DA Image
Wednesday, December 8, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरBSEB Bihar board 12th Result 2017: इंटर में 35% परीक्षार्थी ही पास, टॉपर घोटाले के बाद रिजल्ट में भारी गिरावट

BSEB Bihar board 12th Result 2017: इंटर में 35% परीक्षार्थी ही पास, टॉपर घोटाले के बाद रिजल्ट में भारी गिरावट

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्ली, Madan.tiwari
Thu, 01 Jun 2017 01:58 PM
12वीं में कुल 65 फीसदी छात्र फेल
1/3

12वीं में कुल 65 फीसदी छात्र फेल

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने मंगलवार को इंटरमीडिएट का रिजल्ट जारी कर दिया। तीनों संकायों के रिजल्ट में भारी गिरावट हुई है। इस बार साइंस, आर्ट्स और कॉमर्स तीनों को मिलाकर सफलता का कुल प्रतिशत 35.24 रहा है। रिजल्ट में गिरावट का कारण परीक्षा में सख्ती और कॉपी के मूल्यांकन में विशेष निगरानी माना जा रहा है। इस साल बिहार बोर्ड की 12वीं की परीक्षाएं देने वाले छात्र-छात्राएं इस लिंक पर क्लिक कर रिजल्ट देख सकते हैं।

इंटर के तीनों संकायों को मिलाकर 12,40,168 छात्र परीक्षा में शामिल हुए थे। इसमें पास करने वाले कुल परीक्षार्थियों की संख्या 4,37,115 रही। पिछले वर्ष टॉपर घोटाला के उजागर होने के बाद परीक्षा और मूल्यांकन में सख्ती बरती गई थी। इसका असर रिजल्ट पर साफ दिख रहा है। 

इंटर साइंस के रिजल्ट को देखा जाए तो सिर्फ 30.11 फीसदी परीक्षार्थी ही सफल हो पाए हैं। आर्ट्स में 37.13 फीसदी और कॉमर्स में 73.76 फीसदी छात्रों को सफलता मिली है। 2016 में तीनों संकायों को मिलाकर कुल 62.19 फीसदी छात्र सफल हुए थे। रिजल्ट में गड़बड़ी की शिकायत : बोर्ड की ओर से रिजल्ट जारी होने के बाद इसमें गड़बड़ियां भी सामने आ रही हैं। सबसे ज्यादा ऐसे छात्रों की शिकायत है जिन्हें फिजिक्स और केमिस्ट्री में कम नंबर आए हैं। कई छात्रों को इन विषयों में 2 और 3 नंबर आए हैं। 

12वीं में कुल 65 फीसदी छात्र फेल

देखें फेल और पास होने वाले छात्रों के आंकड़े-
कॉमर्स में कुल 60022 छात्रों ने परीक्षा में भाग लिया   और पास हुए 43816

साइंस में कुल 646231 छात्रों ने परीक्षा में भाग लिया  और पास हुए 193869

आर्ट्स में कुल 533915 छात्रों ने परीक्षा में भाग लिया  और पास हुए 197548

टोटल छात्र- 1240168 छात्र

पास हुए कुल छात्र - 435233 कुल

कुल पास हुए बच्चों का पास प्रतिशत है- 35%

बिहार बोर्ड (BSEB) के नतीजे जारी होते ही वेबसाइट www.livehindustan.com पर भी देखे जा सकते हैं। लाइव हिन्दुस्तान साइट पर रिजल्ट देखने के लिए छात्र इस लिंक पर क्लिक कर अपना रिजल्ट चेक कर सकते हैं। सबसे पहले छात्रों को अपना मोबाइल नंबर और रोल नंबर डालना होगा। इसके बाद इसके सब्मिट करने के बाद रिजल्ट आ जाएंगे।

जबकि गणित में इन छात्रों को 60 से 65 अंक आए हैं। ऐसे छात्र और उनके अभिभावक मूल्यांकन पर सवाल उठा रहे हैं। उनका कहना है कि अनुमान पर भी वैकल्पिक प्रश्नों को हल किया जाए तो भी दो और तीन से ज्यादा नंबर आएंगे। सख्ती के कारण गिरा रिजल्ट : शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव आरके महाजन और बिहार बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने रिजल्ट जारी किया। प्रधान सचिव ने कहा कि गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए सख्ती जरूरी है। पहली बार को¨डग का इस्तेमाल किया गया। इसका असर रिजल्ट में देखा गया। रिजल्ट जारी करते वक्त बोर्ड के सचिव अनूप कुमार, माध्यमिक के निदेशक राजीव रंजन सहित कई लोग मौजूद थे। 

उत्तीर्ण न हो पाने वाले विद्यार्थियों का भविष्य खराब नहीं हो इसके लिए एक से डेढ़ माह में कंपार्टमेंटल परीक्षा लेकर उसका रिजल्ट दे दिया जाएगा।-अशोक चौधरी, शिक्षा मंत्री

जिस तरह से परीक्षा ली गई परिणाम ठीक उसी के अनुरूप आया है। आने वाले दिनों में इसी तरह से परीक्षा ली जाएगी। - आनंद किशोर, बोर्ड अध्यक्ष

 


ये भी पढ़ें: आज आएंगे उत्तराखंड बोर्ड के 10वीं-12वीं के नतीजे, uaresults.nic.in पर देखें
बिहार बोर्ड इंटरमीडिएट (साइंस) 2017 का रिजल्ट, क्लिक कर देखें
बिहार बोर्ड इंटरमीडिएट (कॉमर्स) 2017 का रिजल्ट, क्लिक कर देखें
बिहार इंटरमीडिएट (आर्ट्स) 2017 का रिजल्ट, क्लिक कर देखें

BSEB 12th Result 2017:टॉप रैंकिंग से खुश है खुशबू पर परसेंटेज से नाराजगी

 

 

इंटर साइंस में टॉपर बनी खुशबू
2/3

इंटर साइंस में टॉपर बनी खुशबू

बिहार बोर्ड के तीनों संकायों में सबसे ज्यादा अंक सिमुलतला आवासीय विद्यालय, जमुई की खुशबू को आया है। टॉप टेन की सूची में साइंस में 19, कॉमर्स में 21 व आर्ट्स में 11 छात्र-छात्रओं के नाम हैं। 

इंटर साइंस : सिमुलतला आवासीय विद्यालय की खुशबू कुमारी टॉपर है। उसे 86.2 फीसदी अंक मिले हैं। खुशबू औरंगाबाद के मदनपुर की रहनेवाली है। 

इंटर कॉमर्स : इस संकाय में कॉलेज ऑफ कॉमर्स पटना के प्रियांशु जायसवाल राज्य में सबसे ज्यादा अंक लाए हैं। प्रियांशु को 81.86} अंक मिले हैं। 

इंटर आर्ट्स : इस संकाय में समस्तीपुर के उत्क्रमित उच्च विद्यालय चाकहबीब के गणोश कुमार 82.6} अंक लाकर टॉप पर रहे।

गया की पल्लवी राज्य में कॉमर्स में दूसरे स्थान पर रही हैं। गया कॉलेज गया की छात्रा हैं। 

बिहार बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर और  प्रधान सचिव आरके महाजन ने रिजल्ट जारी किया। बोर्ड अध्यक्ष ने साइंस टॉपर को खुद फोन कर बधाई दी है।

 
इससे पहले सोमवार को बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि समिति द्वारा इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा 2017 के तीनों संकाय और विज्ञान, वाणिज्य,कला (Science, Commerce and Arts) के परीक्षाफल का प्रकाशन 30 मई, 2017 को किया जाएगा। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति इन परीक्षाओं का आयोजन कराती है।

इंटर में 12 लाख से अधिक छात्रों ने भरा परीक्षा फॉर्म
3/3

इंटर में 12 लाख से अधिक छात्रों ने भरा परीक्षा फॉर्म

इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा 2017 में कुल 12 लाख 56 हजार 507 परीक्षार्थियों ने परीक्षा फॉर्म भरा है। पिछले साल इंटर में असफल छात्रों ने भी इस बार फॉर्म भरा है। उनकी संख्या दो लाख 33 हजार 43 है। पिछले वर्ष की तुलना में देखा जाए तो इस बार एक लाख पांच हजार अधिक छात्र-छात्राएं परीक्षा में शामिल होंगे। इंटर साइंस की परीक्षा में 5 लाख 60 हजार से ज्यादा परीक्षार्थी शामिल हुए। इसमें लड़कों की संख्या चार लाख नौ हजार तो लड़कियों की संख्या एक लाख 51 हजार से अधिक थीं। पिछले वर्ष की तुलना में इस बार इंटर की परीक्षा में एक लाख से अधिक छात्र शामिल हो रहे हैं।
ये भी पढ़ें: Jharkhand Board Result 2017: 10वीं, 12वीं के रिजल्ट आज होंगे जारी, jac.nic.in पर देखें

नकल को रोकने के लिए किए गए थे कई उपाय
वहीं 12वीं की परीक्षाएं फरवरी में हुई थीं। आपको बता दें कि राज्य सरकार ने साल 2017 में परीक्षा में नकल रोकने के लिए कई उपाय किए गए थे। बोर्ड परीक्षा में छात्र नकल न कर सकें, इसके लिए वीडियोग्राफी कराई गई थी। इसके अलावा पहली बार इन परीक्षाओं में बार कोडिंग सिस्टम भी शुरू किया गया था। यह भी कहा जा रहा था कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति पहली बार कॉपियों का डिजिटल मूल्यांकन कराएगी। हालांकि कम्पार्टमेंट परीक्षा की कॉपियों का मूल्यांकन डिजिटल हुआ था। लेकिन शिक्षकों को कंप्यूटर की दक्षता न होने और शिक्षकों की कमी के कारण मूल्यांकन की प्रक्रिया में परेशानियां हुई थी। 

इंटर और मैट्रिक में फर्स्ट टॉपर को एक-एक लाख
इंटर और मैट्रिक टॉपरों में पहला स्थान पानेवाले को एक-एक लाख का पुरस्कार दिया जाएगा। वहीं इंटर और मैट्रिक में दूसरे और तीसरे स्थान पानेवाले को क्रमश: 75 हजार और 50 हजार दिए जाएंगे। साथ ही लैपटॉप और किंडल ई बुक रीडर भी दिए जाएंगे। सोमवार को बिहार बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने इसकी घोषणा की। 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें