bihar board result 2019: Many students get annoyed when they got Zero in the matriculation cross list - bihar board result 2019: मैट्रिक की क्रॉस लिस्ट में जीरो मिलने से कई विद्यार्थी परेशान DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

bihar board result 2019: मैट्रिक की क्रॉस लिस्ट में जीरो मिलने से कई विद्यार्थी परेशान

tet exam

बिहार बोर्ड ने मैट्रिक की क्रॉस लिस्ट स्कूलों को भेज दी है। इस क्रॉस लिस्ट में कई गड़बड़ी सामने आ रही है। कई स्कूलों की लिस्ट में विषयवार अंक की जगह शून्य दे दिया गया है। वह भी तब जबकि वेबसाइट पर जारी रिजल्ट में इन स्कूलों के कई बच्चे पास दिखाए गए थे। 

अब रिजल्ट सुधरवाने को स्कूल और छात्र परेशान हैं। ऐसी शिकायत कई जिलों से आई है। शेखपुरा के दो स्कूलों की क्रॉस लिस्ट में संस्कृत विषय के सब्जेक्टिव में तो अंक दिये गये हैं, लेकिन ऑब्जेक्टिव में जीरो अंक दे दिया गया है। वहीं मधुबनी के कई स्कूलों की क्रॉस लिस्ट में भी एक विषय में जीरो अंक है। 

कई छात्र हो गये फेल : अंक पत्र में सब्जेक्टिव और ऑब्जेक्टिव को मिलाकर अंक दिये गये हैं। सब्जेक्टिव और ऑब्जेक्टिव मिलाकर पास करना है। परीक्षा में 50 अंकों के सब्जेक्टिव और 50 अंकों के ऑब्जेक्टिव सवाल पूछे गये थे। उत्तीर्णता के लिए दोनों मिलाकर 30 अंक लाना जरूरी था। जिन छात्रों को सब्जेक्टिव में 30 अंक आ गये और ऑब्जेक्टिव में जीरो है तो भी वे पास हो गए। वहीं, जिन छात्रों को सब्जेक्टिव में 30 से कम अंक आए हैं और ऑब्जेक्टिव में जीरो है, वे फेल हो गये। 

प्लस टू स्कूल धरहरा हाजीपुर के कई छात्रों को सामाजिक विज्ञान के आंतरिक मूल्यांकन में जीरो दे दिया गया है। प्राचार्य केसी रॉय ने कहा-टीआर स्कूल पहुंचा है। सामाजिक विज्ञान में कई को जीरो अंक मिला है जबकि स्कूल ने बोर्ड को आंतरिक मूल्यांकन कर नौ और 10 अंक भेजा था।

उच्च विद्यालय मेहुस, शेखपुरा में कई छात्रों को संस्कृत के ऑब्जेक्टिव का नंबर नहीं जोड़ा गया है। संस्कृत के आब्जेक्टिव की जगह जीरो अंक दे दिया गया है। अब ये छात्र परेशान हैं। इस स्कूल में दो सौ छात्रों के टीआर में यह गड़बड़ी हो रही है।

शेखपुरा के डीईओ नंदकिशोर राम ने बताया कि स्कूल प्राचार्यों की शिकायत पर बिहार बोर्ड सचिव को पत्र भेजा गया। बोर्ड सचिव ने सुधार करने का आश्वासन दिया है। अब तक दो स्कूलों से शिकायत आयी है। इसमें संस्कृत के 50 अंकों के ऑब्जेक्टिव में अंक की जगह जीरो-जीरो कर दिया गया है। 

क्रॉस लिस्ट की गड़बड़ी के बाद संबंधित स्कूलों के प्राचार्यों ने जिला शिक्षा कार्यालय से संपर्क किया है। डीईओ ने बोर्ड सचिव को पत्र लिख कर जानकारी दी है। उच्च विद्यालय मेहुस, शेखपुरा के प्राचार्य मुकेश कुमार ने कहा कि स्कूल के लगभग दो सौ छात्रों के साथ ऐसा हुआ है। संस्कृत विषय के ऑब्जेक्टिव में जीरो मिला है। जिन छात्रों को सब्जेक्टिव में 30 आया है, वे तो पास कर गये, लेकिन जिन्हें सब्जेक्टिव में 30 से कम अंक हैं, वे फेल हो गए हैं। इन छात्रों को आब्जेक्टिव अंक मिलेंगे तो पास हो जाएंगे। डीईओ को इसकी जानकारी दी गयी है। 

बिहार बोर्ड के पीआरओ राजीव द्विवेदी ने बताया कि शेखपुरा जिले के 203 विद्यार्थियों के संस्कृत विषय में ऑब्जेक्टिव का प्राप्तांक नहीं जुड़ने के संबंध में शेखपुरा डीईओ का प्रतिवेदन मिला है। अब इन छात्रों का संशोधित परीक्षाफल जारी कर दिया गया है। संशोधित अंकपत्र भी तीन दिनों के अंदर12 मई तक भेज दिए जाएंगे। 13 मई को विद्यार्थियों के बीच इसका वितरण कर दिया जाएगा। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bihar board result 2019: Many students get annoyed when they got Zero in the matriculation cross list