IIT BHU Technex 20 : meet advanced robots varanasi bhu - IIT BHU Technex 20 : यह रोबोट हाथ मिलाएगा, सिर भी दबाएगा DA Image
17 फरवरी, 2020|2:30|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

IIT BHU Technex 20 : यह रोबोट हाथ मिलाएगा, सिर भी दबाएगा

iit bhu technex 20

एक ऐसा रोबोट जो आपसे हाथ मिलाने, नमस्ते करने के अलावा सिर भी दबा सकता है। इसे देखने का कौतूहल क्यों न हो। ये रोबोट भविष्य में मनुष्य का बेहतर हमकदम बनने के लिए तैयार हो रहे हैं।
आईआईटी बीएचयू के तकनीकी मेला टेक्नेक्स-20 के उद्घाटन मौके पर शुक्रवार को ऐसा ही रोबोट 'इंड्रो' लोगों के आकर्षण का केंद्र बना रहा। स्वतंत्रता भवन, राजपूताना और जिमखाना मैदान मे एकसाथ शुरू हुए इस मेले को देखने न केवल तकनीकी छात्र बल्कि बीएचयू के विभिन्न विषयों में अध्ययन कर रहे छात्र-छात्राएं भी पहुंचे थे। इस खास मेले का उद्घाटन एचसीएल के सह संस्थापक आनंद चौधरी ने किया।

रोबोट इंड्रो में 47 जोड़ हैं। इनकी मदद से यह कई काम कर सकता है। इसको बनाने वाली कंपनी 'रोबोगेयर' के प्रतिनिधि ने बताया कि इस प्रकार के रोबोट का उन स्थानों पर उपयोग किया जा सकता है, जहां मानव को काम करने में खतरा है। ऐसे रोबोट का उपयोग आने वाले दिनों में और बढ़ेगा। रोबोट बनाने की तकनीक में लगातार सुधार हो रहा है। उसे और उपयोगी बनाया जा रहा है।

छात्रों का बनाया ट्रैक्टर रहा आकर्षण का केंद्र
बुद्धा इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलाजी (गोरखपुर) के छात्रों ने 25 हजार रुपए से मिनी ट्रैक्टर का मॉडल तैयार किया है। छात्रों के मुताबिक यह उन किसानों के लिए उपयोगी है, जिनकी जोत कम है। इस ट्रैक्टर से खेत जोतने, बोने और लेवलिंग का का आम आसानी से हो सकता है। गन्ने की खेती के लिए भी उपयोगी है।

डीरेका की 'पुशपुल' तकनीक को भी लोगों ने जाना
डीरेका की ओर भी  लगाए गए स्टाल में ट्रेन में अपनाई जा रही 'पुशपुल' तकनीक की जानकारी दी गई। इस तकनीक के प्रयोग से कपलिंक के टूटने का खतरा नहीं रहता है। डिब्बों में झटके नहीं लगते। इसमें एक इंजन डिब्बे को खींचता है और दूसरा धक्का देता है।

ऐसी घड़ी जो पासवर्ड को रखेगी सुरक्षित
एक ऐसी घड़ी भी दर्शायी गई जो पासवर्ड को सुरक्षित रख सकती है। इसको बनाने वाले छात्र ने बताया कि आज कल लोगों को कई पासवर्ड रखने पड़ते हैं। इन्हें याद रखना मुश्किल है। इस घड़ी में रखे पासवर्ड उपयोग कोई करेगा तो तुरंत अलार्म बजेगा। घड़ी पहनने वाले को पता चल जाएगा। वह वहीं से किसी भी ट्राजेक्शन को ब्लॉक कर सकता है।

छात्रों ने रोबोटिक्स, भूलभुलैया एक्सप्लोरर, पिक्लेट और रोबोवार्स, और एरोमोडेलिंग - ड्रोन-टेक, ला ट्रैजेओयर की तकनीक देखी। लोगों का मनोरंजन भी हुआ। साइबर सिक्योरिटी से जुड़े कई स्टाल लगाए गए थे। एस्ट्रो-क्विज में प्रतिभागियों के ब्रह्मांड के ज्ञान का परीक्षण किया गया। काफी छात्रों ने इसमें भागीदारी की। ऑटो ड्राइविंग तकनीक का भी छात्रों ने प्रदर्शन किया। 'हैकथॉन' भी शुरू हुआ, जो शनिवार को रात्रि आठ बजे तक चलेगा। इसमें भी साइबर सिक्योरिटी सम्बन्धी समस्या पर सॉल्यूशन देना है।
 
अपने सपने पूरे करने के लिए मेहनत करें: आनंद चौधरी
उद्घाटन भाषण में मुख्य अतिथि और एचसीएल के सह संस्थापक आनंद चौधरी ने अपने कॅरियर के अनुभवों के बारे में बात की। उन्होंने छात्रों को अपने सपनों को आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित किया, चाहे वह उद्यमिता में हो या अन्य कोई। उन्होंने कहा कि वे जो भी सपना देखें उसे पूरा करने जी जान से लग जाए। राह में आने वाली बाधाओं से न घबराएं। इससे पहले आईआईटी के निदेशक डॉ. प्रमोद कुमार जैन, डीन ऑफ स्टूडेंट वेलफेयर प्रो. बीएन राय और मुख्य अतिथि ने दीप जलाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। प्रो. वी. रामानाथन ने मुख्य अतिथि का परिचय दिया।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:IIT BHU Technex 20 : meet advanced robots varanasi bhu