DA Image
8 अप्रैल, 2020|10:19|IST

अगली स्टोरी

डीयू आरक्षित वर्ग के दाखिले में अपनाएगा नई प्रक्रिया

डीयू

डीयू सत्र 2018-19 के दाखिलों के लिए आरक्षित वर्गों की सीटें भरने के लिए नई प्रक्रिया अपनाएगा। इस साल कॉलेजों की ओर से पांच कटऑफ आने के बाद आरक्षित वर्ग की सीटों को भरने के लिए विश्वविद्यालय स्तर पर छात्रों के दाखिले होंगे।.

मंगलवार को दिल्ली विश्वविद्यालय की स्टैंडिंग समिति की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी मिली है। फिलहाल दिल्ली विश्वविद्यालय में दाखिले के लिए सभी कटऑफ कॉलेजों की ओर से जारी की जाती हैं। समिति की बैठक में शामिल एक सदस्य ने बताया कि पिछले साल डीयू ने 11 कटऑफ जारी की थीं। .

अंतिम दो कटऑफ सिर्फ आरक्षित वर्ग की खाली सीटों के लिए ही जारी की गईं थीं। ऐसे में इस बार दिल्ली विश्वविद्यालय की स्टैंडिंग समिति ने यह तय किया है कि पहली पांच कटऑफ पहले की तरह कॉलेज जारी करेंगे। इसके बाद आरक्षित वर्ग की सीटों के लिए विश्वविद्यालय स्तर पर काउंसलिंग के जरिए छात्रों के दाखिले कराए जाएंगे। विश्वविद्यालय पांचवीं कटऑफ के बाद सभी कॉलेजों से उनके यहां खाली बची आरक्षित वर्ग की सीटों की जानकारी मांगेगा। इसी जानकारी के आधार पर विश्वविद्यालय केंद्रीय स्तर पर ही कॉलेजों को आरक्षित वर्ग के दाखिले की जानकारी भेजेगा। सामान्य वर्ग की सीटों के लिए सभी कटऑफ कॉलेजों की ओर से ही जारी की जाएंगी। .

दिल्ली विश्वविद्यालय में पिछले साल 11 कटऑफ के बाद भी आरक्षित वर्ग की सीटें खाली रह गईं थीं। दरअसल, सामान्य वर्ग की सीटें डीयू में जल्द भर जाती हैं। कॉलेजों की ओर से हर नई कटऑफ में मामूली कमी की जाती है। ऐसे में 10 से अधिक कटऑफ जारी होने के बाद भी आरक्षित वर्ग की सीटें खाली रह गईं थीं। विश्वविद्यालय ने इससे निपटने के लिए ही आरक्षित सीटें भरने के लिए नया तरीका निकाला है। .

दिल्ली विश्वविद्यालय के किरोड़ीमल कॉलेज के असिस्टेंट प्रोफेसर रामानंद सिंह ने कहा कि विश्वविद्यालय के इस फैसले से आरक्षित वर्ग के छात्रों को लाभ मिलेगा। डीयू में उन्हें दाखिले के लिए लंबे समय तक इंतजार नहीं करना पड़ेगा। अभी अगस्त के अंत तक छात्रों के दाखिले ही नहीं हो पाते थे जबकि पहला सेमेस्टर जल्द शुरू हो जाता था। .

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:delhi university will adopt new admission process