DA Image
24 फरवरी, 2020|12:52|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अच्छी खबर : आखिरी मिनट तक इंजीनियरिंग और मेडिकल के नामी कॉलेजों में सीट चुनने का मौका

seats in iit and aiims and management colleges

आईआईटी, एम्स समेत नामी इंजीनियरिंग, मेडिकल और मैनेजमेंट कॉलेजों में अब सीटें खाली नहीं रहेंगी। राष्ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी) ने इसके लिए ई-काउंसलिंग प्लेटफार्म उपलब्ध कराया है, जिसके जरिए अब करीब-करीब सभी प्रमुख संस्थानों में प्रवेश प्रक्रिया पूरी की जा रही है।

 

एनआईसी की महानिदेशक नीता वर्मा ने बताया कि ई- काउंसलिंग बेहद सफल प्लेटफार्म साबित हो रहा है। आईआईटी, एनआईटी, ट्रिपल आईटी, नीट, जेई मेन, होटल मैनेजमेंट, फार्मेसी, पॉलीटेक्निक, एमबीए के अब सभी दाखिले ई-काउंसलिंग के जरिए होते हैं। यदि कोई छात्र इंजीनियरिंग में प्रवेश लेने चाहता है तो उसके पास एक ही काउंसलिंग प्लेटफार्म पर आईआईटी से लेकर राज्य के इंजीनियर कॉलेज की काउंसिलिंग में शामिल होने का विकल्प मिलता है। लेकिन वह मेडिकल या किसी अन्य क्षेत्र में जाने का इच्छुक है और आवश्यक शर्तें पूरी करता है तो वह साथ-साथ उन संस्थानों की काउंसलिंग में भी हिस्सा ले सकता है। इससे सीटों के खाली रहने की समस्या तो खत्म होगी ही, छात्रों को बेहतर विकल्प चुनने का मौका भी रहेगा।

 

उन्होंने कहा कि प्रत्येक चरण के बाद छात्रों को खाली सीटों का पता चलता है। छात्र विकल्प बदलते रहते हैं, जिसके चलते प्रवेश प्रक्रिया पूरी होने तक सीटें भरती और खाली होती रहती हैं। ई-काउंसलिंग से छात्रों को घर बैठे खाली सीट पर आवेदन का विकल्प मिल रहा है। आईआईटी, एनआईटी समेत तमाम कॉलेजों में अंतिम समय में सैकड़ों सीटें खाली रह जाती हैं। जबकि हजारों योग्य उम्मीदवारों को मौका नहीं मिलता है। ई-काउंसलिंग के जरिए उन्हें आखिरी दिन और आखिरी मिनट तक सीट चुनने का मौका मिल रहा है।


उन्होंने कहा कि ई- काउंसलिंग की सुविधा जेई मेन, जेई एडवांस, यूजीसी नेट, सीटैट, नीट, एनसीएचएम-जेईई, सीमैट, जीपैट, जेएनयू, एआरपीआईटी आदि में पूर्ण रूप से शुरू की जा चुकी है। करीब तीन हजार संस्थान, 35 राज्य शिक्षा बोर्ड इस फ्लेटार्म से जुड़े चुके हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Good News: chance up to the last minute choose seats in renowned colleges of Engineering Medical and management