ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरIndependence Day Speech 2023 : 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर दें यह छोटा और सरल भाषण

Independence Day Speech 2023 : 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर दें यह छोटा और सरल भाषण

Independence Day Speech: स्वतंत्रता दिवस के नजदीक आने पर अकसर शिक्षकों द्वारा छात्रों को भाषण या निबंध तैयार करने के लिए कहा जाता है। यहां से आइडिया लेकर 15 अगस्त पर भाषण तैयार कर सकते हैं। 

Independence Day Speech 2023 : 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर दें यह छोटा और सरल भाषण
Pankaj Vijayलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 15 Aug 2023 05:53 AM
ऐप पर पढ़ें

Independence Day Speech 2023 : 15 अगस्त के दिन भारत अपना 77वां स्वतंत्रता दिवस मनाने जा रहा है। देश को आजादी मिले 76 बरस पूरे गए हैं। यह दिन भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों के सदियों के संघर्ष, बलिदान और दृढ़ संकल्प का प्रतीक है, जिन्होंने देश की आजादी के लिए अथक प्रयास किए। 15 अगस्त ही वह दिन है जब देश को अंग्रेजों की 200 सालों की गुलामी की बेड़ियों से मुक्ति मिली थी। 15 अगस्त का शुभ दिन भारत के रीजनीतिक इतिहास में सबसे ज्यादा अहमियत रखता है। स्वतंत्रता दिवस पर स्कूलों, सरकारी और निजी कार्यालयों में  स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि दी जाती है और तिरंगा झंडा फहराया जाता है। स्वतंत्रता दिवस के नजदीक आने पर अकसर शिक्षकों द्वारा छात्रों को भाषण या निबंध ( 15 august speech in hindi ) तैयार करने के लिए कहा जाता है। ऐसे में आजकल स्कूलों के लाखों बच्चे 15 अगस्त पर भाषण की तैयारी में जुटे होंगे। यहां से आइडिया लेकर आप स्कूली छात्रों के लिए 15 अगस्त पर भाषण तैयार कर सकते हैं। 

स्वतंत्रता दिवस पर भाषण का उदाहरण ( Independence Day Speech In Hindi )

आदरणीय प्राधानाचार्य ,शिक्षकगण, यहां उपस्थित सभी अतिथि महोदय और मेरे सभी प्यारे मित्रों... 
सबसे पहले मैं आप सबको 77वें स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं। आज हम यहां देश का 77वां स्वतंत्रता दिवस मनाने के जुटे हैं। पूरा देश आजादी की सालगिरह के जश्न में डूबा है। इस वर्ष भारत सरकार  'राष्ट्र पहले, हमेशा पहले' थीम के तहत स्वतंत्रता दिवस मना रही है। इस ऐतिहासिक मौके पर सरकार कई तरह के कार्यक्रमों की श्रृंखला आयोजित करेगी जिसमें स्वतंत्रता आंदोलन के संघर्ष की झलक और उसकी भावना दिखाई देगी। 

साथियों , 15 अगस्त, 1947 ! यह वो दिन है जब हमारे देश को अंग्रेजों की 200 साल की गुलामी से आजादी मिली थी। ब्रिटिश राज में देश की जनता पर काफी अत्याचार किए गए। ब्रिटिश हुकूमत के जुल्मों से देश की जनता को छुटकारा दिलाने के लिए सैंकड़ों स्वतंत्रता सेनानियों ने अपने प्राणों की आहुति दे दी। ऐसे में यह दिन उन महान क्रांतिकारियों और स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदान को याद करने का भी है जिन्होंने देश को आजादी दिलाने के लिए अपना सब कुछ दांव पर लगा दिया। देश को आजाद कराने में महात्मा गांधी, सुभाष चंद्र बोस, भगत सिंह, मंगल पाण्डे, ,राजगुरु, सुखदेव, जवाहरलाल नेहरु, लाला लाजपत राय, बाल गंगाधर तिलक जैसे कई क्रांतिकारियों और स्वतंत्रता सेनानियों का अहम योगदान रहा। यह दिन इन सभी क्रांतिकारियों और स्वतंत्रता सेनानियों को नमन करने और श्रद्धांजलि देने का दिन है। 

