DA Image
10 जुलाई, 2020|4:12|IST

अगली स्टोरी

सीबीएसई 10वीं बोर्ड परीक्षा पास करने के लिए छात्रों को मिलेंगे कई मौके

cbse 10th exam

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) द्वारा सत्र 2020-21 से 10वीं बोर्ड में पास करने को कई मौके दिये जायेंगे। अगर छात्र तीन अनिवार्य विषय (गणित, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान) में से किसी एक में असफल रहते हैं तो छात्र अपने छठे विषय से उसे रिप्लेस कर पायेंगे, बशर्ते की छठा विषय कोई स्कील सब्जेक्ट हो। इसके अलावा अगर दो अनिवार्य भाषा (हिन्दी और अंग्रेजी) में फेल होते हैं तो अगर छठे विषय के तौर पर तीसरी भाषा लिया हो तो उसे रिप्लेस कर सकेंगे। उन्हें पास कर रिजल्ट मिलेगा। इतना ही नहीं बोर्ड छात्रों को उस अनिवार्य विषय में पास करने का मौका भी कंपार्टमेंट में देगा। छात्र अपना अनिवार्य विषय के अंक में सुधार कंपार्टमेंट देकर कर सकते हैं। 

ज्ञात हो कि यह सुविधा अगले सत्र में शामिल होने वाले छात्रों को मिलेगा। इसकी जानकारी सभी स्कूलों को दी जा रही हैं। बोर्ड ने छठे विषय के तौर पर स्कील विषय को शामिल किया है। इसके तहत छात्र 28 तरह के स्कील विषय को पढ़ पायेंगे। इसके अलावा 41 भाषा पढ़ने का मौका दिया है। स्कील सब्जेक्ट और तीसरी भाषा लेकर छात्र अपने रिजल्ट में सुधार कर पायेंगे।

सीबीएसई 10वीं 12वीं कक्षा के प्रश्न पत्र के पैटर्न में किए गए ये बदलाव

- 28 तरह के स्किल विषय दिये गये हैं
- 41 भाषा में भी एक के चयन का मौका

अंग्रेजी और हिन्दी में हो जाते हैं फेल 
बोर्ड की मानें तो कई बच्चे बांकी विषयों में अच्छे अंक लाते हैं, लेकिन भाषा विषय पर उनकी पकड़ खराब होने से कई बार भाषा में ही फेल हो जाते हैं। इसमें अंग्रेजी के साथ हिन्दी भी शामिल है। ऐसे छात्र का साल बर्बाद ना हो, इसके लिए तीसरी भाषा को रिप्लेस करने का मौका दिया जा रहा है। इसके साथ वो कंपार्टमेंट देकर अंग्रेजी या हिन्दी जिसमें फेल होंगे उसे भी सुधार पायेंगे। बोर्ड के परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने कहा कि यह छात्रों के हित को देखते हुए किया गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:CBSE 10th Exams : cbse board class 10 students will get log off opportunity to pass matric exam read this new cbse subjects scheme