DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

HBSE 10th Result 2018: चौकीदार का बेटा बना हरियाणा बोर्ड 10वीं का टॉपर

haryana board class 10 topper

HBSE 10th Result 2018: हरियाणा बोर्ड 10वीं के टॉपर कार्तिक ने यह साबित कर दिया कि अगर मेहनत और जज्बा हो हर बाधा आसानी से पार हो जाती है। कार्तिक के पिता प्रेम सिंह पीडब्ल्यूडी में चौकीदार हैं। कार्तिक की मां शुगर की मरीज थी जिनका पिछले साल निधन हो गया था। गरीबी समेत घर की तमाम दिक्कतों के बावजूद जींद के कार्तिक ने 500 अंकों में से 498 अंक प्राप्त कर सर्वोच्च स्थान प्राप्त किया और अन्य छात्रों के लिए एक शानदार मिसाल कायम की। कार्तिक नव दुर्गा सीनियर सेकेंडरी स्कूल के छात्र हैं। कार्तिक ने गणित, संस्कृत और साइंस में पूरे 100 अंक प्राप्त किए। 

कार्तिक भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) में जाना चाहते हैं। रोजाना करीब छह से सात घंटे पढ़ने वाले कार्तिक ने अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता व स्कूल स्टाफ को दिया। कार्तिक की उपलब्धि पर भावुक पिता प्रेम सिंह ने बताया कि जब भी ओलंपियाड या कोई अन्य प्रतियोगी परीक्षा होती तो वे कार्तिक को परीक्षा देने से रोकते थे, ताकि पास होने के बाद वह पढ़ने के लिए उनसे दूर नहीं चला जाए। हालांकि कार्तिक कहता था कि वह केवल परीक्षा में हिस्सा लेगा, बाहर नहीं जाएगा। प्रेम सिंह ने कहा कि बेटे ने प्रदेश में टॉप कर अपनी स्वर्गवासी मां व उनका नाम रोशन किया है। उन्हें बेटे पर गर्व है।

गोल गप्पे बेचने वाले की बेटी सोनाली सेकेंड टॉपर
सिरसा की सोनाली 99 फीसदी अंकों के साथ सेकेंड टॉपर रही। सोनाली के पिता भूदेव सिंह गोल गप्पे की रेहड़ी लगाते हैं। सोनाली ने बताया कि वह इंजीनियर बनना चाहती है। सोनाली ने कहा कि उसकी सफलता में उसकी मां का काफी योगदान रहा।

कारपेंटर के बेटी तीसरे स्थान पर 
अंबाला की रिया ने 98.8 फीसद अंक हासिल कर प्रदेश में तीसरा स्थान प्राप्त किया। रिया के पिता सुभाष धीमान कारपेंटर हैं। सुभाष ने बताया कि उनकी बेटी कभी ट्यूशन नहीं गई। रिया घर के कामों में अपनी मां की मदद भी करती है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:HBSE 10th Result 2018- story of haryana board class 10 toppers