DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सच होगा बेदाग त्वचा का सपना

skin problem

एक्ने यानी चेहरे पर होने वाले दाने। एक ऐसी समस्या जिसे छिपाने, मिटाने या फिर जिससे बचने के लिए आप ढेरों जतन करती हैं। पर क्या सफलता मिली? कितने तरह के होते हैं एक्ने और कैसे पाएं उनसे छुटकारा, बता रही हैं  दिव्यानी त्रिपाठी

अपनी त्वचा की खूबसूरती को बरकरार रखने के लिए आप ढेरों जतन करती हैं, पर क्या ऐन वक्त पर एक्ने आपके चेहरे पर भी धावा बोल देते हैं? एक्ने दुनियाभर में त्वचा से जुड़ी सबसे आम परेशानी है। एक अध्ययन के मुताबिक, भारत में 2.2 करोड़ लोग त्वचा से जुड़ी इस परेशानी से पीड़ित हैं। मुख्य रूप से युवाओं को एक्ने ज्यादा परेशान करते हैं। एक्ने कई प्रकार के होते हैं और उनके समाधानों में भी फर्क होता है। यही वजह है कि किसी खास तरह के घरेलू नुस्खे को अपनाकर इनसे छुटकारा पाने की गारंटी नहीं दी जा सकती। ऐसे में बेहतर रहेगा कि आप एक्ने के प्रकारों के बारे तफ्सील से जानें और अपनी समस्या को पहचान कर उसके निदान की दिशा में काम करें। एक्ने मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं, अजलनशील और दूसरा जलनशील। कई एक्ने घरेलू उपचार से ही ठीक हो जाते हैं, तो कुछ को ठीक करने के लिए डॉक्टरी मदद जरूरी हो जाती है। 

जिद्दी होते हैं ब्लैक हेड्स 
यह एक्ने से जुड़ी सबसे आम समस्या है। इसमें नाक के आस-पास काली-काली कील सी नजर आती हैं। इसके चलते रोम छिद्र बंद हो जाते हैं। जब बैक्टीरिया, डेड स्किन और अन्य हानिकारक  तत्व रोम छिद्रों को रोकना शुरू कर देते हैं और त्वचा की सतह तक पहुंच जाते हैं तब यह हवा में मौजूद ऑक्सीजन के साथ प्रतिक्रिया करते हैं और ब्लैक हेड्स नजर आने शुरू हो जाते हैं। 
समाधान : इनसे निजात पाने में भाप आपकी मदद करेगी। अपनी त्वचा को भाप दें ताकि वह मुलायम हो जाए। इसके बाद हल्के हाथों से चेहरे पर स्क्रब का इस्तेमाल करें। इसके बाद अल्फा हाइड्रॉक्सी युक्त मॉइस्चराइजर का प्रयोग करना न भूलें। 

व्हाइड हेड्स का चक्कर
अगर आपकी नाक के आसपास, ठुड्डी और चेहरे पर छोटे सफेद छाले से नजर आते हैं तो इसका मतलब है कि आप व्हाइट हेड्स की शिकार हो चुकी हैं। जब चेहरे पर मौजूद ऑयल ग्लैंड्स से तेल का स्राव अधिक होने लगता है, पर रोम छिद्रों के बंद होने के कारण तेल बाहर नहीं निकल पाता है तो वह त्वचा की सतहों के बीच में ही रह जाता है। नतीजा व्हाइट हेड्स के रूप में सामने आता है। 
समाधान : सबसे पहले तो चेहरे से तेल को साफ करना जरूरी है, जिसके लिए उसे दिन में कम से कम 2 से 4 बार सिर्फ पानी से धोना चाहिए। इन व्हाइड हेड्स पर बेकिंग सोडा भी प्रयोग में ला सकती हैं। बेकिंग सोडा का पेस्ट बनाकर व्हाइड हेड्स पर लगाकर कुछ मिनटों के लिए छोड़ दें और पानी से धो लें। 

आसानी से नजर नहीं आता यह एक्ने
सेबेशियस फिलामेंट्स नाम का एक्ने तब परेशान करता है, जब अतिरिक्त सीबम और डेड स्किन सेल्स बालों के फॉलिकल के पास इकट्ठा हो जाते हैं, जिसके चलते नाक, अपर लिप, गाल और ललाट पर ग्रीसी धब्बे-से हो जाते हैं। सेबेशियस फिलामेंट्स का टेक्सचर स्मूद होता है यानी उसका मुंह नहीं होता। इस वजह से ये आसानी से नजर भी नहीं आते हैं। यह एक्ने खासतौर से नाक के आसपास होता है।
समाधान :  इस समस्या के लिए मुल्तानी मिट्टी रामबाण इलाज है। एक चम्मच मुल्तानी मिट्टी में कुछ बूंदे गुलाब जल की मिलाकर पेस्ट बना लीजिए और हफ्ते में एक बार बीस से चालीस मिनट तक चेहरे पर लगाकर छोड़ दीजिए फिर पानी से धो लीजिए। 

छूने से फैलता है पैप्यूल्स
यह एक प्रकार की लाल गांठें होती हैं, जो कई बार छूने से भी फैलती हैं । साथ ही जलन पैदा करती हैं। जाते-जाते यह चेहरे पर अपने निशान छोड़ जाती हैं। यकीनन लंबे समय के लिए ये आपकी खूबसूरती पर बट्टा लगा सकती हैं। 
समाधान : इसके लिए टमाटर बहुत ही उपयोगी उपचार साबित हो सकता है। इसको प्रयोग करने के पहले अपने चेहरे को अच्छे से धोकर सुखा लें और उसके बाद टमाटर के जूस को त्वचा पर लगाएं। ध्यान रहे, टमाटर का जूस फौरन साफ नहीं करना है। उसे चहेरे पर तीस मिनट तक लगाकर रखें और फिर हल्के गुनगुने पानी से धो लीजिए। 

