ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरइंडियन आर्मी में लेफ्टिनेंट, कैप्टन समेत यहां जानें रैंक के आधार पर सैलरी के बारे में, देखें पूरा स्ट्रक्चर

इंडियन आर्मी में लेफ्टिनेंट, कैप्टन समेत यहां जानें रैंक के आधार पर सैलरी के बारे में, देखें पूरा स्ट्रक्चर

भारतीय सेना में रैंक के आधार पर सैलरी दी जाती है। अगर आप किसी प्रतियोगी परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं तो अक्सर सेना की सैलरी के बारे में प्रश्न पूछे जा सकते हैं। आइए यहां विस्तार से जानते हैं भार

इंडियन आर्मी में लेफ्टिनेंट, कैप्टन समेत यहां जानें रैंक के आधार पर सैलरी के बारे में, देखें पूरा स्ट्रक्चर
Priyanka Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 09 Dec 2023 12:17 PM
ऐप पर पढ़ें

भारतीय सेना में शामिल होना काफी गर्व की बात है। अगर आज हम अपने घरों में सुरक्षित महसूस कर रहे हैं तो इनका पूरा श्रेय भारतीय सेना के जवानों को जाता है। आज हम जानेंगे की भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट से चीफ तक कितनी सैलरी दी जाती है और क्या है सैलरी स्ट्रक्चर।

सबसे पहले बता दें, भारतीय सेना के कर्मियों की सैलरी उनके रैंक के अनुसार तय की जाती है। सैलरी के साथ विभिन्न प्रकार के बेनिफिट्स और सुविधाएं दी जाती है। वहीं 7वें वेतन आयोग की शुरूआत ने भारतीय सेना में जवानों को मिलने वाली सैलरी के प्रोसेस को और सरल बना दिया है। इसी के साथ 7वें वेतन आयोग आने के बाद विभिन्न लेवल पर भारतीय सेना में शामिल विभिन्न अधिकारियों की सैलरी की रिवाइज्ड भी किया गया है। यहां देखें सैली स्ट्रक्चर।

लेफ्टिनेंट

लेफ्टिनेंट पद पर 10वें वेतन आयोग के तहत सैलरी दी जाती है। जिसमें बेसिक सैलरी  56,100 रुपये से 1,77,500 रुपये तक है। ये बिना किसी अलाउंस के है।

कैप्टन

10वें वेतन आयोग के तहत अलाउंस को छोड़कर 61,300 रुपये से 1,93,900 रुपये के बीच सैलरी दी जाती है।  

लेफ्टेनंट कर्नल

लेफ्टिनेंट कर्नल को वेतन स्तर 12ए के आधार पर सैलरी दी जाती है।  जिसमें बिना अलाउंस के न्यूनतम सैलरी 1,21,200 रुपये से 2,12,400 रुपये तक है।

कर्नल

वेतन स्तर 13वें के आधार पर कर्नल पद पर सैलरी दी जाती है। अलाउंस को छोड़कर 1,30,600 रुपये से 2,15,900 रुपये तक की सैलरी दी जाती है।

ब्रिगेडियर

वेतन स्तर 13ए के आधार पर ब्रिगेडियर को बिना अलाउंस के न्यूनतम वेतन 1,39,600 रुपये से 2,17,600 रुपये तक मिलता है।

मेजर जनरल

मेजर जनरल वेतन स्तर 14 के अंतर्गत आता है, जिसमें अलाउंस के बिना न्यूनतम भुगतान 1,44,200 रुपये से 2,18,200 रुपये तक की सैलरी दी जाती है।

लेफ्टिनेंट जनरल एचएजी स्केल

लेफ्टिनेंट जनरल एचएजी स्केल को सैलरी वेतन स्तर 15वें के आधार पर दी जाती है, जिसमें बिना अलाउंस के न्यूनतम वेतन 1,82,200 रुपये से 2,24,100 रुपये तक दिया जाता है

लेफ्टिनेंट जनरल एचएजी + स्केल

लेफ्टिनेंट जनरल एचएजी +स्केल, वेतन स्तर 16 पर सैलरी दी जाती हैं, जिसमें बिना अलाउंस के न्यूनतम वेतन 2,05,400 रुपये से शुरू होकर 2,24,400 रुपये तक है।

VCOAS /सेना कमांडर/लेफ्टिनेंट जनरल  (NEGS)

VCOAS/सेना कमांडर/लेफ्टिनेंट जनरल (एनईजीएस) वेतन स्तर 17 पर हैं, जिसमें बिना अलाउंस के एक निश्चित वेतन 2,25,000 रुपये निर्धारित है।

आर्मी चीफ स्टाफ

वेतन मैट्रिक्स में वेतन स्तर 18 पर तैनात आर्मी चीफ स्टाफ  को बिना अलाउंस के एक निश्चित वेतन मिलता है, जो 2,50,000 रुपये निर्धारित है।

UPSC NDA पास करने के बाद इतनी होती है बेसिक सैलरी, देखें पूरा स्ट्रक्चर

नेशनल डिफेंस अकेडमी और नेवल अकेडमी (NDA NA) परीक्षा के माध्यम से भारतीय सेना, नौसेना और वायु सेना में शामिल होने के लिए एनडीए परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को एक अच्छी सैलरी और बढ़िया अलाउंस दिया जाता है। बता दें, 10वें वेतन आयोग तहत एनडीए अच्छी खासी सैलरी दी जाती है, प्रमोशन के बाद सैलरी में बढ़ातरी होती रहती है।

जिन उम्मीदवारों का सिलेक्शन हुआ है, उनकी ट्रेनिंग होती है। जिसके बाद उन्हें उनके संबंधित विंग अकादमियों में भेज दिया जाता है। बता दें, ट्रेनिंग के दौरान एनडीए में शामिल होने वाले उम्मीदवारों को 56,100 रुपये हर महीने दिए जाते हैं।

फिर कोर्स पूरा होने के बाद एनडीए में शामिल होने वाले उम्मीदवारों को लेफ्टिनेंट के पद पर नियुक्त किया जाता है। जिसके बाद लेवल 10 के तहत उनका प्रारंभिक सैलरी 56,100 रुपये से 1,77,500 रुपये तक होगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें