ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरHBSE 10th Result 2020 : BSEH हरियाणा बोर्ड 10वीं रिजल्ट जारी, ऋषिता ने किया टॉप, ये रहा Direct Link

HBSE 10th Result 2020 : BSEH हरियाणा बोर्ड 10वीं रिजल्ट जारी, ऋषिता ने किया टॉप, ये रहा Direct Link

HBSE BSEH Haryana Board 10th Result 2020 : हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने शुक्रवार देर शाम कक्षा 10वीं का परीक्षा परिणाम ( Haryana Board 10th Result 2020 ) जारी कर दिया गया। स्टूडेंट्स अपना...

HBSE 10th Result 2020 : BSEH हरियाणा बोर्ड 10वीं रिजल्ट जारी, ऋषिता ने किया टॉप, ये रहा Direct Link
हिन्दुस्तान टीम,फरीदाबाद गुड़गांवSat, 11 Jul 2020 07:27 AM
ऐप पर पढ़ें

HBSE BSEH Haryana Board 10th Result 2020 : हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने शुक्रवार देर शाम कक्षा 10वीं का परीक्षा परिणाम ( Haryana Board 10th Result 2020 ) जारी कर दिया गया। स्टूडेंट्स अपना रिजल्ट bseh.org.in या results.bseh.org.in पर जाकर देख सकते हैं। नियमित परीक्षार्थियों का परीक्षा परिणाम 64.59 फीसदी रहा। पूरे राज्य में हिसार की ऋषिता ने टॉप किया। हिसार से ही उमा, कल्पना, स्नेह, निकिता, मारुति ने दूसरे स्थान पर जगह बनाई। जबकि हिसार से चहक व गर्विता, जींद से रोहित, रेवाड़ी से किरन, कैथल से भूमिका व सलोनी ने तीसरा स्थान पाया है। मेरिट लिस्ट में पहले तीन स्थानों पर 15 स्टूडेंट्स हैं।

Result Direct Link

हरियाणा बोर्ड की परीक्षाओं में भी छात्राओं ने ही बाजी मारी। लड़कियों का पास प्रतिशत 69.86 रहा और 60.27 प्रतिशत लड़के पास हुए। लड़कियों ने लडक़ों से 9.59 फीसदी ज्यादा पास प्रतिशत देकर बढ़त हासिल की है। वहीं व्यक्तिगत परीक्षार्थियों का परिणाम 62.38 फीसदी रहा है। हरियाणा बोर्ड के वर्ष 2019 के परिणाम की बात करें तो बीते वर्ष भी छात्राओं ने बाजी मारी थी। परीक्षा में कुल 57.39 फीसद विद्यार्थी पास हुए थे। लड़कियों का पास प्रतिशत 62.17 था, जबकि लड़कों का पास प्रतिशत 53.43 रहा था। बता दें कि इस सत्र में 10वीं बोर्ड की परीक्षाओं में विज्ञान और वैकल्पिक विषयों के पेपर कोरोना संक्रमण के कारण नहीं हो पाए थे। इसको लेकर काफी दिनों तक असमंजस की हालत बनी रही। बाद में हरियाणा सरकार ने सभी परीक्षाएं रद कर दीं। अब इन विषयों के औसत अंक के आधार पर रिजल्ट जारी कर दिया है।

BSEH 10th Toppers 2020 ( पहले तीन स्थानों पर 15 स्टूडेंट्स को मिली जगह)
रैंक 1 - ऋषिता - नारनौंद, हिसार (500 में से 500 मार्क्स) 
रैंक 2 -  उमा - नारनौंद, हिसार (500 में से 499 मार्क्स) 
रैंक 2 -  कल्पना - नारनौंद, हिसार (500 में से 499 मार्क्स) 
रैंक 2 - निकिता मारुति सावंत, हिसार (500 में से 499 मार्क्स) 
रैंक 2 - स्नेह , नारनौंद, हिसार (500 में से 499 मार्क्स) 
रैंक 2 - अंकिता, खांड़ा खेड़ी, हिसार (500 में से 499 मार्क्स) 
रैंक 3 - चहक, नारनौंद(हिसार) (500 में से 498 मार्क्स) 
रैंक 3 - रोहित, उचाना मंडी (जीन्द) (500 में से 498 मार्क्स) 
रैंक 3 - किरण कुमावत, मसानी (रेवाड़ी) (500 में से 498 मार्क्स) 
रैंक 3 - हिमांशी, नारनौंद (हिसार) (500 में से 498 मार्क्स) 
रैंक 3 - अंशु, निंदाना (रोहतक) (500 में से 498 मार्क्स) 
रैंक 3 - मनु, धमालका  (रेवाडी) (500 में से 498 मार्क्स) 
रैंक 3 - भूमिका, हालूहेरा (रेवाड़ी) (500 में से 498 मार्क्स) 
रैंक 3 - सलोनी, मटोर (कैथल) (500 में से 498 मार्क्स) 
रैंक 3 - गर्विता, नारनौंद (हिसार) (500 में से 498 मार्क्स) 

बोर्ड सचिव राजीव प्रसाद के मुताबिक परीक्षा में 337691 परीक्षार्थी प्रविष्ठ हुए थे। इनमें से 218120 उत्तीर्ण हुए एवं 32,501 परीक्षार्थियों की कंपार्टमेंट आई है। 87070 परीक्षार्थी अनुत्तीर्ण रहे हैं। इस परीक्षा में 1,85,429 छात्र बैठे थे, जिनमें 1,11,751 पास हुए और 1,52,262 प्रविष्ठ छात्राओं में से 1,06,369 पास हुईं। परीक्षा में राजकीय विद्यालयों का पास प्रतिशत 59.74 रही और निजी विद्यालयों का पास प्रतिशत 69.51 रहा है। इस परीक्षा में ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थियों का पास प्रतिशत 64.39 रहा, जबकि शहरी क्षेत्र के विद्यार्थियों का पास प्रतिशत 65.00 रहा है। 

रीचेकिंग
परीक्षा परिणामों के आधार पर जो परीक्षार्थी अपनी उत्तरपुस्तिकाओं की दोबारा जांच करवाना या अंकों का मूल्यांकन दोबारा कराना चाहते हैं वह ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आवेदन केवल परिणाम घोषित होने की तिथि से 20 दिन तक ही किया जा सकता है। 

प्रदेश में लड़कियों ने मारी बाजी
प्रदेश स्तर पर परीक्षा में 1,85,429 छात्र बैठे थे, जिनमें 1,11,751 पास हुए तथा 1,52,262 छात्राओं में से 1,06,369 पास हुईं। परीक्षा में लड़कियों का पास प्रतिशत 69.86 फीसदी रहा है। वहीं लडक़ों में 60.27 फीसदी ने सफलता पाई है। ऐसे में लड़कियों ने लडक़ों से  के मुकाबले 09.59 फीसदी ज्यादा पास प्रतिशत देकर बेहतर परिणाम दिया है। सेकेण्डरी (नियमित)  परीक्षा में 3,37,691 परीक्षार्थी शआमिल हुए थे जिनमें से 2,18,120 सफल हुए हैं और 32,501 परीक्षार्थियों की कम्पार्टमेंट आयी है। वहीं 87,070 परीक्षार्थी असफल रहे हैं।

अंक सुधार को मिलेंगे दो अवसर
बोर्ड अध्यक्ष डॉ. जगबीर सिंह एवं बोर्ड सचिव राजीव प्रसाद ने बताया कि लॉकडाउन के चलते  चार विषयों की परीक्षा ही संचालित करवाई जा सकी थी। केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा अपनाई गई अंकन नीति अनुसार ही शिक्षा बोर्ड, भिवानी द्वारा भी सम्पन्न करवाए गए विषयों की परीक्षा के औसत अंकों के आधार पर अंक मानकर  परिणाम निकाला गया है। कोई परीक्षार्थी घोषित हुए परिणाम से संतुष्ट नहीं है तो वह बोर्ड की आगामी होने वाली परीक्षा में आंशिक अंक सुधार कर सकता है, जिसके लिए परीक्षार्थी को दो अवसर दिए जाएगें।                    

 

Virtual Counsellor