ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरदिल्ली नर्सरी एडमिशन 2023: स्कूल पास होने पर मिलेंगे सबसे अधिक अंक, जानें क्या हैं दाखिले के मानदंड

दिल्ली नर्सरी एडमिशन 2023: स्कूल पास होने पर मिलेंगे सबसे अधिक अंक, जानें क्या हैं दाखिले के मानदंड

Nursery Admission: दिल्ली के निजी स्कूलों में एक दिसंबर से नर्सरी से पहली कक्षा की सामान्य सीटों पर दाखिले की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। स्कूलों के पास मानदंड अपलोड करने के लिए सोमवार आखिरी दिन है।

दिल्ली नर्सरी एडमिशन 2023: स्कूल पास होने पर मिलेंगे सबसे अधिक अंक, जानें क्या हैं दाखिले के मानदंड
Pankaj Vijayकार्यालय संवाददाता,नई दिल्लीMon, 28 Nov 2022 08:33 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के निजी स्कूलों में शैक्षणिक सत्र 2023-24 के लिए एक दिसंबर से नर्सरी से पहली कक्षा की सामान्य सीटों पर दाखिले की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। स्कूलों के पास मानदंड अपलोड करने के लिए सोमवार आखिरी दिन है। स्कूल नेबरहुड (घर के नजदीक) को सबसे अधिक अंक देने की तैयारी में हैं। कुछ स्कूलों ने मानदंड में पहला बच्चा और बेटी को भी शामिल किया है। नेबरहुड को 10 अंक रोहिणी स्थित माउंट आबू पब्लिक स्कूल की प्रधानाचार्य ज्योति अरोड़ा ने बताया कि पिछले वर्ष जो दाखिला मानदंड तैयार किया था वही इस बार भी रहेगा। स्कूल घर के नजदीक (नेबरहुड) होने पर 80 अंक, भाई-बहन (सिबलिंग) को दस अंक और एलुमनाई (पूर्व छात्र का बच्चा) को दस अंक दिए जाएंगे।

खिलाड़ी और रक्षा कर्मी के बच्चे को भी वरीयता विकासपुरी स्थित ममता मॉर्डन सीनियर सेकेंडरी स्कूल की प्रधानाचार्य पल्लवी शर्मा ने बताया कि नेबरहुड को लेकर 70 अंक है। सबसे ज्यादा अंक नेबरहुड को देने का मुख्य कारण यह है कि बच्चों का यातायात का समय बचता है।

बच्चा स्कूल घर से पैदल चलकर भी आ सकता है। इसके अलावा दस अंक खिलाड़ी और रक्षा कर्मी के बच्चे होने को लेकर रखे गए हैं।

मानदंड में पहले बच्चे को शामिल किया मयूर विहार फेज-3 स्थित विद्या बाल भवन सीनियर सेकेंडरी स्कूल के प्रधानाचार्य डॉ. सतवीर शर्मा ने बताया कि दाखिला मानदंड में पहले बच्चे को भी शामिल किया है। इसे लेकर दस अंक मिलेंगे, जबकि घर अगर स्कूल से शून्य से एक किलोमीटर के बीच है तो 70 अंक, एक से आठ किलोमीटर की दूरी पर 60 अंक और आठ किलोमीटर से ज्यादा होने पर 50 अंक दिए जाएंगे।

निगरानी सेल
दाखिला प्रक्रिया पर नजर रखने के लिए निगरानी सेल का गठन होगा। इसकी जिम्मेदारी बच्चे को दाखिले के लिए आवंटित होने वाले प्वाइंट और दाखिले को सुनिश्चित करना होगा। www.edudel.nic.in पर शिकायत निवारण और निगरानी प्रणाली के तहत आने वाली शिकायतों का निवारण भी करेगी।

इन बच्चों को मिलेगा प्रेफरेंस

दस्तावेज
- अभिभावक के नाम पर जारी राशन कार्ड/स्मार्ट कार्ड (जिसमें बच्चे का नाम भी हो)
- बच्चे या अभिभावक का मूल निवास प्रमाण पत्र
- अभिभावक में से किसी एक का वोटर आई कार्ड
- बिजली, टेलीफोन, पानी का बिल, पासपोर्ट आदि।

पहली बेटी को भी अंक में शामिल किया
शिवाजी पार्क स्थित लिटिल फ्लावर्स पब्लिक स्कूल के प्रबंध निदेशक रोहित दुआ ने बताया कि इस बार पहली लड़की होने को भी दाखिला मानदंड में शामिल किया है। इसे लेकर दस अंक मिलेंगे, जबकि नेबरहुड को 70 अंक, सिबलिंग को दस और एलुमनाई को भी दस अंक शामिल किए हैं।

ये हैं मानदंड
नर्सरी में दाखिले के लिए उम्र कम से कम तीन साल और चार वर्ष से कम, केजी कक्षा के लिए पांच वर्ष से कम और पहली कक्षा के लिए छह वर्ष से कम उम्र होनी चाहिए। स्कूल प्रमुख उम्र में 30 दिन तक की छूट दे सकते हैं।

डोनेशन नहीं मांग सकेंगे
स्कूल अभिभावकों से दाखिले को लेकर डोनेशन/ कैपिटेशन फीस नहीं मांग सकेंगे। अगर कोई स्कूल ऐसा करता है तो दंडनीय कार्रवाई की जाएगी। अभिभावकों के लिए दाखिले को लेकर प्रॉस्पेक्टस की खरीद अनिवार्य नहीं है।