ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरबचपन की इस आदत ने क्लियर करवाया UPSC, बिना कोचिंग के इस लड़की की आई थी रैंक 6, पर नहीं चुना IAS का पद

बचपन की इस आदत ने क्लियर करवाया UPSC, बिना कोचिंग के इस लड़की की आई थी रैंक 6, पर नहीं चुना IAS का पद

आज हम आपको ऐसी लड़की के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने बिना कोचिंग के UPSC CSE की परीक्षा पास की और रैंक 6 हासिल किया, लेकिन IAS अधिकारी का पद नहीं चुना। आइए जानते हैं क्या है वजह

बचपन की इस आदत ने क्लियर करवाया UPSC, बिना कोचिंग के इस लड़की की आई थी रैंक 6, पर नहीं चुना IAS का पद
Priyanka Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 26 Feb 2024 07:15 PM
ऐप पर पढ़ें

UPSC Success story: यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (UPSC) की ओर से आयोजित होने वाली सिविल सर्विसेज परीक्षा (CSE) सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक मानी जाती है। इस परीक्षा को पास करने के लिए दिन रात एक पड़ते हैं, तब जाकर फाइल मेरिट लिस्ट में कुछ ही उम्मीदवारों का नाम आता है। आज हम आपको IFS गहाना नव्या जेम्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने UPSC CSE में छठी रैंक हासिल की है। आइए जानते हैं उनके बारे में।

 गहना नव्या जेम्स केरल की निवासी है। उन्होंने यूपीएससी सिविल सर्विसेज परीक्षा 2022 पास करते हुए मेरिट लिस्ट में 6वीं रैंक हासिल की थी। उनका जन्म 1998 में केरल राज्य के कोट्टायम जिले में हुआ था। गहना एन जेम्स के पिता का नाम चिरक्कल जेम्स है, वह एक  कॉलेज प्रोफेसर थे, जो अब रिटायर हो चुके हैं। उनकी मां का नाम दीपा जॉर्ज है, वह एक हाउस वाइफ हैं। गहाना नव्या जेम्स के चाचा सिबी जॉर्ज 1993 बैच के इंडियन फॉरेन सर्विस अधिकारी हैं, और वर्तमान में जापान में भारत के राजदूत हैं। UPSC परीक्षा देने की की प्रेरणा उन्हें अपने चाचा से मिली थी।

उन्होंने अपनी प्राथमिक शिक्षा अपने गृहनगर कोट्टायम में की थी। इसके बाद पब्लिक स्कूल से 10वीं और सेंट मैरी स्कूल से कक्षा 12वीं की पढ़ाई पूरी की। ग्रेजुएशन की डिग्री के लिए उन्होंने अल्फोंसा कॉलेज को चुना था, जहां से इतिहास में ग्रेजुएशन की डिग्री ली, फिर पॉलिटिकल साइंस में मास्टर्स ऑफ आर्ट्स की डिग्री ली । इसके बाद उन्होंने UGC NET/JRF परीक्षा क्लियर की थी।

गहना नव्या जेम्स अपने चाचा की तरह IFS बनना चाहती थी। बता दें, UPSC के डिटेल्ड एप्लीकेशन फॉर्म (DAF) उनकी पहली पसंद IFS थी। हालांकि रिजल्ट घोषित होने के बाद उन्होंने IAS का पद छोड़, IFS को चुना। वर्तमान में वह IFS अधिकारी हैं।

बचपन की इस आदत ने UPSC की तैयारी में की थी मदद

गहना नव्या जेम्स ने यूपीएससी परीक्षा की तैयारी के लिए किसी कोचिंग संस्थान में दाखिला नहीं लिया था। उन्होंने एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि उन्हें बचपन से ही अखबार पढ़ने की आदत थी और  UPSC की तैयारी में उनकी इस आदत ने काफी मदद की। खासतौर पर करंट अफेयर्स को समझने में।

यूपीएससी परीक्षा के तीनों चरणों यानी प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू की तैयारी गहना ने खुद से की थी। अपने पहले प्रयास में गहना यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा भी पास नहीं कर पाईं थी। जिसके बाद उन्होंने दूसरी बार परीक्षा देने का फैसला किया था। अपने दूसरे प्रयास में गहना न सिर्फ यूपीएससी परीक्षा पास की बल्कि ऑल इंडिया में 6वीं रैंक भी हासिल की थी।

ऐसे की थी तैयारी, कोचिंग छोड़ इसलिए चुना था सेल्फ स्टडी

आपको बता दें, गहना ने यूपीएससी परीक्षा में मुख्य परीक्षा के लिए ऑप्शनल विषयों के  रूप में पॉलिटिकल साइंस और इंटरनेशनल रिलेशन का चयन किया था। एक वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में गहना ने अपनी यूपीएससी की तैयारी की रणनीति के बारे में बात करते हुए कहा था, “मुझे विश्वास था कि अगर मैं सेल्फ स्टडी चुनूंगी तो मैं अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए अच्छा प्रदर्शन कर पाऊंगी। तैयारी से पहले मैंने  एक टाइम टेबल तैयार किया था। जिसे फॉलो करते हुए मैंने पढ़ाई की थी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें