ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरBSEB Bihar Board Inter Admission 2022: बिहार बोर्ड के 697 स्कूल-कॉलेजों में दो लाख सीटें बढ़ीं

BSEB Bihar Board Inter Admission 2022: बिहार बोर्ड के 697 स्कूल-कॉलेजों में दो लाख सीटें बढ़ीं

BSEB Bihar Board Inter Admission 2022: बिहार बोर्ड ने इंटर नामांकन में एक बार फिर स्कूल-कॉलेज के साथ सीटों की संख्या बढ़ा दी है। अब राज्य भर से 697 स्कूल-कॉलेज में लगभग दो लाख अतिरिक्त सीटों पर नामांक

BSEB Bihar Board Inter Admission 2022: बिहार बोर्ड के 697 स्कूल-कॉलेजों में दो लाख सीटें बढ़ीं
Pankaj Vijayवरीय संवाददाता,पटनाWed, 27 Jul 2022 01:18 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

BSEB Bihar Board Inter Admission 2022: बिहार बोर्ड ने इंटर नामांकन में एक बार फिर स्कूल-कॉलेज के साथ सीटों की संख्या बढ़ा दी है। अब राज्य भर से 697 स्कूल-कॉलेज में लगभग दो लाख अतिरिक्त सीटों पर नामांकन लिया जाएगा। बोर्ड की मानें तो राज्य भर के 7217 स्कूल-कॉलेज में लगभग 23 लाख 30 हजार सीटों पर इंटर में नामांकन लिया जाएगा।

बिहार बोर्ड द्वारा सोमवार को ओएफएसएस (ऑनलाइन फैसिलिटेशन सिस्टम फॉर स्टूडेंट्स) को अपडेट किया गया है। इसकी जानकारी सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी को दी गयी है। ज्ञात हो कि इंटर नामांकन के लिए 22 जून से रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू की गई है। इंटर नामांकन के लिए छात्र-छात्राओं को ओएफएसएस पोर्टल पर जाकर नामांकन के लिए रजिस्ट्रेशन करना है। कम से कम दस और अधिक से अधिक 20 कॉलेज और स्कूल का विकल्प देना है। शुरुआत में 5328 स्कूल और कॉलेज में 18 लाख 28 हजार 870 सीटों पर नामांकन के लिए तिथि जारी की गयी थी। फिर बोर्ड ने उसे अपडेट किया। इसके बाद कॉलेज और स्कूल की संख्या बढ़ाकर 6523 की गई और सीटें 21 लाख से अधिक हो गयीं। अब फिर से बोर्ड ने 697 स्कूल और कॉलेज को जोड़ा है। इससे सीटें दो लाख और बढ़ गई हैं। अब कुल 23 लाख से अधिक सीटों पर नामांकन का मौका मिलेगा।

हर जिले में बढ़े स्कूल बोर्ड द्वारा लगातार हर जिला में स्कूलों को उच्च माध्यमिक में अपग्रेड किया जा रहा है। जैसे-जैसे स्कूल अपग्रेड हो रहे हैं, बोर्ड द्वारा उसे स्कूल कोड दिया जा रहा है। इसके बाद संबंधित स्कूल ओएफएसएस पोर्टल पर जोड़े जा रहे हैं। बोर्ड सूत्रों की मानें तो 1821 स्कूलों को अपग्रेड किया गया है। वहीं, कई ऐसे संबद्धता प्राप्त स्कूल और कॉलेज हैं, जिन्हें ओएफएसएस से हटा दिया गया है।
क्योंकि ये संबद्धता के नियमों को पूरा नहीं करते हैं। साथ में बोर्ड ने कहा है कि संबद्धता के 25 बिंदुओं को पूरा करने के बाद ही मान्यता दी जाएगी।