अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Bihar Board पर हाईकोर्ट ने लगाया 10,000 रुपये का जुर्माना

गलत मूल्यांकन और स्क्रूटनी में लापरवाही पर एक बार फिर पटना हाईकोर्ट ने बिहार बोर्ड पर 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। कोर्ट ने बोर्ड को जुर्माने की राशि छात्र को देने का आदेश दिया। साथ ही बोर्ड को जुर्माने की राशि दोषी कर्मी से वसूलने की छूट दी है। 

न्यायमूर्ति चक्रधारी शरण सिंह की एकलपीठ ने छात्र कुंज बिहारी शर्मा की ओर से दायर अर्जी पर सुनवाई के बाद यह आदेश दिया। 

क्या था मामला
इंटर सायंस के छात्र कुंज बिहारी ने 2017 में परीक्षा दी थी। परीक्षा में कम अंक आने पर कॉपी की स्क्रूटनी करवायी। स्क्रूटनी में अंक में कोई परिवर्तन नहीं हुआ। इसके बाद छात्र ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया। इसके बाद उत्तर पुस्तिका निकाली गयी। जांच में केमेस्ट्री में 19 अंक को बढ़ा कर 25 किया गया। इसी प्रकार अंग्रेजी में भी अंक बढ़ाए गए। पहले छात्र को सेकेंड डिवीज़न मिला था। बाद में छात्र को प्रथम श्रेणी से पास किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:High court imposes fine of Rs 10000 on Bihar Board