DA Image
26 मार्च, 2020|8:00|IST

अगली स्टोरी

कोरोना वायरस से जंग: आईआईटी बीएचयू ने फिटकरी से बनाया सेनेटाइजर, पड़ेगा 3 गुना सस्ता

hand sanitizer

फिटकरी से हम सभी लोग परिचित है। इसके एंटीसेप्टिक गुणों के बारे में भी सबको पता है, क्योंकि बचपन से ही सभी के घरों में फिटकरी किसी न किसी रूप में उपयोग होती आ रही है। घर में अमूमन इसका मुख्य स्थान शेविंग किट में है। इसका उपयोग प्रायः आफ्टर शेव के रूप में किया जाता है। यह जानकर हैरानी होगी कि आईआईटी बीएचयू ने इसके उपयोग से एक सस्ता और उच्च गुणवत्ता वाला कोरोना फाइटर हैंड सेनेटाइजर तैयार कर लिया है। यह बाजार में मिलने वाले अल्कोहलयुक्त सेनेटाइजर से करीब तीन गुना सस्ता है। इसे तैयार करना भी बहुत ही आसान है। 

आईआईटी बीएचयू के जैव रासायनिक अभियांत्रिकी स्कूल ने फिटकरी से जो हैंड सेनेटाइजर तैयार किया है, वह उच्च गुणवत्ता वाला है। प्रो. विशाल मिश्र और शोधार्थियों की टीम ने इसे आम लोगों के लिए बनाया है। बाजार में एक तो सेनेटाइजर की कमी है, वहीं इसकी कीमत भी ज्यादा होती है। इस वजह से अधिकांश लोग इसका उपयोग नहीं कर पाते। इस समय कोरोना (कोविड-19) को हराने के लिए सभी लोग अपने-अपने स्तर से प्रयास कर रहें हैं। ऐसे में बिना पानी बर्बाद किए जीवाणुओं को मारने का सबसे बेहतर विकल्प अल्कोहल युक्त सेनेटाइजर ही है। 

Covid-19:कोरोना वायरस मारने के लिए क्या है बेहतर- साबुन या सैनिटाइजर, जानें


आईआईटी बीएचयू इसका फार्मूला भी सार्वजनिक करने की तैयारी में है, ताकि लोग इसे आसानी से अपने घरों पर तैयार कर कोरोना से खुद को बचा सकें। विभाग इसे लोगों के लिए 'नो प्रॉफिट नो लॉस' की तर्ज पर लोगों के लिए तैयार करेगा। इसे बाजार में उपलब्ध कराने में अभी समय लगेगा, लेकिन जिस किसी को भी फिटकरी वाले हैंड सेनेटाइजर की जरूरत हो वह विभाग में सम्पर्क कर इसे बनाने की विधि जान सकता है। अथवा सामग्री देकर सेनेटाइजर बनवा सकता है। 

सदियों से कारगर है फिटकरी 
शेविंग के बाद इस्तेमाल की जाने वाली फिटकरी एक कारगर एंटीसेप्टिक है। इसका प्रयोग बेहतर स्वास्थ्य के लिए सदियों से किया जा रहा है। दिखने में यह चमकदार पत्थर जैसी है। फिटकरी एक रंगहीन रसायनिक पदार्थ है। इसका रासायनिक नाम पोटैशियम एल्यूमीनियम सल्फेट है, जबकि इसे अंग्रेजी में एलम कहा जाता है। प्रो. विशाल मिश्रा ने बताया कि करीब 15 सौ ईसा पूर्व फिटकरी का इस्तेमाल पानी की गंदगी को साफ करने के लिए किया गया था। 

कटने और घाव को ठीक करने के लिए भी फिटकरी के फायदे बहुत हैं। यह अस्ट्रिन्जन्ट और हेमोस्टेटिक गुणों वाला होता है। इस्तेमाल में लाना बिल्कुल आसान है और इसके लिए ज्यादा मशक्कत करने की भी जरूरत नहीं है। 

ऐसे बनाया सेनेटाइजर 
आईआईटी बीएचयू जैव रासायनिक अभियांत्रिकी स्कूल के प्रो. विशाल मिश्र ने बताया कि फिटकरी वाला सेनेटाइजर बनाने में फिटकरी का पाउडर, गुलाब जल और अब्सोल्यूट एल्कोहल के साथ थोड़ी मात्रा में पानी मिलाने की जरूरत होती है। इससे तैयार सेनेटाइजर हाथ में लगाने पर जीवाणुओं को मार देता है। हवा के सम्पर्क में आने पर यह उड़ जाता है, इसलिए हाथ चिपचिपा भी नहीं रहता है। गुलाब जल की खुशबू बनी रहती है। एक लीटर फिटकरी वाला सेनेटाइजर बनाने में करीब 430 रुपये का खर्च पड़ता है। बाजार में मिलने वाला सेनेटाइजर 12 से 18 सौ रुपये लीटर पड़ता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:coronavirus: iit bhu made cheaper sanitizer with the help of fitkari alum