DA Image
29 अक्तूबर, 2020|2:29|IST

अगली स्टोरी

CBSE : सीबीएसई बोर्ड के 20 फीसदी छात्रों ने 10वीं के बाद छोड़ दिया अपना स्कूल, जानें वजह

cbse school

कोरोना ने निजी स्कूल के प्रति छात्रों की रुचि कम कर दी है। छात्र निजी स्कूल छोड़ अब सरकारी स्कूल में एडमिशन ले रहे हैं। कुछ ऐसा ही इस बार बिहार में 11वीं एडमिशन के दौरान देखा जा रहा है। सिर्फ सीबीएसई स्कूल की बात करें तो 15 से 20 फीसदी छात्रों ने दसवीं करने के बाद 11वीं में अपने स्कूल में एडमिशन नहीं लिया है। ऐसे छात्र सरकारी स्कूल में 11वीं में एडमिशन लिए है।

सीबीएसई सहोदया कांप्लेक्स और एसोसिएशन ऑफ इंडिपेंडेंट स्कूल्स बिहार के रिपोर्ट की मानें तो प्रदेशभर के ज्यादातर स्कूल के छात्र 11वीं में एडमिशन अपने स्कूल में नहीं लेकर सरकारी स्कूल में लिया है। इंटरनेशनल स्कूल की बात करें तो स्कूल के 20 से 25 छात्रों ने 11वीं में एडमिशन नहीं लिया। वहीं डीएवी में भी दस के लगभग छात्रों ने 11वीं में एडमिशन नहीं लिया है। यह स्थिति कोई इन दो स्कूलों की नहीं बल्कि तमाम स्कूलों की है। कोरोना के कारण स्कूल बंद है। स्कूल द्वारा 11वीं में एडमिशन तो अगस्त में लिया गया लेकिन स्कूलों ने अप्रैल से ही पूरी फीस ले लिया। बहुत से अभिभावक एक साथ इतना फीस देने में समर्थ नहीं थे।

बिना लिखित परीक्षा के एडमिशन 
निजी स्कूल ने कोरोना के कारण 11वीं एडमिशन के नियम में बदलाव किया था। नॉट्रेडम एकेडमी, सेंट माइकल, डीएवी बीएसईबी जैसे स्कूल में बिना लिखित परीक्षा के 11वीं में एडमिशन लिया था। केवल इंटरव्यू और अंक प्रतिशत के आधार पर एडमिशन लिया गया। इसके बावजूद छात्रों ने एडमिशन में रुचि नहीं दिखायी। 

- कोरोना काल में स्कूल लगातार बंद है, इसके बावजूद स्कूलों ने फीस लिया है 
- बिहार बोर्ड में 12वीं बोर्ड 2020 की परीक्षा समय से लिया गया और रिजल्ट समय पर दिया गया 
- बोर्ड ने जारी की 2021 के इंटर परीक्षा की तिथि 
- सरकारी स्कूल में एडमिशन फीस बहुत कम लगता है 
- सरकारी स्कूल में एडमिशन लेने के बाद एटेंडेंस पूरा करना जरूरी नहीं है 

CBSE 10th 12th Exam 2021 : सीबीएसई ने दी बड़ी राहत, इन छात्रों को मिलेगा पास होने का एक और मौका

सीबी सिंह (अध्यक्ष, एसोसिएशन ऑफ इंडिपेंडेंट स्कूल्स बिहार) ने कहा, इस बार 15 से 20 फीसदी छात्रों ने सीबीएसई छोड़ कर 11वीं में सरकारी स्कूल में एडमिशन लिया है। सरकारी स्कूल में एडमिशन लेने के बाद छात्र रिलैक्स हो जाते हैं। उन्हें अटेंडेंस पूरा करने की चिंता नहीं होती है।   

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:CBSE Board : 20 percent cbse students drop school after passing 10th took admission in bseb bihar board government school