Bihar D El Ed: Complementary examination will have to be given for the subject in which you have failed - बिहार डीएलएड : जिस विषय में फेल हैं, उसी विषय की देनी होगी पूरक परीक्षा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार डीएलएड : जिस विषय में फेल हैं, उसी विषय की देनी होगी पूरक परीक्षा

bihar deled

डीएलएड की पूरक परीक्षा चार से 18 जनवरी 2020 तक होगी। जिस विषय में शिक्षक फेल हुए हैं, उसी विषय की वे परीक्षा दे सकेंगे। एनआईओएस की मानें तो शिक्षक उतने ही विषयों के लिए रजिस्ट्रेशन करेंगे, जितने में वे फेल हुए हैं। पूरक परीक्षा से प्रदेशभर के 43 हजार 784 शिक्षकों को फायदा होगा। ये शिक्षक एक या इससे अधिक विषयों में फेल हुए हैं।

प्रदेशभर में 43 हजार से ज्यादा प्रशिक्षु फेल-
प्रदेशभर से डीएलएड परीक्षा में दो लाख 60 हजार 964 अभ्यर्थी शामिल हुए थे। इनमें दो लाख 17 हजार 170 पास हुए थे। बाकी 43 हजार 784 फेल हो गये थे। ये शिक्षक अगर डीएलएड की परीक्षा पास कर ट्रेंड नहीं होंगे तो उन्हें नौकरी से निकाल दिया जायेगा। एनआईओएस के अध्यक्ष सीबी शर्मा ने बताया कि काफी संख्या में शिक्षक फेल हो गये थे, इस कारण एक बार और मौका दिया जा रहा है। 


एनआईओएस अध्यक्ष ने बताया कि पूरक परीक्षा में जो पास होंगे, उन्हें 31 मार्च 2019 के अंदर ही प्रशिक्षित माना जायेगा।  एनआईओएस पटना के क्षेत्रीय निदेशक कमांडेंट परमप्रीत सिंह ने बताया कि पूरक परीक्षा से काफी शिक्षकों को फायदा होगा। 


नवंबर में जारी होगा एडमिट कार्ड 
डीएलएड पूरक परीक्षा के लिए अलग से एडमिट कार्ड जारी होगा। ऑनलाइन एडमिट कार्ड नवंबर के अंतिम सप्ताह में वेबसाइट पर अपलोड होंगे। विषय कोड 501 से 510 तक की परीक्षा होगी। हर दिन दो से पांच बजे तक परीक्षा ली जायेगी। रजिस्ट्रेशन 16 से 31 अक्टूबर तक होगा। प्रति विषय 250 रुपये रजिस्ट्रेशन शुल्क देने होंगे।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bihar D El Ed: Complementary examination will have to be given for the subject in which you have failed