ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियरदिल्ली सरकार के जिस स्कूल के 32 बच्चों ने UPSC NDA क्रैक किया, वहां के फॉर्म निकले, यूं करें आवेदन

दिल्ली सरकार के जिस स्कूल के 32 बच्चों ने UPSC NDA क्रैक किया, वहां के फॉर्म निकले, यूं करें आवेदन

दिल्ली सरकार ने डॉ. बीआर आंबेडकर स्पेशलाइज्ड एक्सीलेंस स्कूल में 9वीं और 11वीं कक्षा में दाखिले के लिए आवेदन मांगे हैं। सरकार ने कहा कि प्रवेश के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 22 दिसंबर है।

दिल्ली सरकार के जिस स्कूल के 32 बच्चों ने UPSC NDA क्रैक किया, वहां के फॉर्म निकले, यूं करें आवेदन
Pankaj Vijayलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 08 Dec 2023 04:10 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली सरकार ने डॉ. बीआर आंबेडकर स्पेशलाइज्ड एक्सीलेंस स्कूल'' (एएसओएसई) में 9वीं और 11वीं कक्षा में दाखिले के लिए आवेदन मांगे हैं। सरकार ने कहा कि प्रवेश के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 22 दिसंबर है।  दिल्ली में 37 “स्पेशलाइज्ड एक्सीलेंस स्कूल” हैं, जिसमें कुल 4,400 सीटें हैं। एएसओएसई में छात्रों को नवमीं कक्षा के बाद से विशेष विषयों पर ध्यान केंद्रित करके तैयार किया जाता है। दिल्ली सरकार के मुताबिक, शैक्षणिक सत्र 2023-24 में प्रवेश के लिए स्कूलों को लगभग 92,000 आवेदन प्राप्त हुए हैं।

एएसओएसई में सशस्त्र बल तैयारी स्कूल शामिल है, जहां पहले बैच के 76 छात्रों में से 32 छात्रों ने इस साल यूपीएससी एनडीए परीक्षा पास की थी।  शैक्षणिक सत्र 2023-24 के लिए डॉ. बी आर अंबेडकर स्कूल ऑफ स्पेशलाइज्ड एक्सीलेंस (एसओएसई) के आर्म्ड फोर्सेज प्रीपरेटरी स्कूल (एएफपीएस) में दाखिला को लेकर सबसे ज्यादा मारामारी देखने को मिली थी। दाखिला के लिए एक सीट पर 125 से अधिक आवेदन मिले थे। दो साल पहले ही सेना की तैयारी कराने को लेकर इस स्कूल की शुरुआत की गई थी। स्कूल ऑफ स्पेशलाइज्ड एक्सीलेंस के अधीन चलने वाला यह स्कूल दिल्ली बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन (डीबीएसई) से मान्यता प्राप्त है।

दिल्ली में एसओएसई के पांच तरह के स्पेशलाइज्ड स्कूल हैं। इसमें साइंस, टेक्नोलॉजी, इंजीनियरिंग और मैथमेटिक्स (स्टेम),  ह्यूमैनिटी, परफॉर्मिंग एंड विजुअल आर्ट्स (पीवीए), हाई एंड 21 सेंचुरी स्किल्स (एचई-21) और आर्म्ड फोर्सेज प्रीपरेटरी स्कूल (एएफपीएस) शामिल हैं। जिनमें कक्षा नौवीं से लेकर 12वीं तक पढ़ाई होती है। 

दाखिला के लिए तीन चरणों से गुजरना पड़ता है 
एएफपीएस में दाखिला चयन को लेकर तीन प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है। इसमें पहले लिखित एप्टीट्यूड टेस्ट, दूसरा फिजिकल व साक्षात्कार और तीसरा चरण चिकित्सीय स्क्रीनिंग शामिल है। जबकि बाकि दूसरे स्पेशलाइज्ड स्कूलों के लिए दो चरण की दाखिला प्रक्रिया रखी गई है। इसमें प्रोजेक्ट वर्क, सामूहिक चर्चा और ऑडिशन शामिल है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें