ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरशारदा विश्वविद्यालय के चौथे दीक्षांत समारोह में बोले शिक्षा मंत्री निशंक- नई शिक्षा नीति से विश्व गुरु बनेगा भारत

शारदा विश्वविद्यालय के चौथे दीक्षांत समारोह में बोले शिक्षा मंत्री निशंक- नई शिक्षा नीति से विश्व गुरु बनेगा भारत

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि नई शिक्षा नीति से भारत फिर विश्व गुरु बनेगा। भारत हमेशा अनुसंधान का केंद्र रहा है, इसलिए अनुसंधान पर जोर देना चाहिए। शिक्षण संस्थानों में पढ़ाई के...

शारदा विश्वविद्यालय के चौथे दीक्षांत समारोह में बोले शिक्षा मंत्री निशंक- नई शिक्षा नीति से विश्व गुरु बनेगा भारत
Alakha Singhवरिष्ठ संवाददाता,ग्रेटर नोएडाFri, 20 Nov 2020 11:23 AM
ऐप पर पढ़ें

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि नई शिक्षा नीति से भारत फिर विश्व गुरु बनेगा। भारत हमेशा अनुसंधान का केंद्र रहा है, इसलिए अनुसंधान पर जोर देना चाहिए। शिक्षण संस्थानों में पढ़ाई के साथ नैतिक और सांस्कृतिक मूल्यों का जुड़ाव जरूरी है। शिक्षण संस्थान छात्रों को ऐसे तैयार करें कि वे विश्वस्तरीय कौशल का मुकाबला कर सकें।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री निशंक गुरुवार को शारदा विश्वविद्यालय के 4थे दीक्षांत समारोह में बोल रहे थे। समारोह में 3593 स्नातक और 1203 परास्नातक छात्रों को वर्चुअली सम्मानित किया गया। साथ ही 51 छात्रों को पीएचडी की उपाधि प्रदान की गई। 26 छात्रों को स्वर्ण पदक और 6 छात्रों को चांसलर पदक से नवाजा गया। कार्यक्रम में 3 छात्रों ने कुलपति का पदक मिला। शिक्षा मंत्री ने कहा कि कोविड महामारी में हमने दिखाया है कि चुनौतियों को अवसर में कैसे बदलते हैं। ऐसा तभी संभव होता है जब हमारे प्रतिभावन छात्र अपने को तपाकर देश की तरक्की में योगदान देते हैं। दीक्षांत समारोह छात्रों के जीवन के यादगार पलों में से एक है। उन्होंने कहा कि उन्हें यह जानकर खुशी हो रही है कि इस विश्वविद्यालय में 56 देशों के 2000 से ज्यादा छात्र पढ़ते हैं। पढ़ने व समझने में मातृ भाषा सबसे कारगर होती है। भारत सरकार की योजना स्टे इन इंडिया और स्टडी इन इंडिया सिद्धांत का यहां पालन किया जा रहा है। शारदा विवि देश से बाहर भी शिक्षा का प्रसार कर रहा है। शिक्षा तो संस्थान से मिलती है, लेकिन दीक्षा गुरू से ही मिलती है। इस संस्थान का नाम मां शारदा के नाम पर है। इसलिए यहां के छात्रों से अपील है कि वे अपने माता-पिता, प्रदेश व देश का नाम रोशन करें।

छात्रों का जीवन संवारेगा शारदा विवि : संगमा
समारोह में मेघालय के सीएम कोरनाड संगमा ने कहा कि ऐसे कार्यक्रम में आकर उन्हें बहुत उम्मीद बंधती है। शारदा विश्वविद्यालय में एक साथ इतने संख्या में प्रतिभावान छात्र और छात्राओं को देखकर लगता है कि यहां की शिक्षा व्यवस्था काफी उम्दा है। उन्होंने उम्मीद जताई कि यह विवि आने वाले समय में और भी बेहतर ढंग से छा़त्रों का जीवन संवारेगा। आरएसएस के भारतीय सह संपर्क प्रमुख रामलाल ने छात्रों से कहा कि वे अपने लक्ष्यों पर ध्यान केंद्रित रखें और उन्हें हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करें। उन्होंने जीवन में स्वामी विवेकानंद का अनुसरण करने की अपील की। वीएचपी के संरक्षक दिनेश चंद ने कहा कि आप जैसे छात्रों को ही नये भारत का निर्माण करना है, जो आत्मनिर्भर हो और बुद्धिमता एवं ज्ञान से सशक्त हो।

पेशेवर शिक्षा के पक्षधर हैं : पीके गुप्ता
शारदा विश्वविद्यालय के चांसलर पीके गुप्ता ने कहा कि वह पेशेवर शिक्षा के पक्षधर हैं। इसके लिए कठिन परिश्रम नहीं बल्कि पैशन की जरूरत है। यदि किसी ने कुछ बनने का ठान लिया है तो वह सफलता प्राप्त करके ही मानेगा। कार्यक्रम में सांसद डॉ. महेश शर्मा, क्वाॅलिटी काउंसिल आफ इंडिया के सेक्रेटरी जनरल डा. रवि पी सिंह, वाइस चांसलर सिबाराम खारा, रजिस्ट्रार अशोक कुमार सिंह आदि मौजूद रहे।