ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरइस लड़की ने IPS बनने के लिए छोड़ी थी 16 सरकारी नौकरियां, पहले अटेम्प्ट में पास किया था UPSC

इस लड़की ने IPS बनने के लिए छोड़ी थी 16 सरकारी नौकरियां, पहले अटेम्प्ट में पास किया था UPSC

आज हम आपको ऐसी लड़की के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने यूपीएससी परीक्षा पास करने से पहले 16 सरकारी नौकरियों को ठुकरा दिया और IPS अधिकारी बनीं। बता दें, तृप्ति भट्ट भारत के मिसाइल मैन से बेहद प

इस लड़की ने IPS बनने के लिए छोड़ी थी 16 सरकारी नौकरियां, पहले अटेम्प्ट में पास किया था UPSC
Priyanka Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 16 Jan 2024 10:03 PM
ऐप पर पढ़ें

UPSC Success Story 2024: जो उम्मीदवार देश की सेवा करने का भाव अपने मन में रखते हैं, उनके लिए एक पब्लिक सर्वेंट खासकर IAS, IPS और IFS अधिकारी बनना सपना होता है। इन पदों  को हासिल करने के लिए उम्मीदवार हाई सैलरी वाली नौकरी को भी छोड़ देते हैं। ऐसे में आज हम आपको एक ऐसी IPS अधिकारी के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने यूपीएससी परीक्षा पास करने से पहले 16 सरकारी नौकरियों को ठुकरा दिया था। आइए जानते हैं उनके बारे में।

उत्तराखंड के अल्मोड़ा की रहने वाली हैं तृप्ति भट्ट वर्तमान में एक सफल IPS अधिकारी हैं। वह एक ऐसे परिवार में पली बढ़ी है, जहां ज्यादातर सदस्य शिक्षक हैं।  वह चार भाई-बहनों में सबसे बड़ी हैं। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा बेर्शेबा स्कूल से की और 12वीं कक्षा की पढ़ाई के लिए केंद्रीय विद्यालय में दाखिला लिया। कक्षा 12वीं की पढ़ाई पूरी होने के बाद उन्होंने पंतनगर विश्वविद्यालय से बीटेक की डिग्री ली।  ग्रेजुएशन की बाद तृप्ति को नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन (NTPC) में असिस्टेंट मैनेजर के रूप में काम कर चुकी हैं। जब वह कक्षा 9वीं थी उस समय उन्हें भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम से मिलने का मौका मिला था। उस समय तृप्ति भट्ट को उनसे हैंड रिटेन लेटर दिया था। जिससे वह काफी प्रेरित हुई थी।

बता दें, यूपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल करने से पहले उन्होंने 16 सरकारी नौकरी के प्रस्तावों को ठुकरा दिया था। बता दें, उन्हें भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) की ओर से भी नौकरी का ऑफर मिला था।

पहले प्रयास में पास की थी UPSC की परीक्षा

तृप्ति भट्ट पढ़ाई में शुरू से ही काफी होशियार थी। यूपीएससी की परीक्षा के लिए उन्होंने दिन रात एक कर दिए थे। बता दें, UPSC CSE 2013 में उन्होंने पहले प्रयास में 165वीं रैंक हासिल करते हुए IPS के पद के लिए चुनी गई थी।  उनके पद के लिए उन्हें अपना होम कैडर अलॉट किया गया था। जहां उन्हें देहरादून में पुलिस अधीक्षक (एसपी) का पद मिला था। उसके बाद, उन्होंने चमोली में एसपी, फिर टिहरी गढ़वाल में राज्य आपदा प्रतिक्रिया कोष (एसडीआरएफ) कमांडर के रूप में कार्यभार संभाला। वर्तमान में, वह देहरादून एसपी इंटेलिजेंस एंड सिक्योरिटी के पद पर तैनात हैं।

 

Virtual Counsellor