ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News करियर22 साल की उम्र में बनीं IAS अधिकारी, पहले ही अटेम्प्ट में पास किया था UPSC

22 साल की उम्र में बनीं IAS अधिकारी, पहले ही अटेम्प्ट में पास किया था UPSC

जानते हैं, आईएएस चंद्रज्योति सिंह के बारे में, जिन्होंने पहले ही प्रयास में यूपीएससी जैसी कठिन परीक्षा पास की और 28वीं रैंक हासिल की। उन्होंने अपनी ग्रेजुएशन के बाद एक साल का ब्रेक ले लिया था और यूपीए

22 साल की उम्र में बनीं IAS अधिकारी, पहले ही अटेम्प्ट में पास किया था UPSC
Priyanka Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 11 Nov 2023 02:58 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपीएससी देश के सबसे कठिन परीक्षाओं मे से एक है, जिसे क्लियर करने के लिए उम्मीदवारों को दिन रात एक करने पड़ते हैं। जहां कई उम्मीदवारों को इस परीक्षा को पास करने के लिए एक से अधिक बार इस परीक्षा में शामिल होना पड़ता है, वहीं कुछ उम्मीदवार ऐसे भी हैं, पहले ही प्रयास में इस परीक्षा में सफल हो जाते हैं। आज हम एक ऐसी ही लड़की बारे में बात करने जा रहे हैं, जिन्होंने पहली बार में ही यूपीएससी की परीक्षा पास कर ली और सिर्फ 22 साल की उम्र में IAS अधिकारी बन गई। आइए जानते हैं आईएएस चंद्रज्योति सिंह के बारे में।

आईएएस चंद्रज्योति सिंह एक रिटायर्ड आर्मी ऑफिसर की बेटी हैं। पिता आर्मी में थे, इसलिए उनकी स्कूलिंग कई राज्यों में हुई। बता दें, उनके पिता  सेना रेडियोलॉजिस्ट के पद पर कार्यत थे, वहीं उनकी मां लेफ्टिनेंट कर्नल थीं।

चंद्रज्योति के माता-पिता ने उन्हें हमेशा जीवन में अच्छा करने के लिए प्रेरित किया करते हैं। माता- पिता की अनुशासन की वजह से वह शुरुआत से ही पढ़ाई में काफी अच्छी थी। कक्षा 12वीं में उनके 95.4%  मार्क्स आए थे। कक्षा 12वीं पास करने के बाद उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी के सेंट स्टीफेंस कॉलेज से हिस्ट्री ऑनर्स की डिग्री ली। बता दें,ग्रेजुएशन की डिग्री लेने के बाद उन्होंने एक साल का ब्रेक लिया था, ताकि यूपीएससी की तैयार कर सके।

वह जानती थी कि यूपीएससी का रास्ता आसान नहीं है, लेकिन नामुमकीन भी नहीं है। अपनी तैयारी की शुरुआत  उन्होंने सबसे पहले करंट अफेयर्स और जनरल नॉलेज पर खास ध्यान दिया। वह शुरुआत में 6 से  8 घंटे पढ़ा करती थी। वहीं जैसे- जैसे परीक्षा नजदीक आई, उसके बाद उन्होंने 10 घंटे तक पढ़ाई करना शुरू कर दिया था। इसी के साथ उन्होंने अपनी तैयारी को ओर मजबूत बनाने के लिए टेस्ट सीरीज भी ली और अपनी रिवीजन पर भी पूरा ध्यान दिया।

बता दें,चंद्रज्योति  केवल 22 साल की थीं जब उन्होंने पहली बार यूपीएससी की परीक्षा दी और ऑल इंडिया रैंक में 28वां स्थान हासिल किया।

चंद्रज्योति सिंह ने अपनी ऑफिसर ट्रेनिंग अगस्त 2020 से अक्टूबर 2022 तक मसूरी में की। फिर चार महीने तक वह विदेश मंत्रालय में सहायक सचिव के पद पर तैनात रहीं. अक्टूबर 2022 में, वह सुल्तानपुर लोधी में सब-डिविजनल मजिस्ट्रेट के रूप में पंजाब सरकार में शामिल हुईं।

 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें