ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News करियरCUET: एडमिशन नहीं लेने पर रिफंड नहीं की जाती रजिस्ट्रेशन फीस, छात्र परेशान

CUET: एडमिशन नहीं लेने पर रिफंड नहीं की जाती रजिस्ट्रेशन फीस, छात्र परेशान

CUET अभ्यर्थियों ने कहा कि प्रवेश नहीं लेने पर रजिस्ट्रेशन फी वापस की जानी चाहिए। बता दें, CUET के माध्यम से किसी एक ही विश्वविद्यालय में एडमिशन मिलता है, लेकिन सीट के लिए एक से अधिक विश्वविद्यालयों म

CUET: एडमिशन नहीं लेने पर रिफंड नहीं की जाती रजिस्ट्रेशन फीस, छात्र परेशान
Priyanka Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,लखनऊSat, 25 May 2024 06:15 PM
ऐप पर पढ़ें

CUET EXAM: कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेस टेस्ट (सीयूईटी) 2024 के माध्यम से देश के सभी केन्द्रीय विश्वविद्यालय समेत 300 से अधिक संस्थानों में प्रवेश मिलेगा। स्नातक स्तर पर सीयूईटी परीक्षा 2024 पूरी हो गई है, लेकिन कानपुर के एक केंद्र पर परीक्षा का आयोजन 29 मई को किया जाएगा। सीयूईटी के माध्यम से अभ्यर्थी किसी एक ही विश्वविद्यालय में प्रवेश लेगा, लेकिन अभ्यर्थी को सीट के लिए चार या पांच विश्वविद्यालयों में पंजीकरण कराना पड़ेगा और सभी विश्वविद्यालयों में शुल्क अलग-अलग है। एक प्रवेश परीक्षा के लिए अभ्यर्थी को कई विश्वविद्यालयों में रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

सीयूईटी 2024 के माध्यम से पीजी में प्रवेश के लिए विश्वविद्यालय में रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया जारी है। वहीं सीयूईटी यूजी के लिए कई विश्वविद्यालयों ने रजिस्ट्रेशन शुरू कर दिया है। छात्रों के सामने सबसे बड़ी दुविधा ये है कि पहले सीयूईटी में शामिल होने के आवेदन फीस दी थी। उसके बाद प्राथमिकता में भरे सभी विश्वविद्यालयों में पंजीकरण कराना होगा। क्योंकि अभ्यर्थी अगर सिर्फ एक ही विश्वविद्यालय में आवेदन करता है और सीट नहीं मिलती है तो प्रवेश मुश्किल में पड़ सकता है। वहीं एक से अधिक विश्वविद्यालय में अभ्यर्थी पंजीकरण कराते हैं तो उन्हें प्रवेश तो एक ही विश्वविद्यालय में मिलेगा लेकिन सभी विश्वविद्यालय का पंजीकरण फीस देना होगी। विश्वविद्यालयों में पंजीकरण फीस 200 रुपए से लेकर आठ सौ रूपए तक हैं। सीयूईटी यूजी में 13 लाख से अधिक और पीजी में साढ़े चार लाख से अधिक आवेदन आए हैं। वहीं सीयूईटी यूजी में उत्तर प्रदेश से ही तीन लाख चालीस हजार से अधिक आवेदन है।

आवेदन फीस रिफंड मिलनी चाहिए

सीयूईटी अभ्यर्थियों का मानना है कि यदि केन्द्रीयकृत प्रवेश प्रक्रिया है तो सिर्फ एक ही फीस होना चाहिए। यदि अलग-अलग विश्वविद्यालय पंजीकरण फीस ले रहे हैं तो प्रवेश नही होने पर पंजीकरण फीस वापस करना चाहिए। एक छात्र का लगभग चार हजार रुपए सिर्फ विश्वविद्यालयों में पंजीकरण फीस के रूप में ही चला जाता है।

लखनऊ के इन विश्वविद्यालयों में मिलेगा दाखिला

सीयूईटी के माध्यम से लखनऊ में स्थित बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय (बीबीएयू) में प्रवेश मिलेगा। इसके अलावा ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती भाषा विश्वविद्यालय, डा. एपीजे अब्दुल कलाम विश्वविद्यालय (एकेटीयू) एवं डा. शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय भी सीयूईटी 2024 प्रवेश प्रक्रिया में शामिल है।

 

 

Virtual Counsellor