DA Image
11 अगस्त, 2020|1:27|IST

अगली स्टोरी

डिजिटल शिक्षा के दौरान तनाव से निपटने के लिए HRD मंत्रालय ने पेश किया दिशा-निर्देश 'प्राज्ञाता'

students in stress due to online classes

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने डिजिटल शिक्षा के दौरान छात्रों में मानसिक एवं शारीरिक तनाव से निपटने सहित अन्य मुद्दों पर स्कूलों के प्रमुखों, शिक्षकों, अभिभावकों, छात्रों के लिए 'डिजिटल शिक्षा दिशा-निर्देश तैयार किया है। केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

निशंक ने ट्वीट कर कहा, ''स्कूलों के प्रमुखों, शिक्षकों, अभिभावकों, छात्रों के लिए 'डिजिटल शिक्षा दिशा निर्देश 'प्राज्ञाता' पेश कर रहे हैं।

मानव संसाधन विकास मंत्री ने कहा कि इसमें डिजिटल शिक्षा के दौरान मानसिक एवं शारीरिक तनाव से निपटने सहित छात्रों आदि के लिए अन्य मुद्दों पर अनुशंसाएं की गई हैं।

45 मिनट से ज्यादा की न हो ऑनलाइन क्लास-
एचआरडी मंत्रालय ने कहा है कि प्री-प्राइमरी छात्रों के लिए ऑनलाइन कक्षाएं 30 मिनट से अधिक नहीं होनी चाहिए। मंत्रालय के अनुसार पहली कक्षा से 8वीं तक के लिए प्रत्येक 45 मिनट तक के दो ऑनलाइन सेशन और कक्षा 9 से 12वीं के लिए 4 सेशन होंगे।

गौरतलब है कि कोविड-19 महामारी को देखते हुए देश के स्कूलों में अभी डिजिटल माध्यम से पठन-पाठन का कार्य चल रहा है। 
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:HRD Ministry presents guidelines PRAGYATA for dealing with stress during digital education