ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरकक्षा 11वीं- 12वीं की पढ़ाई और UPSC NDA की तैयारी, जानें- कैसे करें बैलेंस, पढ़ें टिप्स

कक्षा 11वीं- 12वीं की पढ़ाई और UPSC NDA की तैयारी, जानें- कैसे करें बैलेंस, पढ़ें टिप्स

UPSC NDA की परीक्षा देने जा रहे हैं, तो जान लीजिए स्कूल लाइफ के साथ कैसे तैयारी कर सकते हैं और किन बातों का ध्यान रखने की जरूरत है। उम्मीदवारों को बता दें, एनडीए लिखित परीक्षा में 900 अंक होते हैं, जब

कक्षा 11वीं- 12वीं की पढ़ाई और UPSC NDA की तैयारी, जानें- कैसे करें बैलेंस, पढ़ें टिप्स
Priyanka Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 27 Feb 2024 01:17 PM
ऐप पर पढ़ें

UPSC NDA Exam 2024: भारतीय सेना में भर्ती के लिए आयोजित होने वाली नेशनल डिफेंस एकेडमी यानी UPSC NDA की परीक्षा में शामिल होने के लिए छात्रों ने कक्षा 12वीं पास की हो, वहीं भारतीय नौसेना और एयरफोर्स में भर्ती के लिए छात्रों के पास 12वीं में फिजिक्स और मैथ्स होना जरूरी है। आइए जानते हैं UPSC NDA के लिए कब से तैयारी शुरू कर देनी चाहिए और स्कूल लाइफ के साथ कैसे  टाइम मैनेज करें।

आपको बता दें, एनडीए लिखित परीक्षा में 900 अंक होते हैं, जबकि एसएसबी इंटरव्यू में 900 अंकों के बराबर वेटेज होता है। इसलिए, तैयारी के लिए एक उम्मीदवार के पास पर्याप्त समय का होना जरूरी है।

आइए विस्तार से जानते हैं, 11वीं और 12वीं कक्षा की पढ़ाई और NDA की तैयारी के बीच कैसे बैलेंस बनाएं

संतुलन हासिल करने पर सेंचुरियन डिफेंस अकादमी के अनुभवी संस्थापक-निदेशक शिशिर दीक्षित ने बताया, उम्मीदवारों को  समाचार पत्रों को पढ़ना चाहिए और देश से जुड़ी हर जरूरी खबरों पर नजर रखनी चाहिए। इसी के साथ ग्लोबल इवेंट्स पर अपडेट रहने को भी प्राथमिकता देनी चाहिए। एनडीए की तैयारी के दौरान मोबाइल फोन के उपयोग को कम करने के साथ एक अनुशासित दिनचर्या बनाए रखने के लिए स्वस्थ नाश्ते, मैन्युअल पढ़ने और ऑफ़लाइन कक्षाओं में भाग लेने पर ध्यान देने की सलाह दी जाती है।

- छात्रों को सलाह दी जाती है, कि वह स्कल से लौटरकर  एनडीए की तैयारी के लिए 3 से 4 घंटे का समय निकाले, जिसमें फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथेमेटिक्स से परे विषय जैसे इंग्लिश, जीएटी और पिछले वर्षों के प्रश्नपत्रों का प्रयास करना शामिल है। इसके अलावा, छात्रों को फिजिकल एक्टिविटी और गेम्स के लिए रोजाना एक घंटा निकालने की सलाह दी जाती है।

- एनडीए परीक्षा के कठिनाई स्तर को समझना महत्वपूर्ण है। इसलिए छात्रों को सलाह दी जाती है, वह अच्छे से सिलेबस के बारे में जान लें, उसके बाद ही तैयारी शुरू करें। बिना सिलेबस को पढे बिना तैयारी शुरू करना समय की बर्बादी होगी।

- छात्रों को सलाह दी जाती है, फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथेमेटिक्स के प्रश्नों को हल करते हुए एक शॉर्ट नोट जरूर बनाएं, ताकि लास्ट मिनट की तैयारी में काम आ सके। ये नोट्स छात्रों के बोर्ड परीक्षा के दौरान भी काम आ सकते हैं और UPSC NDA की तैयारी के लिए भी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें