ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरबिहार के इन 40 कॉलेजों की मान्यता रद्द, छात्र नहीं ले सकेंगे क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ

बिहार के इन 40 कॉलेजों की मान्यता रद्द, छात्र नहीं ले सकेंगे क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ

बिहार के एकेयू ने 40 कॉलेजों की मान्यता रद्द की। एक साथ इतने कॉलेजों की मान्यता पहले कभी रद्द नहीं की गई। इन कॉलेजों के नाम से स्टूडेंट्स क्रेडिट कार्ड योजना का भी लाभ नहीं मिलेगा।

बिहार के इन 40 कॉलेजों की मान्यता रद्द, छात्र नहीं ले सकेंगे क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ
Pankaj Vijayवरीय संवाददाता,पटनाFri, 01 Dec 2023 08:29 AM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय (एकेयू) ने एक साथ 40 कॉलेजों की मान्यता रद्द कर दी है। ऐसा पहली बार हुआ है। एक साथ इतने कॉलेजों की मान्यता पहले कभी रद्द नहीं की गई थी। पूर्व के अधिकारियों ने नियम कानून को ताक पर रखकर कई कॉलेजों को संबंद्धता दी थी। जांच के बाद इन कॉलेजों की मान्यता को रद्द कर दिया गया है। साथ ही इन कॉलेजों के नाम से स्टूडेंट्स क्रेडिट कार्ड योजना का भी लाभ नहीं मिलेगा। इसकी अधिसूचना गुरुवार को जारी कर दी गई। विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने बताया कि जिन 40 कॉलेजों की मान्यता रद्द की गई है। इसमें कई कॉलेज कागजों पर चल रहे थे। कई कॉलेजों में नामांकन तक नहीं हुआ था।

जांच के बाद इन 40 कॉलेजों की हकीकत सामने आई थी। इसका मुद्दा विवि के कोर्ट की बैठक में लिया गया है। कोर्ट बैठक में मान्यता रद्द करने के लिए हरी झंडी दी गई। एकेयू से मान्यता प्राप्त 80 से अधिक कॉलेजों को पिछले डेढ़ साल से स्टूडेंट्स क्रेडिट कार्ड का लाभ नहीं मिल रहा था। जिससे छात्र काफी परेशान थे। कोर्ट की बैठक में डीआरसीसी के निर्णय के बाद छात्रों और अभिभावकों ने राहत की सांस ली है। एकेयू के मान्यता प्राप्त कई कॉलेज प्रशासन ने स्टूडेंट्स क्रेडिट कार्ड का लाभ मिलने की सराहना की है।

नामांकित छात्र नहीं भर पाएंगे फॉर्म
आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय से जिन 40 कॉलेजों की मान्यता रद्द की गई है, उन कॉलेजों में नामांकित छात्र परीक्षा फॉर्म नहीं भर पाएंगे। विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. राजीव रंजन ने बताया कि अब इन कॉलेज के छात्रों की परीक्षा नहीं होगी। इन कॉलेजों की मान्यता भी दोबारा बहाल नहीं की जाएगी। जांच के दौरान पाया गया कि इन कॉलेजों की स्थिति अच्छी नहीं थी।

अब कॉलेजों को हर साल लेनी होगी मान्यता
सत्र 2022-23 से रुके हुए सभी 60 से अधिक कॉलेजों के स्टूडेंट्स को अब डीआरसीसी द्वारा स्टूडेंट्स क्रेडिट कार्ड की राशि मिल जाएगी। इसका फैसला कोर्ट बैठक में लिया गया है। इसके साथ ही अब एकेयू से मान्यता प्राप्त सभी शिक्षण संस्थानों को एक साल की ही मान्यता दी जायेगी। तीन साल की मान्यता नहीं मिलेगी। सभी शैक्षणिक संस्थानों को एक ही नामांकन सत्र की अनुमति दी जाएगी। इधर, कुलपति प्रो. रामेश्वर सिंह ने कहा कि ने बताया कि 40 कॉलेजों की प्रक्रिया पूरी नहीं हुई थी। इनकी मान्यता रद्द कर दी गई है। एकेयू के कोर्ट की बैठक में डीआरसीसी के साथ सालाना बजट पर सहमति बनी है।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें