ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरघर की बहू ने पास की BPSC परीक्षा, जेठ, जेठानी और ननद ने की थी तैयारी में मदद, ससुराल वालों ने बांटे लड्डू

घर की बहू ने पास की BPSC परीक्षा, जेठ, जेठानी और ननद ने की थी तैयारी में मदद, ससुराल वालों ने बांटे लड्डू

आज हम आपको ऐसी हाउसवाइफ और घर की बहू के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने घर और बच्चे की जिम्मेदारी निभाते हुए BPSC परीक्षा में सफलता हासिल की है। हालांकि उनके इस सफर में , जेठ, जेठानी और नंनद ने प

घर की बहू ने पास की BPSC परीक्षा, जेठ, जेठानी और ननद ने की थी तैयारी में मदद, ससुराल वालों ने बांटे लड्डू
Priyanka Sharmaहिन्दुस्तान टीम,मोतिहारीMon, 04 Dec 2023 07:17 PM
ऐप पर पढ़ें

BPSC Success story: ये कहना गलत नहीं होगा कि एक हाउसवाइफ का काम सबसे मुश्किल होता है। ये एक ऐसा काम जिसमें हर महीने सैलरी नहीं मिलती है, फिर भी महिलाएं पूरी शिद्दत से घर के कामों में लगी रहती है, ताकि घर के लोग आराम से अपना काम कर सके।

वहीं हाउसवाइफ या किसी के घर की बहू होने का मतलब ये बिल्कुल भी नहीं है कि वह अपने सपनों को दबा दें और पूरा जीवन घर के काम करते हुए बिताएं। आज हम आपको बिहार की ऐसी हाउसवाइफ के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने बिहार पब्लिक सर्विस कमीशन (BPSC) की परीक्षा में सफलता हासिल की है।   

प्रखंड क्षेत्र के तुरकौलिया पश्चिमी पंचायत के सेमरा टोला की रहने वाली हाउसवाइफ गजला प्रवीण बीपीएससी परीक्षा में सफलता हासिल करते हुए सहायक लोक अभियोजन पदाधिकारी (Assistant Public Prosecution Officer) का पद हासिल कर लिया है। जैसे ही ससुराल वालों को पता चला कि उनके घर की बहू ने BPSC की परीक्षा में सफलता हासिल की है, तब उन्होंने खुशी से गांव में लड्डू बांटे।

बता दें,  गजला के दादा ससुर नसीर अहमद अंसारी बीमार है, लेकिन वे अपने पोते की बहू के ऑफिसर बनने पर खुशी के आंसू को रोक नहीं पा रहे हैं। पश्चिम चंपारण जिले के बगहा के ऐनुल हक की पुत्री गजला की शादी साल 2015 में सेमरा टोला के गुलरेज अहमद से हुई थी। शादी के कुछ समय बाद दोनों एक बेटी के माता- पिता बने थे। घर के काम काज और बेटी की देखभाल करने के दौरान गजला ने बीपीएससी परीक्षा की तैयारी शुरू की थी और ये बड़ी बात है कि घर की जिम्मेदारी को निभाते हुए उन्होंने परीक्षा में सफलता हासिल की। हालांकि घर और बच्चे के साथ पढ़ाई करना गजला के लिए आसान नहीं रहा होगा।

जेठ, जेठानी और ननद ने की थी तैयारी में मदद

गजला ने बताया कि, "तैयारी करने मे घर के सभी लोगों का पूरा सपोर्ट मिला। उनके जेठ शिक्षक जावेद अहमद, शिक्षक परवेज अहमद, जेठानी शिक्षिका शहाना प्रवीन, शिक्षिका नाजनीन प्रवीन और ननद शिक्षिका कौशर प्रवीन ने काफी अच्छी तरह से उनकी तैयारी कराने में मदद की थी। इन सभी की मदद से मैं BPSC की कठिन परीक्षा पास करने में सफल हो पाई"

बता दें, नजला की सास नईमा खातून भी अपनी बहू के ऑफिसर बनने पर काफी खुश हैं। उनका कहना है कि जब घर की बहू तरक्की करती है तो परिवार अपने आप आगे बढ़ता है।

BPSC APO Bharti Result 2023: परिणाम में 541 उम्मीदवार हुए सफल

बीपीएससी सहायक अभियोजन पदाधिकारी (APO) प्रतियोगिता परीक्षा 2020 के फाइनल नतीजे आज आधिकारिक वेबसाइट bpsc.bih.nic.in पर जारी किए गए हैं।  बिहार लोक सेवा आयोग ने एपीओ के 553 पदों के लिए विज्ञापन जारी किया था। वैकेंसी के कुल 541 उम्मीदवारों ने इस परीक्षा में सफलता हासिल की है।

BPSC APO 2020 Final Result- डायरेक्ट लिंक

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें