DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   करियर  ›  Bihar Board exam 2020: बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा में कॉपी के साथ छेड़छाड़ करेंगे तो रुक सकता है रिजल्ट, पढ़ें मैट्रिक परीक्षा से जुड़ी ये खास बातें

करियरBihar Board exam 2020: बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा में कॉपी के साथ छेड़छाड़ करेंगे तो रुक सकता है रिजल्ट, पढ़ें मैट्रिक परीक्षा से जुड़ी ये खास बातें

संवाददाता,पटना Published By: Anuradha
Tue, 18 Feb 2020 08:50 AM
Bihar Board exam 2020: बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा में कॉपी के साथ छेड़छाड़ करेंगे तो रुक सकता है रिजल्ट, पढ़ें मैट्रिक परीक्षा से जुड़ी ये खास बातें

बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा के दौरान निर्देश का पालन करने की हिदायत बोर्ड ने दी है। परीक्षार्थी को प्रश्न पत्र पढ़ने और निर्देश को समझने के लिए 15 मिनट का अतिरिक्त समय दिया जाता है।

उत्तर पुस्तिका के बाएं और दाएं भाग को ही परीक्षार्थी को भरना है। बाएं भाग में क्रम संख्या एक से चार तक और दाएं भाग में क्रम संख्या नौ से 13 तक परीक्षार्थियों को भरना है। उत्तर पुस्तिका के बीच वाले या मध्य भाग परीक्षार्थी को नहीं भरना है। बोर्ड की मानें तो अगर कोई परीक्षार्थी बीच वाले भाग के साथ किसी तरह की छेड़छाड़ करेंगे तो उनके उस विषय की परीक्षा रद्द कर दी जाएगी।

कॉपी के साथ छेड़छाड़ करेंगे तो रुक सकता है रिजल्ट: बोर्ड ने विज्ञप्ति जारी कर परीक्षार्थियों को उत्तर पुस्तिका के अंदर छेड़छाड़ करने से मना किया है। इस बार उत्तर लिखने के बाएं और दाएं दोनों तरफ जगह छोड़ी हुई है। बायीं तरफ की चौथाई में छात्र अपने प्रश्नों की क्रम संख्या लिखेंगे, वहीं दायीं तरफ के छोड़े गये हिस्से में कुछ नहीं लिखेंगे। क्योंकि यह जगह परीक्षकों के द्वारा दिए गए अंकों के लिए निर्धारित रहती है। इस हिस्से में अगर कुछ लिखा जायेगा तो ऐसे परीक्षार्थी का परीक्षाफल अमान्य कर दिया जाएगा।

पटना में 74 केंद्रों पर 69 हजार परीक्षार्थी होंगे शामिल
पटना जिले में मैट्रिक परीक्षा में कुल 69 हजार 175 परीक्षार्थी शामिल होंगे। इसके लिए 74 परीक्षा केद्र बनाये गए हैं। परीक्षा में 36 हजार 890 छात्राएं और 32 हजार 285 छात्र शामिल होंगे। प्रथम पाली में 34 हजार 920 और दूसरी पाली में 34 हजार 255 परीक्षार्थी शामिल होंगे। जिला शिक्षा कार्यालय द्वारा वीक्षकों की नियुक्ति रेंडमली की गई हैं।

डीएम ने कहा- तैयारी पूरी कर ली गई है डीएम कुमार रवि ने बताया कि मैट्रिक परीक्षा की तैयारी पूरी कर ली गई है। शिक्षकों का एक गुट हड़ताल पर जरूर है लेकिन अन्य गुटों के शिक्षक काम पर हैं। किसी अन्य विभाग के कर्मचारियों की जरूरत नहीं है। इसीलिए उनकी ड्यूटी भी नहीं लगाई गई है। परीक्षा शांतिपूर्ण हो, तैयारी पूरी कर ली गई है। कोई गतिरोध या विरोध करता है तो कड़ी कार्रवाई होगी।
 
छात्राओं की तलाशी महिला पुलिस करेंगी हर केंद्र पर पुलिस बल की तैनाती की गयी है। परीक्षा कक्षा में चिट-पुर्जे लेकर न जाएं, इसके लिए छात्राओं की तलाशी के लिए महिला पुलिस हर केंद्र पर रहेंगी। इसके अलावा सभी केद्रों पर महिला वीक्षक, महिला केंद्राधीक्षक, महिला पदाधिकारी और कर्मी मौजूद रहेंगी।
 
प्रवेश प्रत्र पर फोटो में गड़बड़ी का भौतिक सत्यापन बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि जिन परीक्षार्थियों के प्रवेश पत्र पर फोटो की त्रुटि हो तो वो अपने साथ दस्तावेज लेकर आयेंगे। इन दस्तावेज में आधार कार्ड, वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट या फोटोयुक्त बैंक पासबुक लेकर केंद्र पर जाएंगे। उनका भौतिक सत्यापन किया जायेगा। इसके बाद वे परीक्षा में शामिल होंगे। दस्तावेज की मूल और फोटो कॉपी दोनों लेकर जाएं।


उत्तर पुस्तिका मिलने के बाद एडमिट कार्ड में दिए गए विवरण का मिलान कर लें ’ उत्तर पुस्तिका के प्रथम पृष्ठ के बायें भाग में परीक्षार्थी को केवल विषय का नाम और उत्तर देने वाली भाषा का नाम लिखना है। ’ उत्तर पुस्तिका के प्रथम पृष्ठ के दायें भाग में प्रश्न पत्र के सेट कोड को दिए गए बाक्स में लिखें ’ उत्तर पुस्तिका के क्रम वाइज पेज की गिनती जरूर करें। ’ उत्तर पुस्तिका की अन्य जगहों पर अपना रौल नंबर, रौल कोड, नाम, स्कूल का नाम और परीक्षा का स्थान न लिखें ’ कॉपी के पृष्ठों को न मोड़ें और न ही उसे फाड़ें ’ प्रश्न पत्र में दी गई संख्या के अनुसार उत्तरों को संख्या में ही लिखें ’ ओएमआर उत्तर पत्रक में परीक्षार्थी अपने प्रश्न पत्र के सेट कोड को लिखेंगे और साथ में काली या नीली बॉल पेन से उसे भरेंगे। साथ में परीक्षा केंद्र का नाम भी भरेंगे

संबंधित खबरें