DA Image
हिंदी न्यूज़ › करियर › BPSSC : बिहार पुलिस में दारोगा-सार्जेंट की बहाली के लिए लिखित परीक्षा 5 दिसंबर को
करियर

BPSSC : बिहार पुलिस में दारोगा-सार्जेंट की बहाली के लिए लिखित परीक्षा 5 दिसंबर को

हिन्दुस्तान ब्यूरो,पटनाPublished By: Yogesh Joshi
Thu, 05 Aug 2021 06:27 AM
BPSSC : बिहार पुलिस में दारोगा-सार्जेंट की बहाली के लिए लिखित परीक्षा 5 दिसंबर को
  • पुलिस अवर सेवा आयोग ने जिलों को तैयारी के लिए लिखा पत्र 
  • दारोगा के 1998 और सार्जेंट के 215 पदों पर होनी है बहाली 
  • वर्ष 2020 में ही दोनों पदों के लिए निकाला गया था विज्ञापन 
  • सवा छह लाख के करीब अभ्यर्थियों ने भरा है इसके लिए फार्म

बिहार पुलिस में दारोगा और सार्जेंट के 2213 पदों के लिए 5 दिसम्बर को प्रारंभिक लिखित परीक्षा होगी। यह परीक्षा दो पालियों में ली जाएगी। बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग ने संभावित तिथि तय करते हुए सभी जिलों के डीएम को तैयारी के लिए पत्र लिखा है। पंचायत चुनाव के मद्देनजर आयोग ने सतर्कता बरतते हुए दिसम्बर में परीक्षा लेने का निर्णय लिया है।

  • सवा छह लाख के करीब हैं अभ्यर्थी

बिहार पुलिस में बड़े पैमाने पर दारोगा और सार्जेंट की बहाली हो रही है। साल 2019 में इन दो पदों के साथ सहायक जेल अधीक्षक के कुल 2446 पदों पर बहाली के लिए विज्ञापन निकाला गया था। इस बहाली प्रक्रिया को पूरा कर लिया गया है। इसके बाद वर्ष 2020 में दारोगा और सार्जेंट के 2213 पदों पर बहाली के लिए विज्ञापन जारी किया गया। इसमें दारोगा के 1998 और सार्जेंट के 215 पद शामिल हैं। इसके लिए करीब सवा छह लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। इसकी प्रारंभिक लिखित परीक्षा कोरोना और विधान सभा चुनाव के चलते अबतक नहीं हो पाई है। कोरोना की दूसरी लहर की समाप्ति के बाद सरकार ने प्रतियोगिता परीक्षा आयोजित करने की इजाजत दे दी है। इसके बाद बिहार पुलिस अवसर सेवा आयोग ने प्रारंभिक लिखित परीक्षा की तिथि तय कर दी है।

पंचायत चुनाव के मद्देनजर 5 दिसम्बर की तारीख

  • आयोग ने 5 दिसम्बर को प्रारंभिक लिखित परीक्षा आयोजित करने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए जिलाधिकारियों को पत्र लिखकर तैयारी करने को कहा गया है। दिसम्बर में परीक्षा आयोजित करने का निर्णय संभावित पंचायत चुनाव को देखते हुए लिया गया है। अगस्त में चुनावी प्रक्रिया शुरू होने की संभावना है और यह नवम्बर तक जा सकता है। लिहाजा आयोग ने दिसम्बर में तारीख तय की है। चूंकि इस परीक्षा में करीब सवा छह लाख अभ्यर्थी शामिल होंगे इसलिए बड़े पैमाने पर तैयारी करनी होगी। बड़ी संख्या में सेंटर बनाना होगा और परीक्षा के दौरान सुरक्षा इंतजाम भी रखने होंगे। पंचायत चुनाव के दौरान यह संभव नहीं है। लिहाजा दिसम्बर में परीक्षा ली जाएगी।

संबंधित खबरें