ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरसक्षमता परीक्षा के विरोध में धरना प्रदर्शन में शामिल होने वाले शिक्षकों के विरुद्ध होगी करवाई

सक्षमता परीक्षा के विरोध में धरना प्रदर्शन में शामिल होने वाले शिक्षकों के विरुद्ध होगी करवाई

माध्यमिक शिक्षा निदेशक कन्हैया प्रसाद श्रीवास्तव ने सभी जिला शिक्षा पदाधिकारियों को 13 फरवरी को विधानसभा के समझ धरना-प्रदर्शन करने वाले शिक्षकों पर अनुशानसनिक कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

सक्षमता परीक्षा के विरोध में धरना प्रदर्शन में शामिल होने वाले शिक्षकों के विरुद्ध होगी करवाई
Arti Tripathiलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 05 Feb 2024 10:02 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार में नियोजित शिक्षकों की सक्षमता परीक्षा की अनिवार्यता को लेकर शिक्षक संघ विरोध कर रहा है। दरअसल, बिहार विद्यालय विशिष्ट शिक्षक नियमावली, 2023 में ये प्रावधान किया गया था कि नियोजित शिक्षकों को राज्यकर्मी का दर्जा मिलेगा और उन्हें इसके लिए एक मामूली परीक्षा देनी होगी। इसी दौरान केके पाठक की अध्यक्षता में गठित कमेटी से शिक्षकों को चौंका देना वाला एक फैसला आया,जिसमें कहा गया कि समक्षमता परीक्षा में 3 बार असफल होने वाले शिक्षकों को सेवा से हटा दिया जाएगा। इसे निर्णय का बहिष्कार करते हुए शिक्षक संघ ने 13 फरवरी को विधानसभा का घेराव करने का फैसला लिया था।

माध्यमिक शिक्षा निदेशक कन्हैया प्रसाद श्रीवास्तव ने सभी जिला शिक्षा पदाधिकारियों को पक्ष लिखकर सक्षमता परीक्षा का बहिष्कार करने और 13 फरवरी को विधान सभा के समक्ष प्रदर्शन में शामिल होने वाले शिक्षकों के विरुद्ध अनुशासनिक कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। 

पत्र में लिखा है कि 13 फरवरी को स्कूल खुला हुआ है। ऐसी स्थिति में शिक्षकों के विद्यालय छोड़कर ऐसे धरना-प्रदर्शन में शामिल होने से यह स्पष्ट होगा कि उनके द्वारा विद्यालयों में शिक्षण कार्यों में बाधा उत्पन्न की जा रही है। पत्र में जिला शिक्षा पदाधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया गया है कि यदि जिले में नियोजित शिक्षकों द्वारा किसी भी प्रकार के धरना-प्रदर्शन का कार्यक्रम किया जाता है, तो उन्हें आईपीसी की धारा 141 के तहत गैर कानूनी जमावड़ा मानते हुए आवश्यक कार्रवाई की जाए। इसके साथ ही शिक्षकों के खिलाफ आईपी की धारा -186 और धारा-187 समेत अन्य सुसंगत धाराओं में प्राथमिकी (एफआईआर) दर्ज करने की बात कही गई है। धरना-प्रदर्शन में शामिल होने वाले शिक्षकों को चिन्हित करते हुए उनके विरुद्ध विभागीय नियमावली में निर्धारित प्रावधान के तहत कड़ी अनुशासनिक कार्रवाई भी प्रारम्भ की जाएगी।

बता दें कि बिहार के नियोजित शिक्षकों को राज्यकर्मी बनाने संबंधी सक्षमता परीक्षा की तारीख घोषित हो चुकी है। बिहार परीक्षा समिति (बीएसईबी) 26 फरवरी से लेकर 13 मार्च के बीच सक्षमता परीक्षाओं का आयोजन कराएगा। शिक्षा विभाग के अनुसार, स्थानीय निकाय शिक्षकों की प्रथम सक्षमता परीक्षा 2024 के लिए ऑनलाइन माध्यम से 01 फरवरी 2024 से 15 फरवरी 2024 तक की आवधि में आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। यह परीक्षा 4 बार आयोजित की जाएगी और प्रत्येक शिक्षक को तीन परीक्षाओं में किसी एक में पास करना होगा। नियोजित शिक्षकों की पहली सक्षमता परीक्षा 26 फरवरी को आयोजित की जाएगी। 

Virtual Counsellor