ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरबिहार बोर्ड परीक्षा : एडमिट कार्ड में गड़बड़ी हुई तो पहचान पत्र ले जाना होगा, हर छात्र का होगा यूनिक आईडी

बिहार बोर्ड परीक्षा : एडमिट कार्ड में गड़बड़ी हुई तो पहचान पत्र ले जाना होगा, हर छात्र का होगा यूनिक आईडी

बिहार बोर्ड के वैसे परीक्षार्थी जिनका प्रवेश पत्र गुम हो गया हो या घर पर छूट जाएगा वैसी स्थिति में उपस्थिति पत्रक में स्कैन फोटो से उसे पहचान कर परीक्षा में बैठने की औपबंधिक अनुमति दी जाएगी।

बिहार बोर्ड परीक्षा : एडमिट कार्ड में गड़बड़ी हुई तो पहचान पत्र ले जाना होगा, हर छात्र का होगा यूनिक आईडी
Pankaj Vijayवरीय संवाददाता,पटनाThu, 01 Feb 2024 07:26 AM
ऐप पर पढ़ें

बिहार बोर्ड इंटर परीक्षा कल से शुरू होने जा रही है। वैसे परीक्षार्थी जिनका प्रवेश पत्र गुम हो गया हो या घर पर छूट जाएगा वैसी स्थिति में उपस्थिति पत्रक में स्कैन फोटो से उसे पहचान कर और रॉल शीट से सत्यापित कर परीक्षा में बैठने की औपबंधिक अनुमति दी जाएगी। जिनके प्रवेश पत्र में फोटो की त्रुटि हो गयी है, उन्हें परीक्षा में बैठने की अनुमति दी गयी है। जिन छात्रों के एडमिट कार्ड के फोटो में गड़बड़ी हो या किसी अन्य की तस्वीर छपी हो तो छात्रों को पहचान पत्र के साथ परीक्षा केंद्र पर पहुंचना होगा। छात्र आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस अथवा फोटोयुक्त बैंक का पासबुक लेकर परीक्षा केंद्र पर आएं। पहचान पत्र की छायाप्रति राजपत्रित अधिकारी से सत्यापित करा कर परीक्षा केंद्र पर जमा करना होगा।उन्होंने कहा कि केंद्राधीक्षक चेहरे का मिलान कर उसे परीक्षा में बैठने की अनुमति देंगे।

हर छात्र का होगा यूनिक आईडी
इंटर परीक्षा में परीक्षार्थियों का यूनिक आईडी होगा। एडमिट कार्ड और केन्द्र पर भेजे गए उपस्थिति पत्रक की फोटो से परीक्षार्थियों के चेहरे का मिलान किया जाएगा। एक फरवरी से शुरू इंटर परीक्षा को लेकर जिले में तैयारी अंतिम चरण में है। बोर्ड ने निर्देश दिया है कि कदाचार में धरे गए परीक्षार्थी आगे परीक्षा में शामिल नहीं हो पाएंगे। परीक्षार्थी के प्रवेश-पत्र में जेंडर संबंधी विवरण त्रुटिपूर्ण अंकित रहने की स्थिति में केन्द्राधीक्षकों को निर्देश दिया गया है कि ऑनलाइन भरे गए सूचीकरण और परीक्षा आवेदन-पत्र के आलोक में समिति द्वारा कई बार त्रुटि सुधार के मौके दिये जाने तथा डमी प्रवेशपत्र निर्गत कर उसमें त्रुटि सुधार का अवसर दिये जाने के बावजूद परीक्षा आवेदन-पत्र के अनुसार यदि किसी परीक्षार्थी के प्रवेश पत्र में लिंग की त्रुटि पायी जाती है और इस कारण उनका परीक्षा केन्द्र उनके जेंडर के अनुसार न होकर दूसरे जेंडर के परीक्षा केन्द्र पर हो गया हो, तो वैसी स्थिति में उन्हें प्रवेश पत्र में अंकित परीक्षा केन्द्र पर ही परीक्षा में सम्मिलित किया जाना है। इसके लिए अलग-अलग बैठने की व्यवस्था करके उन्हें परीक्षा में सम्मिलित करायेंगे।

तय समय से पहले नहीं होगी प्रश्नपत्रों की निकासी
जिला स्कूल स्थित बजगृह से प्रश्नपत्रों की निकासी को लेकर भी केन्द्राधीक्षकों को निर्देश दिये गये हैं। प्रश्नपत्र के पैकेट दडाधिकारी एवं केन्द्राधीक्षक की उपस्थिति में परीक्षा केन्द्र की दूरी एवं समय का आकलन करते हुए सुबह 8 बजे से 8:45 बजे तक तथा द्वितीय पाली की परीक्षा के लिए 11:30 बजे से 12:30 बजे तक निकालने की व्यवस्था वरीय कोषागार पदाधिकारी करेंगे। प्रथम पाली के लिए 8 बजे से पहले तथा द्वितीय पाली के लिए 11:30 बजे से पहले प्रश्नपत्रों की निकासी नहीं की जाएगी।

आज से काम करने लगेगा कंट्रोल रूम
इंटर वार्षिक परीक्षा 2024 के सफल संचालन के लिए कंट्रोल रूम की स्थापना की गयी है। कंट्रोल रूम 31 जनवरी सुबह छह बजे से 12 फरवरी के शाम छह बजे तक काम करेगा। परीक्षा संचालन के क्रम में किसी प्रकार की समस्या होने पर समिति के कंट्रोल रूम के 0612-2232257 या 0612-2232227 पर सूचित कर उसका समाधान प्राप्त कर सकते हैं।

छात्र के प्रवेश के बाद ही खुलेगा प्रश्नपत्र का पैकेट
परीक्षार्थी परीक्षा केन्द्र के अंदर निर्धारित समय से 30 मिनट पूर्व अर्थात प्रथम पाली में 9 बजे तक एवं द्वितीय पाली में अपराह्न 1:30 बजे तक ही प्रवेश करेंगे। उसके बाद प्रवेश किसी भी हालात में नहीं दिया जाएगा। परीक्षार्थियों के प्रवेश के बाद ही प्रश्नपत्र का बड़ा पैकेट केन्द्राधीक्षक कक्ष में 9 से 9:10 बजे के बीच खोला जाएगा। केन्द्राधीक्षक, स्टैटिक दंडाधिकारी एवं दो सहयोगी शिक्षक की उपस्थिति अनिवार्य होगी तथा सारी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी निश्चित रूप से करायी जाएगी। प्रश्नपत्र का छोटा पैकेट परीक्षा हॉल में खोला जाएगा। बचा प्रश्नपत्र प्लास्टिक बैग में वहीं बंद कर केन्द्राधीक्षक को वापस कर दिया जायेगा।

डीईओ ने केन्द्राधीक्षकों को निर्देश दिया है कि प्रत्येक वीक्षक अपने कक्ष के 25 छात्र-छात्राओं की जांच कर इसका प्रमाणपत्र देंगे। वीडियोग्राफर की उपस्थिति समय पर कराएंगे। परीक्षा केन्द्र के अंदर सिर्फ केन्द्राधीक्षक को ही मोबाइल रखने की अनुमति होगी। परीक्षा भवन अगर चाहरदीवारी से घिरा नहीं है तो दीवाल से चार फीट की दूरी पर बांस बल्ले की घेराबंदी निश्चित रूप से करा लेंगे। वाशरूम एवं फ्रिस्किंग पर विशेष नजर रखने का निर्देश दिया गया है।

Virtual Counsellor