अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार: राज्यपाल ने दिए बीएड प्रवेश परीक्षा सख्ती से संपन्न कराने के निर्देश

exam

राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने प्रमंडलीय आयुक्तों को अपनी पूरी प्रशासनिक क्षमता और काबिलीयत का उपयोग करते हुए सख्ती के साथ बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा-2018 का आयोजन स्वच्छतापूर्वक सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया है। कहा कि नामांकन के लिए सुयोग्य छात्रों के चयन को पहली बार शुरू की जा रही इस व्यवस्था को सफल बनाना उनकी जिम्मेदारी है।  

राज्यपाल ने शुक्रवार को राजभवन में 15 जुलाई को होने वाली उक्त परीक्षा की तैयारियों का जायजा लेने के लिए बैठक बुलाई थी। बैठक में परीक्षा के आयोजक नालंदा खुला विश्वविद्यालय के कुलपति आरके सिन्हा, राज्यपाल के प्रधान सचिव विवेक कुमार सिंह तथा पटना, दरभंगा, भागलपुर, मुंगेर, कोसी और पूर्णिया के प्रमंडलीय आयुक्तों को बुलाया गया था। 

राज्यपाल ने कहा कि राज्य में पहली बार बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा का आयोजन हो रहा है। इसे हर हाल में स्वच्छ, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण रूप में सम्पन्न कराना विश्वविद्यालय-प्रशासन, जिला प्रशासन और संबंधित सभी अधिकारियों की सामूहिक जिम्मेदारी है। राज्यपाल ने कहा कि राज्य में उच्च शिक्षा के विकास के लिए व्यापक सुधार के प्रयास किए जा रहे हैं, लेकिन समग्र विकास के लिए यह आवश्यक है कि प्रारंभिक एवं माध्यमिक शिक्षा के सुधार प्रयासों को भी गति प्रदान की जाए। कहा कि कदाचारमुक्त परीक्षा और पारदर्शी प्रक्रिया के तहत चयनित अभ्यर्थी नियमित अध्यन कर बेहतर शिक्षक की योग्यता लेकर बीएड कॉलेजों से निकलेंगे। बेहतर शिक्षण और प्रशिक्षण प्राप्त कर ये अभ्यर्थी उत्कृष्ट शिक्षक के रूप में अपनी सेवाएं राज्य के विद्यालयों में देंगे। 

राज्यपाल के प्रधान सचिव विवेक कुमार सिंह ने बैठक में बताया कि राज्यपाल सचिवालय के अधिकारी भी इस परीक्षा में विशेष प्रेक्षक के रूप में भेजे जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सभी प्रमंडलीय आयुक्त जिलों में स्थापित परीक्षा केन्द्रों पर ससमय परीक्षा-सामग्रियों के पहुंचने, संबंधित पदाधिकारियों/ अधिकारियों की प्रतिनियुक्ति, परीक्षा-परिसरों में धारा-144 लगाने, मोबाइल सहित हर प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसों के प्रयोगों पर प्रतिबंध आदि का निर्देश जिलाधिकारियों को देंगे। गौरतलब हो कि इस परीक्षा में 90 हजार 350 परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं। राज्य में 122 परीक्षा केंद्र बनाये गये हैं। राजधानी पटना में सर्वाधिक 56 परीक्षा-केन्द्र बनाये गये हैं। यहां 46 हजार 518 परीक्षार्थी शामिल होंगे। परीक्षा केन्द्रों पर परीक्षार्थियों, प्रतिनियुक्त प्रेक्षकों, पदाधिकारियों तथा वीक्षकों को छोड़कर अन्य सभी का प्रवेश पूर्णत: वर्जित होगा।    

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bihar B Ed exam: Instructions given by the Governor organised BED entrance exam with full transparency