Wednesday, January 19, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरपीजीआई में मेटर्नल एंड फीटल मेडिसिन में डीएम की पढ़ाई शुरू होगी

पीजीआई में मेटर्नल एंड फीटल मेडिसिन में डीएम की पढ़ाई शुरू होगी

संवाददाता,लखनऊAlakha Singh
Sat, 27 Nov 2021 10:21 PM
पीजीआई में मेटर्नल एंड फीटल मेडिसिन में डीएम की पढ़ाई शुरू होगी

इस खबर को सुनें

पीजीआई देश का पहला संस्थान होगा जहां के मेटर्नल एंड रिप्रोडक्टिव हेल्थ (एमआरएच) विभाग में मेटर्नल एंड फीटल मेडिसिन में डीएम की पढ़ाई शुरू होगी। यह विभाग गर्भस्थ शिशु और गर्भवती महिला के इलाज के लिए विशेषज्ञ डॉक्टर तैयार करेगा। यह जानकारी एमआरएच विभाग की प्रमुख डॉ. मंदाकिनी प्रधान ने शनिवार को विभाग के स्थापना दिवस पर दी।

उन्होंने बताया कि संस्थान द्वारा सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली गईं हैं। शुरूआत में तीन सीट की पढ़ाई की मंजूरी के लिए प्रस्ताव राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग को भेजा गया है। हालांकि विभाग अभी सिर्फ पीडीसीसी प्रोग्राम चला रहा है। एमआरएच विभाग की प्रमुख डॉ. मंदाकिनी प्रधान ने कहा कि विभाग में अब तक एक हजार से ज्यादा गर्भस्थ शिशु में खून चढ़ाया जा चुका है। इस तकनीक को इंट्रा यूट्राइन ब्लड ट्रांसफ्यूजन कहते हैं। उन्होंने कई अन्य उपलब्धियां गिनाईं।

इस अवसर पर पीजीआई निदेशक डॉ. आरके धीमन ने कहा कि विभाग में यूपी समेत कई प्रदेश से आने वाली अधिक जोखिम वाली गर्भवती महिलाओं एवं उनके गर्भ में पल रहे भ्रूण का उपचार किया जा रहा है।

जोखिम ज्यादा होता है
एमआरएच विभाग की डॉ. इंदुलता साहू ने कहा कि ज्यादा जोखिम वाली गर्भावस्था में मां और उसके भ्रूण के स्वास्थ्य की देखभाल अहम होती है। महिला को अपना विशेष ध्यान रखने की जरूरत होती है। जिन गर्भवती महिलाओं में डायबिटीज, ब्लड प्रेशर और थायरॉयड की समस्या है। उन्हें नियमित अच्छे एवं योग्य डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। इस अवसर पर डॉ. कमल मेहरोत्रा, डॉ. रीवा त्रिपाठी ने फीटल मेडिसिन की जरूरत पर बल दिया। डॉ. एस सुरेश, डॉ. श्री विद्या ने मेटर्नल एंड फीटल मेडिसिन के विस्तार के लिए काम की जरूरत बतायी।

epaper
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें