ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरCBSE : सीबीएसई 10वीं 12वीं में इंटरनल और प्रैक्टिकल में पास करना अनिवार्य

CBSE : सीबीएसई 10वीं 12वीं में इंटरनल और प्रैक्टिकल में पास करना अनिवार्य

सीबीएसई 10वीं-12वीं में आंतरिक और प्रायोगिक परीक्षा में पास करना जरूरी है। आंतरिक मूल्यांकन में पास करने को अलग से 33 फीसदी अंक चाहिए। सैद्धांतिक परीक्षा में पास करने के लिए 33 फीसदी अंक चाहिए।

CBSE : सीबीएसई 10वीं 12वीं में  इंटरनल और प्रैक्टिकल में पास करना अनिवार्य
Pankaj Vijayवरीय संवाददाता,पटनाThu, 30 Nov 2023 01:02 PM
ऐप पर पढ़ें

सीबीएसई की 10वीं-12वीं में आंतरिक और प्रायोगिक परीक्षा में पास करना जरूरी है। आंतरिक मूल्यांकन में पास करने को अलग से 33 फीसदी अंक चाहिए। वहीं सैद्धांतिक परीक्षा में पास करने के लिए 33 फीसदी अंक चाहिए। यह व्यवस्था वर्ष 2024 की बोर्ड परीक्षा में लागू की जाएगी। बता दें कि 12वीं बोर्ड के प्रायोगिक परीक्षा में पास करने के लिए 33 फीसदी अंक चाहिए होता है। यानी 12वीं बोर्ड में 70 अंक के सैद्धांतिक परीक्षा में पास करने के लिए 33 फीसदी अंक चाहिए। वहीं 30 अंक के प्रायोगिक परीक्षा में भी पास करने के लिए अलग से 33 फीसदी अंक चाहिए। बोर्ड के अनुसार 12वीं में यह व्यवस्था वर्ष 2023 से लागू की गयी। लेकिन दसवीं बोर्ड में इस वर्ष से यह व्यवस्था लागू की जा रही है।

बोर्ड के अनुसार कोरोना काल में वर्ष 2020 से 2023 तक यह छूट दसवीं बोर्ड में दी गयी थी। लेकिन अब इसे समाप्त कर दिया गया है।

बोर्ड के अनुसार दिसंबर से जनवरी तक प्री बोर्ड आयोजित होगा। सभी स्कूलों को प्री बोर्ड भी इस पैटर्न पर लेने का निर्देश दिया गया है। बता दें कि कई स्कूल दसवीं के आंतरिक मूल्यांकन में लापरवाही करते हैं। आंतरिक मूल्यांकन पूरे साल भर के लिए होता है। इसमें प्रत्येक छात्र की स्कूल उपस्थिति से लेकर उनके अनुशासन, गतिविधियों आदि पर स्कूल द्वारा अंक दिये जाते हैं। जो अंक छात्रों को मिलता है, उसे बोर्ड को भेजा जाता है। आंतरिक मूल्यांकन प्रत्येक विषय में 20 अंकों का होता है। वहीं 12वीं में बिना प्रैक्टिकल वाले विषय में आंतरिक मूल्यांकन 20 अंक का होता है। वहीं प्रैक्टिकल वाले विषय में 30 अंक का प्रायोगिक परीक्षा ली जाती है।

33 फीसदी से कम अंक आने पर हो जायेंगे फेल
दसवीं और 12वीं में 33 फीसदी अंक लाना जरूरी है। जो छात्र प्रायोगिक परीक्षा और सैद्धांतिक परीक्षा में अलग-अलग 33 फीसदी अंक नहीं लाते है तो वो फेल समझे जाएंगे। बता दें कि दसवीं का आंतरिक मूल्यांकन और 12वीं की प्रायोगिक परीक्षा एक जनवरी से 15 फीसदी 2024 तक चलेगा। परीक्षा होने के साथ ही सभी स्कूलों को ऑनलाइन अंक भेजना है। इससे सैद्धांतिक परीक्षा के पहले प्रायोगिक परीक्षा का रिजल्ट तैयार हो सके।

दसवीं के आंतरिक मूल्यांकन में अब पास करना जरूरी होगा। आंतरिक मूल्यांकन में पास करने को 33 फीसदी अंक चाहिए। वहीं सैद्धांतिक परीक्षा में भी पास करने के लिए अलग से 33 फीसदी अंक चाहिए। इसी बार से यह व्यवस्था लागू होगी।-  ग्लेंडा गल्स्टॉन, सिटी को-ऑर्डिनेटर, सीबीएसई

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें