CBSE 10th 12th Exam 2019: class 10 and class 12 students will not be expelled - CBSE 10th 12th Exam 2019: निकाले नहीं जाएंगे परीक्षार्थी, दोबारा दिलवायी जा रही परीक्षा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

CBSE 10th 12th Exam 2019: निकाले नहीं जाएंगे परीक्षार्थी, दोबारा दिलवायी जा रही परीक्षा

cbse results 2018

CBSE 10th 12th Exam 2019:  सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा के दौरान परीक्षार्थियों को निष्कासित नहीं करने का निर्देश दिया है। बोर्ड के निर्देश के बाद सभी केंद्रों पर इसका ख्याल रखा जा रहा है। परीक्षा के दौरान नकल करते छात्र पकड़े तो जा रहे हैं, लेकिन उन्हें निष्कासित नहीं किया जा रहा है। नकल के बाद परीक्षार्थियों को दुबारा परीक्षा दिलवायी जा रही है। 

परीक्षा के दौरान नकल करते पकड़ में आने के बाद छात्र से कॉपी ले ली जाती है। फिर उन्हें दूसरे कमरे में ले जाया जाता है। इसके बाद छात्र को दुबारा उत्तर पुस्तिका दी जाती है। छात्र दुबारा परीक्षा दे रहे हैं। परीक्षा के बाद ऐसे छात्रों की दोनों उत्तर पुस्तिकाओं को लिफाफे में सीलबंद किया जाता है। इसके बाद स्पीड पोस्ट से लिफाफे को सीधा बोर्ड को भेजा जा रहा है। ज्ञात हो कि बोर्ड ने पहली बार यह नियम बनाया है। 2018 तक निष्कासित छात्रों को परीक्षा नहीं देने दिया जाता था। 

जांच कमेटी लेगी निर्णय: जो छात्र नकल करते पकड़े गये हैं, उनकी कॉपी की जांच के लिए एक कमेटी बनायी गयी है। यह कमेटी दोनों कॉपियों को देखेगी। इसकी पूरी जांच के बाद निर्णय लिये जाएंगे कि छात्र को रिजल्ट दिया जायेगा कि नहीं। प्रदेशभर में अभी तक 24 परीक्षार्थियों को नकल करते पकड़ा गया है। दो मार्च से 12वीं और सात मार्च से 10वीं बोर्ड की परीक्षा शुरू है। बोर्ड की मानें तो 2018 में 477 परीक्षार्थी निष्कासित हुए थे। निष्कासित होने के बाद छात्रों में डिप्रेशन आ जाता है। नकल रोकने का मकसद छात्रों को कदाचार की आदत छुड़ानी है। लेकिन इसका बुरा असर छात्रों पर होता है। इस कारण छात्रों को निष्कासन नहीं करने बल्कि दुबारा परीक्षा में शामिल होने का मौका दिया जा रहा है। 

CBSE: 12वीं के मैथ्स में भी होगा 20 अंकों का इंटरनल असेसमेंट

नॉट्रेडम एकेडमी में केमेस्ट्री विषय की परीक्षा के दौरान एक छात्र नकल करते पकड़ा गया। छात्र के पास चिट-पुर्जे थे। पकड़े जाने के बाद छात्र को फिर दुबारा उत्तर पुस्तिका दी गयी। फिर दुबारा उसने परीक्षा दी। परीक्षा समाप्त होने के बाद छात्र की दोनों कॉपियों को एक लिफाफा में बंद कर बोर्ड को भेज दिया गया। 

केस.- 1
डीएवी में फिजिक्स विषय की परीक्षा में दो छात्र नकल करते पकड़े गये। परीक्षा शुरू होने के आधे घंटे के बाद दोनों के पास चिट-पुर्जे मिले। पकड़ में आने के बाद दोनों को दूसरे कमरे में ले जाया गया। फिर इन्हें दूसरी कॉपी दी गयी। इसके बाद दोनों ने दुबारा परीक्षा दी। 

सीबीएसई: आठवीं से 12वीं तक के 47.7 फीसदी विद्यार्थी रहते हैं तनाव में

केस.- 2
नॉट्रेडम एकेडमी में केमेस्ट्री विषय की परीक्षा के दौरान एक छात्र नकल करते पकड़ा गया। छात्र के पास चिट-पुर्जे थे। पकड़े जाने के बाद छात्र को फिर दुबारा उत्तर पुस्तिका दी गयी। फिर दुबारा उसने परीक्षा दी। परीक्षा समाप्त होने के बाद छात्र की दोनों कॉपियों को एक लिफाफा में बंद कर बोर्ड को भेज दिया गया। 

संयम भारद्वाज (परीक्षा नियंत्रक, सीबीएसई) ने कहा- निष्कासन के बाद बच्चों के अंदर हीन भावना आ जाती है। इस कारण इस बार अगर किसी छात्र के पास चिट-पुर्जे मिलते हैं तो वो लेने के बाद दूसरी कॉपी पर उसकी परीक्षा ली जा रही है। ऐसे छात्रों की कॉपियों को सीधा बोर्ड के पास भेजना है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CBSE 10th 12th Exam 2019: class 10 and class 12 students will not be expelled