तेजी से फैलता है पसट्यूल 
पसट्यूल यानी मवाद से भरी फुंसी। यह तेजी से फैलने वाली समस्या है, जो कि छूने में खासी सख्त होती है। यह आपके चेहरे, पीठ, कंधों, छाती, कमर, बगल आदि में हो सकती है। यह पसीने वाली जगहों पर अधिक होती है। इसे फोड़ने से बचना चाहिए, क्योंकि ऐसा होने पर हमेशा के लिए आपकी त्वचा पर दाग या काले धब्बे रह सकते हैं। 
समाधान : इसकी रोकथाम के उपचार की बात करें तो एलोवेरा इसमें आपकी मदद करेगा। ताजा एलोवेरा की पत्ती मिल जाए तो बहुत ही अच्छा, नहीं तो एलोवेरा जेल भी चलेगा। रात में सोने से पहले अपने चेहरे पर एलोवेरा जेल लगा लें और सुबह पानी से धो लें।

दर्दनाक होता है नोड्यूल 
अब आप सोच रही होंगी कि भला यह किस बला का नाम है, है?  ये कठोर गांठें होती हैं, जो कि पसट्यूल और पैप्यूल्स से आकार में बड़ी होती हैं। इनमें दर्द होता है, साथ ही ये फैलने वाली होती हैं। ये गांठें खासी कड़ी और पस वाली होती हैं। 
समाधान : इन गांठों पर बेन्जोइल पैराऑक्साइड या सैलिसिलिक एसिड का प्रयोग किया जा सकता है, जो कि नोड्यूल को तेल से निजात दिलाने में सहयोगी होंगे। बेहतर होगा कि डॉक्टरी परामर्श के अनुरूप आप दवाओं का इस्तेमाल करें।

टूथपेस्ट को पिंपल के ऊपर बिल्कुल नहीं लगाएं। आम अवधारणा है कि पिंपल पर टूथपेस्ट लगाने से पिंपल सूख जाता है। पर ऐसा करने से त्वचा जल जाती है। टूथपेस्ट में क्लोराइड होता है, जिसके कारण त्वचा से जुड़ी अन्य समस्याओं का खतरा भी बढ़ जाता है। 

आपकी त्वचा ऑयली है, इसका मतलब यह नहीं है कि आपको मॉइस्चराइजर की जरूरत नहीं है। एक्ने को ठीक करने वाली दवाओं में ऐसे तत्व होते हैं, जो त्वचा को रूखा बना देते हैं। ऐसे में मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल त्वचा को जरूरी नमी और पोषण देगा। 

एक्ने होने पर मेकअप करने से बचें। अगर मेकअप करना भी पड़े, तो उसे रात में सोने से पहले अच्छी तरह से साफ करना नहीं भूलें। एक्ने वाली त्वचा पर ऑयल फ्री कॉस्मेटिक प्रोडक्ट का इस्तेमाल करना ठीक रहता है। 

अगर आपकी स्किन रूखी हो रही है तो तैलीय उत्पादों का इस्तेमाल भूल के भी न करें। आपके लिए ऑयल फ्री मॉइस्चराइजर बेहतर विकल्प है।

बालों पर लगा तेल भी आपकी इस मुसीबत को बढ़ा सकता है। बालों में तेल लगाने की बजाय हेयर टॉनिक का इस्तेमाल करें। ऐसा करने से आपकी त्वचा पर अतिरिक्त तेल नहीं आ पाएगा।

सूरज की किरणों से त्वचा को सुरक्षा प्रदान करें। सूरज की अल्ट्रावायलेट किरणें आपकी समस्या को बढ़ा सकती हैं। बाहर जाने के पहले त्वचा को कपड़े से ढंकें। ऐसी सनस्क्रीन का प्रयोग करें, जिसमें 6 फीसदी या उससे ज्यादा जिंक ऑक्साइड हो, साथ ही उसका एसपीएफ तीस या उससे ज्यादा हो। धूप में जाने के बीस मिनट पहले सनस्क्रीन जरूर लगाएं। 

आजमाएं ये उपाय भी
अगर आपकी त्वचा अत्यधिक तैलीय है तो उसको साफ करने के लिए एस्ट्रिंजेंट का प्रयोग करें। आप गुलाब जल का भी प्रयोग कर सकती हैं। अल्कोहल फ्री स्किन टोनर भी आपकी मदद करेगा। यहां तक तो बात हुई बचाव की। लेकिन अगर समस्या हो ही गई है तो उसमें नीम, पुदीने का रस और लौंग सरीखे उपाय काम आएंगे। यूकेलिप्टस का तेल भी एक्ने से छुटकारा पाने में आपकी मदद करेगा। आप घर में भी टोनर बना सकती हैं। इसके लिए नीम को पानी में उबालना है। जब पानी आधा रह जाए, तब उसको ठंडा करके रोज की दिनचर्या में प्रयोग कीजिए। इससे न सिर्फ स्किन टोन होगी, बल्कि एक्ने भी कम होंगे या फिर होंगे ही नहीं। तैलीय खाद्य पदार्थों से भी दूर रहें।
(ब्यूटी एक्सपर्ट भारती तनेजा से बातचीत पर आधारित)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:f immaculate skin dream will now will be true