DA Image
28 जनवरी, 2020|10:28|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बड़ी कार्रवाई: निरस्त होंगी बीएड 2005 की फर्जी डिग्री

fake bed degree

आगरा के डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय ने बीएड की फर्जी डिग्री पर बड़ा फैसला ले लिया है। बीएड-2005 के फर्जीवाड़े में विवि अब कार्रवाई करेगा। विवि ने बीएड 2005 की फर्जी डिग्री को निरस्त करने का फैसला ले लिया। शुक्रवार को हुई विवि की कार्य परिषद की बैठक में नियमों के अनुसार डिग्री निरस्त करने पर मुहर लगा दी है। कार्य परिषद की बैठक के बाद विवि डिग्री निरस्त करने की प्रक्रिया शुरू करेगा। इस फैसले के बाद प्रदेशभर के परिषदीय स्कूलों में फर्जी डिग्री से नौकरी कर रहे शिक्षकों की नौकरी जाना तय है।

विश्वविद्यालय की कार्य परिषद की बैठक कुलपति डॉ. अरविंद कुमार दीक्षित की अध्यक्षता में हुई। कार्य परिषद में बीएड 2005 का प्रकरण रखा गया। इसके बाद कार्य परिषद के सदस्यों ने एसआईटी की रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई का फैसला लिया। कार्य परिषद ने तय किया कि एसआईटी की रिपोर्ट और सूची के आधार पर बीएड की फर्जी डिग्री को निरस्त किया जाएगा। यह विवि के नियमों के आधार पर होगा। इसके लिए सबसे पहले एसआईटी से सूची मांगी जाएगी, क्योंकि एसआईटी की ओर से फर्जीवाड़े की जांच के बाद विवि को सौंपी गई सूची और प्रदेश के अपर मुख्य सचिव राजस्व एवं बेसिक शिक्षा की सूची में अंतर था। ऐसे में विवि एसआईटी से अंतिम सूची मांगेगा। सूची मिलने के बाद जिन अभ्यर्थियों का पता विवि के पास होगा, उन्हें डाक से सूचना दी जाएगी। साथ ही सूची को वेबसाइट पर अपलोड कर दिया जाएगा। सूची में शामिल डिग्री धारकों को 15 दिन का समय दिया जाएगा। इसके बाद विवि डिग्री निरस्त करने की प्रक्रिया कर देगा। कार्य परिषद की बैठक में परीक्षा नियंत्रक डॉ.  राजीव कुमार, प्रो. संजय चौधरी, प्रो. बीपी सिंह, डॉ. जैसवार गौतम प्रमुख रूप से उपस्थित रहे। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Big action: fake degree of BEd 2005 will be canceled by BR Ambedkar university