DA Image
22 मई, 2020|10:24|IST

अगली स्टोरी

झारखंड: ईद के बाद शुरू होगा मैट्रिक-इंटर के काॅपियों का मूल्यांकन, जुलाई में आएगा रिजल्ट

jac 2020

ईद के बाद झारखंड एकेडमिक काउंसिल (जैक) मैट्रिक-इंटर काॅपियों का मूल्यांकन शुरू करेगा। मूल्यांकन कार्य 31 मई से पहले शुरू कर दिया जाएगा। शिक्षा विभाग ने शुक्रवार को जैक को इंटर काॅपियों के मूल्यांकन को लेकर अनुमति दी है। जैक ने बताया कि मूल्यांकन कार्य को लेकर तैयारियां तेज कर दी गई है। सभी मूल्यांकन केंद्र के निदेशकों से व्यवस्था की जानकारी ली जा रही है। साथ ही सभी जगहों पर लगे सीसीटीवी कैमरों को भी जांचा जाएगा। इसके साथ ही सभी केंद्रो में शिक्षकों को मास्क, सेनिटाइजर दिया जाएगा। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग के तहत छह-छह फीट की दूरी में शिक्षकों को बैठाया जाएगा। हर केंद्र में जैक द्वारा थर्मल स्कैनर की भी व्यवस्था कराई जाएगी। जो शिक्षक बीमार होंगे या स्कैन में बुखार पाया जाएगा उन्हें वापस भेज दिया जाएगा। साथ ही उसकी पूरी रिपोर्ट संबंधित विभाग को भी भेजी जाएगी ताकि उनकी पूरी जांच हो सके।

सात मूल्यांकन केंद्र बदले जाएंगे
मूल्यांकन के लिए राज्य में कुल 67 केंद्र बनाए गए थे। इसमें से सात केंद्र को बदला जाएगा। इन केंद्रो में या तो क्वारंटाइन सेंटर बना दिया गया है या कुछ में कमरे कम होने की वजह से मापदंड पर खरा नहीं उतर रहे हैं। जैक ने बताया कि सात केंद्र बदल दिए जाएंगे लेकिन केंद्रो की संख्या फिलहाल बढ़ाई नहीं जाएगी।

जुलाई के पहले सप्ताह तक आएगा रिजल्ट
झारखंड बोर्ड के मैट्रिक व इंटर परीक्षा का रिजल्ट जुलाई के पहले सप्ताह तक आने की उम्मीद जताई जा रही है। जैक के अनुसार मूल्यांकन कार्य में देर पहले से ही हो चुकी है। ऐसे में अब कड़े नियमों का पालन कर मूल्यांकन कार्य किया जाएगा जिसमें थोड़ा अधिक समय लग सकता है। हालांकि दो शिफ्ट में मूल्यांकन कार्य कराने की योजना है। इसमें एक शिक्षक दो शिफ्ट में 60 काॅपियों का मूल्यांकन कर सकेंगे। मूल्यांकन कार्य जून के अंतिम सप्ताह के पहले ही समाप्त होने की उम्मीद है। मालूम हो कि जैक ने सीबीएसई से पहले ही सारी परीक्षाएं ले ली है, जबकि सीबीएसई की कुछ बची परीक्षाएं अभी आयोजित की जाएंगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Evaluation Of Copies Of Matric And inter Will Start After The Eid And Result Will Came In The First Week Of July In Jharkhand