ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरBSEH 10th result 2020: हरियाणा बोर्ड 10वीं में रेलू सहायिका के बेटे गौरव ने किया जिला टॉप

BSEH 10th result 2020: हरियाणा बोर्ड 10वीं में रेलू सहायिका के बेटे गौरव ने किया जिला टॉप

Haryana BSEH 10th result 2020: घरेलू सहायिका के तौर पर काम करने वाली मां के बेटे गौरव ने हरियाणा बोर्ड 10वीं की परीक्षा में जिला टॉप किया। शहर के सेक्टर-9 आंबेडकर कॉलोनी निवासी गौरव ने बोर्ड परीक्षा...

BSEH 10th result 2020: हरियाणा बोर्ड 10वीं में रेलू सहायिका के बेटे गौरव ने किया जिला टॉप
कार्यालय सवाददता ,गुरुग्रामSat, 11 Jul 2020 12:40 PM
ऐप पर पढ़ें

Haryana BSEH 10th result 2020: घरेलू सहायिका के तौर पर काम करने वाली मां के बेटे गौरव ने हरियाणा बोर्ड 10वीं की परीक्षा में जिला टॉप किया। शहर के सेक्टर-9 आंबेडकर कॉलोनी निवासी गौरव ने बोर्ड परीक्षा 495 अंक प्राप्त कर जिले में प्रथम स्थान प्राप्त किया हैं।

गौरव के पिता कारपेंटर का काम करते हैं। घर की आर्थिक स्थिति बेहद खराब है। यहां तक की पिता के पास रहने को अपना घर तक नहीं है। बेटे को पढ़ाई तक के लिए किताबें नहीं दिला पाए। गौरव ने अपने दोस्तों की किताबों से पढ़कर और शिक्षकों की मदद से यह मुकाम हासिल किया है। अब वह इंजीनियर बनकर देश की सेवा करना चाहते हैं।  

गौरव सेक्टर 4-7 राजकीय विद्यालय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल का छात्र हैं। उनके घर की आर्थिक स्थिति बेहद खराब है। बिना ट्यूशन ही स्वअध्ययन से यह उपलब्धि हासिल की है। गौरव ने बताया कि पिता सुरेश राना बढ़ई का काम करते हैं तो मां शांति दूसरों के घरों में बर्तन धोती है। मां की यही ‌स्थिति गौरव को बर्दाश्त नहीं होती है। अपनी मां को अच्छा जीवन देने के लिए गौरव ने दिन रात एक कर पढ़ाई की और जिले में टॉप किया है।

गौरव बताते हैं कि 10वीं की परीक्षा से पहले ही उनके पिता सुरेश राना का एक्सीडेंट हो गया था। स्थिति इतनी ‌खराब हुई कि घर में पढ़ाई छोड़ने की बातें उठने ‌लगी, लेकिन पिता ने अपने बेटे काबिलियत को समझा और स्कूल जाने दिया। बेटे गौरव ने भी पिता का नाम आगे किया। गौरव ने बताया कि वह इंजीनियर बनना चाहता है। वह घर की आर्थिक स्थिति को ठीक करना चाहता है। घर की दशा को देखते हुए 10वीं कर लेना ही एक सपने की तरह था। वहीं जिले को टॉप कर लेना बहुत कुछ हासिल करने के बराबर है। उन्होंने बताया कि पढ़ाई में दोस्तों की किताबों और शिक्षकों ने उनकी बहुत मदद की।

Virtual Counsellor