ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरBPSC : बिहार में 1.70 लाख शिक्षक भर्ती के लिए एग्जाम कैलेंडर जारी

BPSC : बिहार में 1.70 लाख शिक्षक भर्ती के लिए एग्जाम कैलेंडर जारी

bpsc teacher recruitment : बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) की शिक्षक नियुक्ति परीक्षा का कैलेंडर जारी कर दिया गया है। परीक्षा का आयोजन अगस्त में किया जाएगा। 19, 20, 26 और 27 अगस्त को एग्जाम होगा।

BPSC : बिहार में 1.70 लाख शिक्षक भर्ती के लिए एग्जाम कैलेंडर जारी
Yogesh Joshiलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 25 May 2023 11:42 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) की शिक्षक नियुक्ति परीक्षा का कैलेंडर जारी कर दिया गया है। परीक्षा का आयोजन अगस्त में किया जाएगा। 19, 20, 26 और 27 अगस्त को एग्जाम होगा। रिजल्ट नवंबर में आ सकता है। विज्ञापन जारी होने से पहले संभावित तिथि की घोषणा की गई है। प्राथमिक, माध्यमिक और उच्च माध्यमिक के लिए अलग-अलग परीक्षाएं होंगी। भाषा की परीक्षा कॉमन होगी। 

प्राथमिक विद्यालय के लिए निर्धारित 79 हजार सीटों में 50 % सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित होंगी। माध्यमिक और उच्च माध्यमिक में निर्धारित सीटों में 35 % महिलाओं के लिए आरक्षित होंगे। यह पहले से सभी नियुक्तियों में चला आ रहा है। मेधा का निर्धारण भी आरक्षण नियमावली के अनुसार ही होगा। इसमें सामान्य वर्ग के लिए 40%, पिछड़ा वर्ग के लिए 36.5%, अत्यन्त पिछड़ा वर्ग के लिए 34% एवं अनुसूचित जाति/जनजाति, महिलाओं तथा निःशक्तता से ग्रस्त (दिव्यांग) उम्मीदवारों के लिए 32% निर्धारित न्यूनतम अर्हतांक प्राप्त करना अनिवार्य होगा।    

उम्र सीमा की बाध्यता नहीं होगी

बीपीएससी से होने वाली विद्यालय शिक्षक के पद पर नियुक्ति के लिए नियोजित शिक्षकों की उम्र सीमा शिथिल कर दी गयी है। अब परीक्षा के लिए उनकी उम्र सीमा की बाध्यता नहीं होगी। यही नहीं 2019 में एसटीईटी पास करने वाले प्रशिक्षित अभ्यर्थियों को पहले प्रयास के लिए उम्र सीमा में 10 वर्षों की छूट दी जाएगी। शिक्षा विभाग ने गुरुवार को इसकी अधिसूचना जारी कर दी है।

परीक्षा के लिए होंगे पुख्ता इंतजाम 
आयोग के अध्यक्ष ने बताया कि नियुक्ति के लिए सिर्फ एक ही परीक्षा होनी है, इसलिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। इस बार अभ्यर्थियों को परीक्षा केन्द्र पर दो से तीन घंटें पहले बुलाया जाएगा। बॉयोमेट्रिक्स उपस्थिति दर्ज होगी। परीक्षा हॉल में सभी का मिलान होगा। लड़कियों व दिव्यांग अभ्यर्थियों का जिला मुख्यालय में केंद्र होगा। केन्द्रों पर जैमर लगेंगे। अभ्यार्थियों के सामने ही प्रश्न पत्र खुलेगा, जिसकी वीडियोग्राफी होगी। कदाचार पर पांच साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया जाएगा।