ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरदो साल पहले कोमा में था दिल्ली का ये लड़का, अब CBSE 12वीं बोर्ड में 93 प्रतिशत अंक किए हासिल

दो साल पहले कोमा में था दिल्ली का ये लड़का, अब CBSE 12वीं बोर्ड में 93 प्रतिशत अंक किए हासिल

CBSE board 12th result: दो साल पहले कोमा में रहने वाले दिल्ली के लड़के ने सीबीएसई बोर्ड की कक्षा 12वीं परीक्षा में 93% अंक हासिल किए हैं। बता दें, उन्हें अगस्त 2021 में उन्हें ब्रेन हैमरेज हुआ था, ज

दो साल पहले कोमा में था दिल्ली का ये लड़का, अब CBSE 12वीं बोर्ड में 93 प्रतिशत अंक किए हासिल
Priyanka Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 15 May 2024 10:05 PM
ऐप पर पढ़ें

CBSE board 12th result: सोमवार को सीबीएसई ने कक्षा 12वीं का रिजल्ट जारी किया। जिसमें 87.98% छात्रों ने सफलता हासिल की। इन्हीं छात्रों में से एक नाम माधव शरण का है, जिन्होंने कक्षा 12वीं की परीक्षा  93% अंकों के साथ पास की है। बता दें, रिजल्ट जारी होने से दो साल पहले वह कोमा में थे।

माधव शरण एमिटी इंटरनेशनल स्कूल, पुष्प विहार, नई दिल्ली के छात्र हैं, अगस्त 2021 में उन्हें ब्रेन हैमरेज हुआ था, जिसके बाद वह लगभग दस दिनों तक कोमा में रहे थे। उस समय वह कक्षा 10वीं में थे।  उनका लगभग एक-तिहाई मस्तिष्क ब्रेन हैमरेज से प्रभावित हुआ था। छोटी सी उम्र में उन्हें काफी चुनौतियों का सामना करना पड़ा था। इस दौरान उनकी स्पीच, कंप्रीहेंशन, अर्थमेटिक और राइटिंग भी प्रभावित हुई थी।

माधव के पिता दिलीप शरण ने हिन्दुस्तान टाइम्स को बताया,"माधव को कोमा अवस्था में अस्पताल लाया गया था। पहले सप्ताह तक, वह जिंदगी की लड़ाई लड़ रहा था। इस दौरान वह पूरी तरह से बोलना भूल गया था। एक माता-पिता के रूप में हमारे लिए वह काफी कठिन समय था''

पिता ने आगे कहा, अगले 12 महीनों में, माधव को मस्तिष्क से संबंधित गंभीर सर्जरी और रेडिएशन इंटरवेंशन की एक श्रृंखला से गुजरना पड़ा, जिसमें उनकी खोपड़ी (skull) से एक हड्डी के फ्लैप को हटाकर उसे छह महीने के लिए खुला छोड़ दिया गया था।

कहते हैं, भगवान के घर देर है, अंधेर नहीं। पिता ने आगे बताया, बेटे में धीरे- धीरे सुधार देखा गया है और माधव ने धीरे-धीरे बोलना शुरू किया। जिसके बाद उनकी एलिमेंट्री इंग्लिश को फिर से सीखने की प्रक्रिया लगभग एक साल तक चली थी और वह हिन्दी भाषा को रिकॉल करने की कोशिश किया करता था।

साल 2022, जुलाई के महीने में माधव ने स्कूल जाना फिर से शुरू किया था। जिसके बाद उन्होंने अपनी स्ट्रीम से साइंस से बदलकर आर्ट्स में की थी। जहां एक ओर उन्हें पढ़ाई के दौरान कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा था, वहीं रोजमर्रा की जिंदगी में भी माधव को कई मुश्किलें आ रही थी, हालांकि माधव ने हार मानी और सीबीएसई बोर्ड की तैयारी में जुट गए थे।

उनके पास कक्षा 12वीं में इंग्लिश, हिस्ट्री, पॉलिटिकल साइंस, फाइन आर्ट, फिजिकल एजुकेशन विषय थे। जिसकी तैयारी के लिए उन्होंने कमर कस ली थी। कक्षा 12वीं के रिजल्ट जारी होने के बाद परिवार में खुशी का माहौल है। बता दें,अब माधव पॉलिटिकल साइंस में हायर एजुकेशन हासिल करना चाहते हैं। उन्होंने कहा था, "मैं दिल्ली यूनिवर्सिटी की प्रवेश परीक्षा यानी CUET की तैयारी कर रहा हूं"

इस बीच, ग्रेटर नोएडा में, 19 साल की सुजाता बिधूड़ी ने कक्षा 12वीं की परीक्षा में 76% अंक हासिल किए हैं। बता दें, वह कम उम्र में सेरेब्रल पाल्सी (सीपी) से पीड़ित हो गई थी। सेरेब्रल पाल्सी (Cerebral palsy) के कारण बच्चे का विकास थम जाता है और कई शारीरिक परेशानियां होती है।

Virtual Counsellor