Bihar Board: Crash course for matric exams preparation will start since 2 December in schools - Bihar Board: मैट्रिक तैयारी के लिए दो दिसंबर से स्कूलों में शुरू होगा क्रैश कोर्स DA Image
15 दिसंबर, 2019|4:11|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Bihar Board: मैट्रिक तैयारी के लिए दो दिसंबर से स्कूलों में शुरू होगा क्रैश कोर्स

bihar board 10th class crash course in schools

बिहार बोर्ड ने मैट्रिक और इंटर वार्षिक परीक्षा 2020 का शेड्यूल जारी कर दिया है। शेड्यूल जारी होने के साथ ही स्कूल स्तर पर बोर्ड परीक्षा की तैयारी भी शुरू हो गयी है। पहली बार प्रदेशभर के स्कूल सेंटअप परीक्षा के बाद बंद होंगे। इस अवधि में मैट्रिक की तैयारी के लिए क्रैश कोर्स करवाया जाएगा। क्रैश कोर्स दो दिसंबर से शुरू होगा। सोमवार से शनिवार तक चलने वाले क्रैश कोर्स में रिवीजन पर जोर दिया जायेगा। दो महीने के क्रैश कोर्स में मॉक टेस्ट भी करवाया जायेगा। सप्ताह में दो दिन बुधवार और शनिवार को मॉक टेस्ट देकर छात्र अपनी तैयारी का आकलन कर पाएंगे।

जिस चैप्टर में उन्हें परेशानी होगी। उसका हल उन्हें रिवीजन क्लास में करवाया जायेगा। बिहार शिक्षा परियोजना परिषद ने इकोवेशन संस्थान के साथ मिलकर क्रैश कोर्स की डिजाइन तैयार की है। स्कूलों को क्रैश कोर्स की डिजाइन 25 दिसंबर तक उपलब्ध करवा दी जायेगी।

 

सात विषयों को किया गया शामिल
बिहार शिक्षा परियोजना परिषद द्वारा मैट्रिक के सात विषयों को क्रैश कोर्स में शामिल किया गया है। इनमें पांच मुख्य विषयों के अलावा संस्कृत और उर्दू भी हैं। इकोवेशन के रितेश कुमार ने बताया कि इसमें 15 मॉक टेस्ट आयोजित होंगे। क्रैश कोर्स का फायदा केवल उन्हीं छात्रों को मिलेगा जो स्कूल आएंगे। क्रैश कोर्स का मॉड्यूल केवल स्कूल के लिए बनाया गया है।

बिहार बोर्ड परीक्षा 2020 कार्यक्रम : यहां देखें वार्षिक माध्यमिक परीक्षा का पूरा शेड्यूल

इंटर का ऑनलाइन मॉडल पेपर से हो रही तैयारी
बिहार बोर्ड ने इंटर और मैट्रिक के परीक्षार्थियों की तैयारी बेहतर हो, इसके लिए बोर्ड वेबसाइट पर मॉडल प्रश्न पत्र डाला गया है। यह मॉडल प्रश्न पत्र पूरी तरह नये पैटर्न पर बनाया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bihar Board: Crash course for matric exams preparation will start since 2 December in schools