ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरदादा ने लड़ा था भारत पाकिस्तान युद्ध, पौता बना इंडियन आर्मी में अफसर

दादा ने लड़ा था भारत पाकिस्तान युद्ध, पौता बना इंडियन आर्मी में अफसर

IMA Passing Out Parade : आईएमए से शनिवार को पासआउट होकर सेना में अफसर बने बागेश्वर के सैंज निवासी राहुल जोशी के परिवार का सेना से पुराना नाता है। राहुल के पिता-दादा ने सेना में रहकर देश सेवा की।

दादा ने लड़ा था भारत पाकिस्तान युद्ध, पौता बना इंडियन आर्मी में अफसर
Pankaj Vijayहिन्दुस्तान,देहरादूनSun, 09 Jun 2024 12:20 PM
ऐप पर पढ़ें

आईएमए से शनिवार को पासआउट होकर सेना में अफसर बने बागेश्वर के सैंज निवासी राहुल जोशी के परिवार का सेना से पुराना नाता है। राहुल के पिता-दादा ने सेना में रहकर देश सेवा की। उनके दादा ने 1971 का भारत-पाकिस्तान युद्ध भी लड़ा। सेना में लेफ्टिनेंट बने राहुल के पिता गणेश जोशी हवलदार रिटायर हैं और मां नीमा गृहिणी। छोटी बहन नोएडा में नौकरी करती हैं। राहुल के दादा गोपाल दत्त जोशी भी बतौर हवलदार रिटायर हुए। चाचा सूबेदार नंदाबल्लभ जोशी हिमाचल में तैनात हैं। 12वीं तक की पढ़ाई सैनिक स्कूल घोड़ाखाल से हुई। ग्राफिक एरा से बीएससी के बाद 2023 में सीडीएस परीक्षा पास की।

पिता सूबेदार और बेटा लेफ्टिनेंट बना
देहरादून। दून के बालावाला निवासी अभिषेक नेगी शनिवार को भारतीय सेना में अफसर बन गए। उनके पिता सूबेदार पद पर कार्यरत हैं। मूल रूप से पौड़ी के नौगांव तल्ला निवासी अभिषेक के पिता रविंद्र नेगी जबलपुर में तैनात हैं। मां सोनी नेगी गृहिणी हैं। उनके दादा नारायण सिंह नेगी सूबेदार मेजर से रिटायर हुए थे। अभिषेक की 12वीं तक की पढ़ाई मिलिट्री स्कूल चहल शिमला से हुई।

इसके बाद एनडीए में चयन हुआ और वे आईएमए पहुंचे। यहां कठिन प्रशिक्षण के बाद शनिवार को वे भारतीय सेना का हिस्सा बने। पिता रविंद्र नेगी ने बताया कि उनके परिवार का सेना से बेहद लगाव है। अभिषेक ने भी बचपन से सेना में अफसर बनने की ठान ली थी, इसके लिए खूब मेहनत की, आज मेहनत का फल सबके सामने है।

साथी को खोने के बाद उनके माता और पिता को सितारे सजाने के लिए बुलाया
देहरादून। महाराष्ट्र के अनिकेत सहदेव कुम्भार शनिवार को आईएमए से पास आउट हुए तो उनके लिए यह उल्लास के साथ भावुक पल भी रहा। एनडीए में अपने स्कूली साथी को खोकर वह आईएमए से पासआउट हुए। जिस साथी को खोया, उनके माता और पिता को अनिकेत ने अपना मानकर कंधों पर सितारे सजाने को बुलाया। आईएमए में शनिवार को हुई पीओपी में कोल्हापुर महाराष्ट्र के अनिकेत सहदेव कुम्भार पास हुए। पीपिंग सेरेमनी के दौरान अनिकेत के साथ उनके माता-पिता के अलावा एक और दंपति भी मौजूद था। अनिकेत ने बताया कि वे प्रथम माहले के साथ स्कूल में पढ़ाई कर चुके हैं। अनिकेत का एनडीए में चयन हुआ तो एक बैच के बाद प्रथम माहले भी एनडीए में चुने गए। वे बॉक्सिंग के खिलाड़ी थे। बॉक्सिंग के दौरान चोट लगने पर प्रथम की मौत हो गई थी।

Virtual Counsellor