वैसे तो आज के दिन देश का हर क्षेत्र राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे से भरा दिखता है लेकिन राष्ट्रीय स्तर पर मुख्य कार्यक्रम दिल्ली के लाल किले पर होता है। स्वतंत्रता दिवस पर देश के प्रधानमंत्री लाल किले की प्राचीर से जनता का अभिवादन स्वीकार करते हैं और राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराते है। 31 तोपों की सलामी दी जाती है। 
इसके बाद वह देश को संबोधित करते हैं। प्रधानमंत्री के भाषण को सुनने के लिए सुबह से ही लाल किले पर लोग पहुंचना शुरू कर देते हैं। प्रधानमंत्री अपने भाषणा में भावी योजनाओं के बारे में बताते हैं और देश की उपलब्धियों का भी जिक्र करते हैं।

कार्यक्रम में सेनाओं की टुकड़ियां प्रधानमंत्री को सलामी देती हैं। सेना के बैंडों की धुन सुनने लायक होती है और मन को मोह लेती है। 

साथियों! 15 अगस्त हर साल आता है और हमारे दिलोदिमाग में 'हम स्वतंत्र हैं और स्वतंत्र रहेंगे' का भाव जागृत कर चला जता है। यह सबसे बड़ा राष्ट्रीय पर्व राष्ट्र और राष्ट्रीयता की हलचल पैदा कर जाता है। वर्ष में राष्ट्र ने क्या खोया और क्या पाया का हिसाब बता जाता है। भारतमाता और भारत की स्वतंत्र सत्ता के लिए कर्तव्य का भाव जगा जाता है। 

आइए हम राष्ट्र ध्वज को नमन करें। राष्ट्र के कल्याण के प्रति अपने संकल्प को दोहराएं। देश के विकास व सुरक्षा और देशवासियों के कल्याण के प्रति हमेशा समर्पित रहने की प्रतिज्ञा लें। 

अब मैं अपने भाषण का समापन करना चाहूंगा। एक बार फिर से आप सभी को हैप्पी इंडिपेंडेंस डे। 
इस मौके पर चंद पंक्तियां कहना चाहूंगा - 
उन्नति पथ पर चक्र अनवरत, चलता हुआ न ठहरे |
फर-फर करता शुभ्र गगन में, सदा तिरंगा लहरे ||
जय हिन्द ! जय भारत !

भाषण तैयार करते समय इन बातों का रखें ध्यान ( Independence Day Speech Tips )
- स्वतंत्रता दिवस भाषण ज्यादा लंबा न हो। छोटा और सटीक भाषण ही सबको सुनने में अच्छा लगता है।
- स्वतंत्रता दिवस भाषण में जो तथ्य (फैक्ट्स) आप बोलने वाले उनकी एक बार फिर पुष्टि कर ले। उनमें कोई गलती नहीं होनी चाहिए।
- भाषण देने से पहले उसे कई बार पढ़ लें। इससे आप प्रभावशाली ढंग से बिना हिचकिचाए व अटके भाषण दे पाएंगे।  
- आईने के सामने प्रैक्टिस कर सकते हैं। रिकॉर्डिंग कर कमी निकाल सकते हैं। 
- दर्शको को भाषण के साथ जोड़ें। आंखों से संपर्क रखें।
- एक अच्छा वक्ता बनने के लिए आपका उठना, आपकी चाल और हावभाव भी काफी मायने रखता है। सहजता के साथ अपने स्थान से मंच तक पहुंचें। जब वक्ता का नाम पुकारा जाता है तभी से ही श्रोतागण आपकी ओर अपना ध्यान देने लगते हैं तथा देखने लगते हैं। इसलिए बनावटी चाल बनाने की बजाय सहज रहें। बिना किसी तनाव के बोलें।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें