ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरDPharma : सिर्फ डिप्लोमा इन फार्मेसी कर नहीं बन सकेंगे फार्मासिस्ट, रजिस्ट्रेशन पर लगी रोक

DPharma : सिर्फ डिप्लोमा इन फार्मेसी कर नहीं बन सकेंगे फार्मासिस्ट, रजिस्ट्रेशन पर लगी रोक

DPharma : केवल डिप्लोमा इन फार्मेसी (Diploma in Pharmacy) की पढ़ाई पूरी करने के बाद अब फार्मासिस्ट नहीं बन पाएंगे। पीसीआई ने 2023-24 बैच में पासआउट होने वाले छात्रओं के निबंधन पर रोक लगा दी है।

DPharma : सिर्फ डिप्लोमा इन फार्मेसी कर नहीं बन सकेंगे फार्मासिस्ट, रजिस्ट्रेशन पर लगी रोक
Pankaj Vijayरंजन,रांचीFri, 09 Feb 2024 07:27 AM
ऐप पर पढ़ें

केवल डिप्लोमा इन फार्मेसी की पढ़ाई पूरी करने के बाद अब फार्मासिस्ट नहीं बन पाएंगे। फार्मेसी काउंसिल ऑफ इंडिया (पीसीआई) ने बीते साल (2022-23) डिप्लोमा इन फार्मेसी कोर्स में दाखिला लेने वाले छात्र, जो सत्र 2023-24 में पासआउट हो जाएंगे, उनके निबंधन पर रोक लगा दी है। पीसीआई ने स्पष्ट कहा है कि सत्र 2022-24 के छात्रों का स्टेट फार्मेसी काउंसिल में तभी निबंधन किया जाएगा, जब वह एग्जिट एक्जाम पास करेंगे। फार्मेसी काउंसिल ऑफ इंडिया रजिस्ट्रार कम सेकरेटरी अनिल मित्तल ने सभी राज्यों के फार्मेसी काउंसिल को इस बाबत पत्र जारी किया है। 

पीसीआई के निर्देश के बाद झारखंड स्टेट फार्मेसी काउंसिल के रजिस्ट्रार कौशलेंद्र कुमार ने भी इस बाबत निर्देश जारी कर दिया है। जिसमें उन्होंने कहा है कि सत्र 2022-24 में डिप्लोमा इन फार्मेसी की परीक्षा उत्तीण करने के बाद एग्जिट एग्जाम उत्तीर्ण करना अनिवार्य है। बिना एग्जिट एग्जाम उत्तीण किए छात्रों का निबंधन झारखंड स्टेट फार्मेसी काउंसिल द्वारा नहीं किया जाएगा।

जुलाई-सितंबर में होगा एग्जिट एग्जाम राज्यों के फार्मेसी काउंसिल को भेजे गए पत्र में अनिल मित्तल ने कहा है कि 2022-24 के डी फार्मा कोर्स के लिए पीसीआई डिप्लोमा इन फार्मेसी एग्जिट एग्जाम का आयोजन जुलाई-सितंबर में करने जा रहा है। परीक्षा की निश्चित तिथि की घोषणा बाद में की जाएगी। बता दें कि मार्च 2022 में ही पीसीआई ने डिप्लोमा इन फार्मेसी करने वालों के लिए एग्जिट एग्जाम अनिवार्य करने का निर्णय लिया था।

अहम बातें
फार्मेसी काउंसिल ऑफ इंडिया ने सभी राज्यों के फार्मेसी काउंसिल को पत्र जारी कर दिया दिशा-निर्देश, एग्जिट एक्जाम पास करना होगा
- जुलाई से सितंबर के बीच होगा एग्जिट एग्जाम, पास करने पर काउंसिल में निबंधन
- फार्मेसी काउंसिल ऑफ इंडिया ने सभी राज्यों को जारी किया विस्तृत दिशा-निर्देश
- झारखंड स्टेट फार्मेसी काउंसिल के रजिस्ट्रार ने भी इस बाबत निर्देश जारी कर दिया

एनबीईएमएस के माध्यम से होगी परीक्षा
फार्मेसी काउंसिल ऑफ इंडिया के रजिस्ट्रार ने कहा है कि डिप्लोमा इन फार्मेसी एग्जिट एग्जाम का आयोजन पीसीआई के द्वारा किया जाएगा। लेकिन यह एग्जिट एग्जाम नेशनल बोर्ड ऑफ एग्जामिनेशन इन मेडिकल साइंसेज (एनबीईएमएस) के माध्यम से लिया जाएगा। सत्र 2022-24 में डिप्लोमा इन फार्मेसी की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले सभी छात्रों को यह एग्जिट एग्जाम उत्तीण करना अनिवार्य होगा। एग्जिट एग्जाम उत्तीण करने के बाद ही स्टेट फार्मेसी काउंसिल में निबंधन किया जा सकेगा।

Virtual Counsellor