BTech : जॉब के साथ कर सकेंगे बीटेक, AKTU समेत यूपी के इन 8 कॉलेजों में शुरू होगा कोर्स

एकेटीयू से जुड़े 8 संस्थानों में नौकरीशुदा व्यक्तियों के लिए बीटेक कोर्स शुरू किया जाएगा। मार्च के दूसरे सप्ताह में कार्य परिषद की बैठक बुलाकर चयनित संस्थानों को संबद्धता प्रदान की जाएगी।

offline
BTech : जॉब के साथ कर सकेंगे बीटेक, AKTU समेत यूपी के इन 8 कॉलेजों में शुरू होगा कोर्स
Pankaj Vijay संवाददाता , लखनऊ
Wed, 28 Feb 2024 7:27 AM

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय से जुड़े आठ संस्थानों में नौकरीशुदा व्यक्तियों के लिए बीटेक कोर्स शुरू किया जाएगा। मार्च के दूसरे सप्ताह में कार्य परिषद की बैठक बुलाकर चयनित संस्थानों को संबद्धता प्रदान की जाएगी। इसके बाद यह संस्थान प्रवेश ले सकेंगे। एकेटीयू से संबद्ध ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद, मेरठ, मुरादाबाद और लखनऊ के आठ कॉलेजों में बीटेक फॉर वर्किंग प्रोफेशनल्स कोर्स की शुरुआत होगी। सत्र की शुरुआत अप्रैल माह से तय माना जा रहा है। कॉलेज की ओर से ऑफर किए जा रहे इस कोर्स को फुल टाइम की मान्यता प्राप्त है। इसमें चार साल की पढ़ाई पूरी करने के बाद डिग्री मिलेगी। इस कोर्स के लिए प्राविधिक विश्वविद्यालय से संबद्ध कॉलेज 30 से ज्यादा सीटों पर प्रवेश ले सकेंगे।

कुलपति प्रोफेसर जेपी पांडेय ने बताया कि कॉलेज की ओर से दी जाने वाली सीटें पहले से स्वीकृत सीटों में नहीं जोड़ी जाएंगी। उन्होंने बताया कि जनवरी माह में आयोजित संबद्धता समिति की बैठक में कोर्स की प्रवेश, फीस व परीक्षा समेत अन्य रूपरेखा तय कर दी गई है।

इन कॉलेजों में कोर्स शुरू किए जाएंगे
- ग्रेटर नोएडा गलगोटिया आईटीएस, नोएडा इंस्टीट्यूट।
- गाजियाबाद एबीईएसईसी, आईपैक।
- मेरठ, एमआईईटी।
- मुरादाबाद, मुरादाबाद इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी।
- लखनऊ, रामस्वरूप कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड मैनेजमेंट में दाखिलों की प्रक्रिया जल्द शुरू की जाएगी।

- 30 से ज्यादा सीटों पर संबद्ध कॉलेज ले सकेंगे दाखिले

- 08 संस्थानों में नौकरी करने वाले कर सकेंगे बीटेक कोर्स

आईपीआर, डिजाइन पेटेंट के बारे में जानकारी दी
इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (आईईटी) के नवयुग नवाचार फाउंडेशन और इंस्टिट्यूशंस इनोवेशन काउंसिल की ओर से इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट एंड आईपी मैनेजमेंट फॉर स्टार्टअप वर्कशॉप का आयोजन हुआ। मुख्य वक्ता एलएलपी फर्म के आईपी अटॉर्नी ईशान तिवारी रहे। उन्होंने छात्रों और स्टार्टअप को आईपीआर, पेटेंट, कॉपीराइट, ट्रेडमार्क, ज्योग्राफिकल इंडिकेशंस लेने के बारे में जानकारी दी। इंक्यूबेशन सेंटर की प्रोफेसर इंचार्ज डॉ. सीतालक्ष्मी ने नवयुग नवाचार फाउंडेशन के कार्यो और स्टार्टअप्स को सहायता के बारे में विस्तार से जानकरी साझा की। डॉ. पुष्कर ने आईपीआर का महत्व बताया।

ऐप पर पढ़ें

करियर की अगली ख़बर पढ़ें
Btech BTech Student Aktu
होमफोटोवीडियोफटाफट खबरेंएजुकेशनट्रेंडिंग ख़बरें