ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ करियरBEd : अब ग्रेजुएशन संग कर सकेंगे बीएड, एक साथ मिलेगी दोनों डिग्री, UGC के बाद सरकार ने भी दी मंजूरी

BEd : अब ग्रेजुएशन संग कर सकेंगे बीएड, एक साथ मिलेगी दोनों डिग्री, UGC के बाद सरकार ने भी दी मंजूरी

कुमाऊं विश्वविद्यालय से स्नातक के साथ ही बीएड की डिग्री भी ले सकते हैं। विश्वविद्यालय बीए-बीएड, बीकॉम-बीएड और बीएससी-बीएड के कोर्स शुरू करने वाला उत्तराखंड का पहला सरकारी विश्वविद्यालय होगा।

BEd : अब ग्रेजुएशन संग कर सकेंगे बीएड, एक साथ मिलेगी दोनों डिग्री, UGC के बाद सरकार ने भी दी मंजूरी
Pankaj Vijayनवीन पालीवाल,नैनीतालFri, 02 Dec 2022 08:27 AM
ऐप पर पढ़ें

कुमाऊं विश्वविद्यालय से छात्र-छात्राएं अब स्नातक पाठ्यक्रम के साथ ही बीएड की डिग्री भी ले सकते हैं। विश्वविद्यालय बीए-बीएड, बीकॉम-बीएड और बीएससी-बीएड के इंटीग्रेटेड कोर्स शुरू करने वाला उत्तराखंड का पहला सरकारी विश्वविद्यालय होगा। एनसीटीई एवं यूजीसी की ओर से पहली बार शुरू किए जा रहे इस पाठ्यक्रम के लिए देशभर से 1073 विश्वविद्यालयों ने आवेदन किया था। जिसमें पहले चरण में यह पाठ्यक्रम मात्र 50 विश्वविद्यालयों में शुरू करने का निर्णय लिया गया है। इन 50 विश्वविद्यालयों में कुमाऊं विवि भी शामिल किया गया है। शासन की संस्तुति के बाद इसके लिए सर्वे भी कर लिया गया है। जल्द ही यह इंटीग्रेटेड कोर्स कुमाऊं विवि में शुरू किया जाएगा। 

नई शिक्षा नीति के तहत इस वर्ष देश के चुनिंदा विश्वविद्यालयों में इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स शुरू किए जा रहे हैं। इसके लिए राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने पूर्व में आवेदन मांगे थे। इसमें प्रस्ताव यह भी है, कि वर्ष 2030 के बाद अब कॉलेजों में चार वर्षीय बीएड करने वाले छात्रों को ही शिक्षक नियुक्ति दी जाएगी। इस बीच देशभर के एक हजार से अधिक विश्वविद्यालयों ने संबंधित कोर्स के संचालन की इच्छा जाहिर करते हुए आवेदन किया। लेकिन इसमें सिर्फ 50 विश्वविद्यालयों का चयन किया गया है। चयन सूची में कुमाऊं विवि भी शामिल है।

बिना BEd स्पेशल एजुकेशन की डिग्री भी बन सकेंगे विशेष शिक्षक, DSSSB का आदेश रद्द

शासन की टीम कर चुकी सर्वे
राजभवन एवं शासन की संस्तुति के बाद गठित की गई टीम की ओर से सर्वे कर लिया गया है। अब जल्द ही बीए-बीएड, बीकॉम-बीएड तथा बीएससी-बीएड का पाठ्यक्रम शुरू किया जाएगा। इसके लिए विवि स्तर पर तैयारियां की जा रही हैं। अगले सत्र से यह कोर्स विवि में शुरू कर दिया जाएगा। इससे स्नातक के साथ ही बीएड की डिग्री भी एकसाथ प्रदान की जाएगी। अब संबंधित संवर्ग यानि कला, विज्ञान व वाणिज्य के लिए प्रारंभिक नींव मजबूत करते हुए शिक्षक तैयार किए जाएंगे। सरकारी विश्वविद्यालयों की यदि बात की जाए तो कुमाऊं विवि प्रदेश का पहला विवि होगा, जहां यह कोर्स संचालित किया जाएगा।

‘नैक’ की ग्रेडिंग और सरकार की एनओसी आधार
दरअसल इस नए पाठ्यक्रम के लिए यूजीसी की ओर से राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यावेदन परिषद (नैक) की ग्रेडिंग और राज्य सरकार की अनापत्ति को आधार बनाया गया। नैक के मूल्यांकन के बाद कुमाऊं विवि को ए प्लस ग्रेड दिया गया। इसके अलावा राज्य सरकार की ओर से भी पाठ्यक्रम के संचालन को लेकर एनओसी जारी की गई। इसके बाद ही कुमाऊं विवि का चयन किया गया।

वाणिज्य विभागाध्यक्ष के प्रयास रंग लाए
कुमाऊं विवि में चार साल के इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स की कार्य योजना वाणिज्य विभाग के संकायाध्यक्ष एवं विभागाध्यक्ष प्रो. अतुल जोशी ने तैयार की थी। उन्होंने शासन-प्रशासन स्तर पर इस संबंध में प्रयास किए। अब जल्द ही 12वीं उत्तीर्ण छात्र-छात्राओं को चार साल का इंटीग्रेटेड बीएड करने का मौका मिलेगा। इससे विद्यार्थियों का एक वर्ष बचेगा।

कुमाऊं विवि मेंअगले सत्र से इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स शुरू किया जाएगा। इसे लेकर कार्य योजना तैयार की जा रही है। अब शिक्षा के क्षेत्र में भविष्य बनाने वाले छात्रों को चार वर्षीय बीएड कोर्स का लाभ मिल सकेगा। 
-प्रो.एनके जोशी, कुलपति, कुमाऊं विश्वविद्यालय

नए शैक्षणिक सत्र में देश के चुनिंदा विश्वविद्यालयों में शुरू होने जा रहे चार वर्षीय इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स को कुमाऊं विवि में भी प्रारंभ किया जाना है। इसके संचालन के लिए कार्य योजना तैयार की जा रही है। आगामी नए सत्र में दाखिले प्रारंभ किए जाएंगे। 
-प्रो.अतुल जोशी, प्रभारी संकायाध्यक्ष, कुमाऊं विश्वविद्यालय