के विभाग से दाखिले को सुनिश्चित करना होगा। दोनों राउंड खत्म होने के बाद सिर्फ पीजी और इंजीनियरिंग कोर्स के छात्रों को फिर से दाखिले के लिए मिड एंट्री विंडो दी जाएगी।

Virtual Counsellor