DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जब CBSE और CISCE में इंटर कंपार्टमेंट परीक्षा की सुविधा तो फिर UP Board में क्यों नहीं

jac jharkhand board 12th arts result 2019

UP Board : काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआईएससीई) ने इस साल से 10वीं और 12वीं कक्षाओं के लिए कम्पार्टमेंट की सुविधा शुरू कर दी है। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) कई साल से छात्र-छात्राओं को यह सुविधा देता आ रहा है। इसी के साथ यह प्रश्न उठने लगा है कि यूपी बोर्ड इंटरमीडिएट के छात्र-छात्राओं के लिए कम्पार्टमेंट का प्रावधान क्यों नहीं है। यूपी बोर्ड की कॉपियां किस लापरवाही से जांच जाती है यह किसी से छिपा नहीं है। फेल को पास और पास को फेल करने में शिक्षक कोई कसर नहीं छोड़ते।

यूपी बोर्ड हाईस्कूल में तो इम्प्रूवमेंट और कम्पार्टमेंट की सुविधा देता है लेकिन इंटर में कोई प्रावधान नहीं है। ऐसे में इंटर में यदि कोई छात्र एक विषय में फेल होता है तो उसके पास अगले साल तक बोर्ड परीक्षा का इंतजार करने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।

UP board exam 2019: कागजों में चल रहे यूपी बोर्ड के 18 विद्यालय, रद की जाएगी मान्यता

कुछ छात्र स्क्रूटनी के लिए आवेदन करते हैं लेकिन इनकी संख्या बहुत कम होती है। इंटर में कम्पार्टमेंट की जरूरत इसलिए भी महसूस हो रही है क्योंकि बोर्ड ने 2019 की परीक्षा से 12वीं में दो की जगह एक पेपर कर दिया है। पहले एक पेपर खराब हो जाता था तो छात्र-छात्राएं दूसरे पेपर में तैयारी करके संभाल लेते थे। लेकिन इस साल से वह गुंजाइश भी नहीं रह गई है। 

2019 इंटर के परिणाम पर एक नजर
- 2982996 पंजीकृत परीक्षार्थियों की संख्या
- 328504 छात्रों की संख्या में वृद्धि पिछले साल से
- 10.19 प्रतिशत की कमी उत्तीर्ण छात्रों की संख्या में
 
माधव ज्ञान केंद्र इंटर कॉलेज नैनी के प्रधानाचार्य प्रदीप त्रिपाठी का कहना है कि बोर्ड परीक्षा की कॉपियों के मूल्यांकन में लापरवाही से इनकार नहीं किया जा सकता। इसलिए कम्पार्टमेंट की सुविधा देनी चाहिए। इलाहाबाद-झांसी से शिक्षक विधायक सुरेश कुमार त्रिपाठी ने कहा कि इस संबंध में सचिव यूपी बोर्ड और निदेशक माध्यमिक शिक्षा से मुलाकात कर वार्ता करेंगे। छात्रहित को देखते हुए यह सुविधा मिलनी चाहिए। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:if CBSE and CISCE had inter compartment exam provision then why it is not in up board exam