DA Image
28 मई, 2020|12:04|IST

अगली स्टोरी

भारतीय जॉब मार्केट का सबसे बुरा दौर खत्म, नई भर्ती की तैयारी में कंपनियां

online cet will be held by nra for government jobs

भारत में बेरोजगारी दर अपने चरम पर पहुंच चुकी है। आने वाले दिनों में इसमें सुधार होने की उम्मीद है। शीर्ष स्टाफिंग फर्म के प्रमुख का यह कहना है। स्टाफिंग सेवा देने वाली कंपनी क्वेश कोर्प के चेयरमैन अजीत इसाक ने कहा, कंपनियों ने नई नियुक्ति करने के लिए हमसे वार्ता शुरू कर चुकी है। मेरा मानना है कि अब वित्तीय सेवाओं, स्वास्थ्य देखभाल, और डिलिवरी सेवा में बड़ी संख्या में नई नियुक्तियां होंगी। लॉकडाउन में ढील और बड़ी कंपनियों द्वारा नई भर्ती शुरू करने से वाले दिनों में जॉब मार्केट में सुधार होगा। 

क्वेस के अनुसार, भारत में लॉकडाउन से 12 करोड़ लोगों की नौकरी चली गई है। लॉकडाउन धीरे-धीरे खुल रही है तो कंपनियां बड़ी संख्या में नई नियुक्ति करने की तैयारी कर रही है।

70 फीसदी कंपनियां नई नियुक्ति करेंगी 
रिपोर्ट के अनुसार, बहुराष्ट्रीय कंपनियां और बड़ी भारतीय कंपनियां की वित्तीय स्थिति काफी मजबूत है। इनमें से 70 फीसदी कंपनियां नई नियुक्ति करने की तैयारी कर रही है। हालांकि, इन कंपनियों की हिस्सेदारी भारतीय जॉब मार्केट में सिर्फ 15 फीसदी है। वहीं, 40 फीसदी जॉब मार्केट को असंगठित क्षेत्र से सहारा मिलता है। इन कंपनियों में अधिकांश काम करने वाले प्रवासी श्रमिक हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Economic Slowdown recession: bad phase of indian job market over companies are ready for new recruitment