ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरBSEB bihar board 2022: मैट्रिक और इंटर उत्तीर्णता के दस वर्ष के उपर अंक पत्र लेने पर देने होंगे 25 सौ रुपए का शुल्क

BSEB bihar board 2022: मैट्रिक और इंटर उत्तीर्णता के दस वर्ष के उपर अंक पत्र लेने पर देने होंगे 25 सौ रुपए का शुल्क

BSEB Bihar board 2022: मैट्रिक या इंटर के उत्तीर्णता वर्ष से दस वर्ष पहले का प्रमाण पत्र या अंक पत्र निकलवाना हैं तो इसके लिए छात्र को अब एक हजार रूपये शुल्क के तौर पर देने होंगे। वहीं उत्तीर्णता वर्ष

BSEB bihar board 2022: मैट्रिक और इंटर उत्तीर्णता के दस वर्ष के उपर अंक पत्र लेने पर देने होंगे 25 सौ रुपए का शुल्क
Anuradha Pandeyवरीय संवाददाता,पटनाMon, 19 Sep 2022 09:03 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

BSEB Bihar board 2022: मैट्रिक या इंटर के उत्तीर्णता वर्ष से दस वर्ष पहले का प्रमाण पत्र या अंक पत्र निकलवाना हैं तो इसके लिए छात्र को अब एक हजार रूपये शुल्क के तौर पर देने होंगे। वहीं उत्तीर्णता वर्ष के 15 साल या उससे उपर के साल का अंक पत्र या प्रमाण पत्र निकालना हो तो इसके लिए छात्र को 25 सौ रूपये शुल्क जमा करने होंगे। बिहार बोर्ड द्वारा मैट्रिक और इंटर के द्वितीय प्रमाण पत्र, द्वितीय या तृतीय अंक पत्र औपबंधिक प्रमाण पत्र आदि के शुल्क को संशोधित किया है। बोर्ड द्वारा आयोजित पांच सितंबर 2022 की बैठक में यह निर्णय लिया गया है। वहीं 16 सितंबर को बोर्ड सचिव ने इसे लागू कर दिया।

इसके बाद बोर्ड के सभी नौ प्रमंडल के क्षेत्रीय कार्यालय में इसे सोमवार को नोटिस बोर्ड पर चिपका दिया गया है। बोर्ड प्रशासन की मानें तो सोमवार यानी 19 सितंबर से इसे लागू कर दिया गया है। बोर्ड की मानें तो मैट्रिक और इंटर के 1980 से अब तक सारे प्रमाण पत्र को डिजिटल की दिया गया है। लेकिन उससे पहले का प्रमाण पत्र अभी मैनुअल ही दिया जा रहा है। ऐसे में 1980 के पहले वाले छात्र अगर अपना प्रमाण पत्र निकलाते है तो इसके प्रोसेस के लिए प्रोसेस शुल्क देना होगा। प्रोसेस शुल्क अलग-अलग निर्धारित की गयी हैं। ज्ञात हो कि पहले बोर्ड द्वारा प्रोसेस शुल्क नहीं ली जाती थी।
- पहले एक जैसा था शुल्क
बिहार बोर्ड द्वारा संशोधित शुल्क में वर्तमान वर्ष से लेकर 15 वर्ष और उससे उपर के वर्ष का अलग-अलग शुल्क निर्धारित किया गया है। लेकिन यह पहले नहीं था। किसी भी साल का प्रमाण पत्र या अंक पत्र निकालने पर पांच सौ रूपये शुल्क के तौर पर लगते थे। लेकिन अब इसमें संशोधित कर दिया गया है। शुल्क बृद्धि को लेकर बिहार बोर्ड के पीआरओ राजीव द्विवेदी ने पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अभी जानकारी नहीं है। पूछ कर ही बता सकते है।

द्वितीय प्रमाण पत्र के लिए अब लगेगा प्रोसेसिंग फीस (प्रक्रिया शुल्क)
प्रमाण पत्र का प्रकार      -      शुल्क
द्वितीय प्रमाण पत्र       -        175 रूपये
पुनरीक्षण             -         120 रूपये
द्वितीय अंक पत्र        -         125 रूपये
प्रवेश पत्र (परीक्षा उत्तीर्ण होने से अगले दस साल तक)  -   100 रूपये
नोट  - यह मैट्रिक, इंटर  और डीएलएड परीक्षा हेतु संशोधित किया गया शुल्क


सभी तरह के प्रमाण पत्र की द्वितीय या तृतीय प्रति

प्रमाण पत्र             -    निर्धारित शुल्क
परीक्षा का वर्तमान वर्ष    -     दो सौ रूपया
उत्तीर्णता वर्ष से पांच वर्ष तक  -    पांच सौ रूपया
उत्तीर्णता वर्ष से दस वर्ष तक   -    एक हजार
उत्तीर्णता वर्ष से 15 वर्ष एवं इससे उपर तक  -   25 सौ
अविलंब या तत्काल के लिए    -    निर्धारित शुल्क के अतिरिक्ति पांच सौ रूपये देने होंगे